BREAKING NEWS

आज का राशिफल (13 मई 2021)◾जयशंकर ने कुवैत, सऊदी अरब के विदेश मंत्रियों से बात की◾भारत ने इजराइल-गाजा हिंसा में तत्काल कमी लाने की आवश्यकता पर बल दिया◾CM हेमंत ने 27 मई तक बढ़ाया झारखंड में लॉकडाउन, अगले आदेश तक राज्य में बस सेवा बंद◾अगले 3-4 दिनों में भारत के कई हिस्सों में बारिश और तूफान की संभावना◾विदेश से वैक्सीन मंगवाएगी राजस्थान सरकार, ग्लोबल टेंडर पर CM अशोक गहलोत ने लगाई मुहर◾धर्मगुरूओं की अपील , ईद में करें कोविड प्रोटोकाल का पालन◾इजराइल, हमास के बीच तेज हुई लड़ाई ने 2014 के गाजा युद्ध की दिलाई याद, सर्वोच्च कमांडर मारा गया ◾प्रधानमंत्री मोदी ने हाई लेवल बैठक में ऑक्सीजन, दवाओं की उपलब्धता, आपूर्ति की समीक्षा की◾महाराष्ट्र में सामने आये कोरोना के 46 हजार से अधिक नए मामले, 816 मरीजों ने तोडा दम ◾अगस्त तक हर महीने सीरम इंस्टीट्यूट का 10 करोड़ खुराकें, भारत बायोटेक का 7.8 खुराकें बनाने का वादा◾ममता और धनकड़ के बीच फिर ठनी, CM ने गवर्नर के हिंसा प्रभावित क्षेत्र के दौरे को बताया नियमों का उल्लंघन◾शुक्रवार को मनाया जायेगा ईद-उल-फितर का त्यौहार, बृहस्पतिवार को होगा आखिरी रोजा◾कोरोना के बी.1.617 वैरिएंट को भारतीय वैरिएंट कहने पर सरकार ने जताई आपत्ति, कहा- WHO ने ऐसा नहीं कहा◾राहुल गांधी का केंद्र पर तंज, कहा- संक्रमण की गंभीर स्थिति में जिनकी जवाबदेही है वो छिपे बैठे हैं◾विपक्षी नेताओं ने PM को लिखा पत्र: सभी स्रोतों से खरीदा जाए टीका, हर नागरिक का मुफ्त हो टीकाकरण ◾ममता का मोदी को पत्र, कहा- सरकार कोविड रोधी टीकों के विनिर्माण के लिए जमीन और मदद उपलब्ध कराने को तैयार◾दिल्ली में कोरोना के 13,287 नए मामले सामने आए, 300 लोगों की मौत, संक्रमण दर में गिरावट जारी◾उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना ने ली 329 लोगों की जान, 18125 नए मरीजों की पुष्टि◾अब भारत में बनेंगी लंबे समय तक चलने वाली बैटरी, 18 हजार करोड़ के PLI इंसेंटिव को मंजूरी◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

देश को टीकाकरण, ऑक्सीजन और रेमडेसिविर की रणभूमि बनने से रोकना जरूरी : सचिन पायलट

कांग्रेस नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच टीके, ऑक्सीजन और रेमडेसिविर के प्रबंधन को लेकर चिंता जाहिर करते हुए बृहस्‍पतिवार को कहा कि देश को इन चीजों के लिए रणभूमि बनने से रोकना है और हम सभी को इस समय जीवन बचाने पर ध्‍यान देगा होगा।

पायलट ने कोरोना टीकाकरण का खर्च केंद्र सरकार द्वारा उठाए जाने की भी मांग की है। कांग्रेस नेता ने यहां एक बयान में कहा कि इस समय जबकि देश में हर दिन कोरोना के तीन लाख से अधिक नए मामले आने लगे हैं, सभी को प्रमुख रूप से जीवन बचाने पर ही ध्यान देना होगा।

उन्‍होंने कहा कि राजनीति और चुनाव तो आते जाते रहेंगे लेकिन समय पर जनता को टीका नहीं लगा और सभी जरूरतमंद मरीजों को ऑक्सीजन और रेमडेसिविर जैसी जीवन रक्षक दवाई नहीं मिली तो भविष्य की पीढ़ियां हमें माफ नहीं करेंगी।

कोरोना वायरस प्रतिरक्षण टीके की एक खुराक की चार अलग अलग कीमत तय किए जाने पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा है कि जिस टीके को भारत सरकार दो निर्माताओं से 157 रुपये की दर से खरीद रही है उसी टीके की छह करोड़ खुराक पीएम केअर फण्ड के माध्यम से एक निर्माता से 210 रुपये और एक करोड़ खुराक दूसरे निर्माता से 310 रुपये में खरीदी गई हैं जिससे जनता के मन में सवाल उठ रहे हैं।

उन्होंने कहा है कि एक ही टीके के तीन दाम तय करके भारत सरकार ने भविष्य के लिए जनता को भारी कठिनाई में डाल दिया है। वन नेशन, वन वैक्सीन, वन रेट आज की सबसे बड़ी जरूरत है जिससे टीके की जमाखोरी और कालाबाजारी पर नियंत्रण हो सके।

उन्होंने कहा कि सभी दलों की राज्य सरकारें कोरोना के संकट से अपने संसाधनों के साथ पहले से ही जूझ रही हैं, ऐसे में टीके का खर्च केंद्र सरकार को ही वहन करना चाहिए। टीके की 6 करोड़ खुराक के निर्यात पर प्रश्न उठाते हुए पायलट ने कहा कि ये बहुत ही अफसोसजनक है कि भारतीय वैक्सीन निर्माता को विदेशी सरकारों ने भारत सरकार से पहले ही आपूर्ति आदेश दे दिए थे।

केंद्र सरकार पर ऑक्सीजन आपूर्ति के प्रबंधन में विफल रहने का आरोप लगाते हुए पायलट ने कहा कि भारत के विश्व के प्रमुख ऑक्सीजन निर्माताओं में शामिल होने के बावजूद भी सरकार अपने मजबूर मरीजों को समय पर ऑक्सीजन इसलिए नहीं दे पा रही क्योंकि एक तरफ तो कोरोना के एक साल में भारत सरकार ने 9300 टन ऑक्सीजन के निर्यात की इजाजत दे दी और दूसरी तरफ इस एक साल में ऑक्सीजन की सुगम और समय पर हर अस्पताल में आपूर्ति के लिए समुचित व्यवस्थाएं नहीं कीं।

उन्होंने सुझाव दिया है कि ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए आवश्यक हो तो हवाई मार्ग का उपयोग किया जाए। पायलट ने अनुरोध किया कि केंद्र सरकार को पारदर्शी तरीके से सभी राज्य सरकारों के साथ बात करके जनता के कष्ट को दूर करने के कदम उठाने होंगे।