BREAKING NEWS

LIVE : भारत पहुंचने से पहले ट्रंप ने हिंदी भाषा में किया ट्वीट, स्वागत के लिए अहमदाबाद पहुंचे मोदी◾ट्रम्प के स्वागत में अहमदाबाद तैयार, छाए भारत-अमेरिकी संबंधों वाले इश्तेहार◾दिल्ली और झारखंड में BJP विधानमंडल दल के नेता का आज होगा ऐलान ◾जाफराबाद में CAA को लेकर हुई पत्थरबाजी के बाद इलाके में तनाव, मेट्रो स्टेशन बंद◾Modi सरकार ने पद्म सम्मान के लिये ‘गुमनाम’ चेहरे खोजे : केंद्रीय मंत्री◾अब कुछ ही घंटो में भारत यात्रा के लिए अहमदाबाद पहुंचेंगे अमेरिकी राष्ट्रपति Trump , मोदी को बताया दोस्त◾मेलानिया का स्वागत करके खुशी होती, हमने अमेरिकी दूतावास की चिंताओं का किया सम्मान : मनीष सिसोदिया◾Trump की भारत यात्रा से किसी महत्वपूर्ण परिणाम के सकारात्मक संकेत नहीं हैं : कांग्रेस◾US राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत के लिए रवाना, कल सुबह 11.55 बजे पहुंचेंगे अहमदाबाद, जानिए ! पूरा कार्यक्रम◾अमेरिकी दूतावास की सफाई - स्कूल में मेलानिया के साथ CM केजरीवाल की मौजूदगी से कोई आपत्ति नहीं◾ट्रंप की भारत यात्रा को लेकर PM मोदी बोले - अमेरिकी राष्ट्रपति के स्वागत को लेकर हिंदुस्तान उत्सुक◾ट्रम्प की थाली में परोसे जाएंगे गुजराती व्यंजन, सूची में खमण भी शामिल ◾नमस्ते ट्रंप : एयर इंडिया ने जारी की एडवाइजरी - यात्रियों को अहमदाबाद हवाईअड्डा जल्द पहुंचने की जरूरत◾भारत 24वां देश जिसके दौरे पर आ रहे हैं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप◾डिजिटल कंपनियों पर वैश्विक कर व्यवस्था समावेशी हो: सीतारमण ◾प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के लाभार्थियों के खाते में भेजे गए 50850 करोड़ रुपये◾ट्रम्प की यात्रा से दोनों देशों को मिलेगा एक-दुसरे को पहचानने का मौका : SBI प्रबंध निदेशक◾कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने कश्मीर को लेकर पाक राष्ट्रपति की चिंताओं का समर्थन करने की बात से किया इनकार◾Trump - Modi गुजरात में कल करेंगे रोड शो, एक लाख से अधिक लोगों की मौजूदगी में होगा ‘नमस्ते ट्रंप’, शाह ने की समीक्षा◾भारत के सामने गिड़गिड़ाया चीन, कहा- हमें उम्मीद है कि भारत कोरोना वायरस संक्रमण की वस्तुपरक समीक्षा करेगा◾

एनजीटी का राजस्थान सरकार को निर्देश : गोवर्धन पर्वत परिक्रमा के ‘कच्चा’ पथ से टाइलें हटाओ

राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने बुधवार को राजस्थान सरकार को निर्देश दिया कि गोवर्धन पर्वत परिक्रमा के ‘कच्चा’ पथ से टाइलें हटाई जाएं और इसका वास्तविक स्वरूप बहाल किया जाए। न्यायमूर्ति रघुवेंद्र एस राठौड़ के नेतृत्व वाली पीठ ने कहा कि तीर्थयात्रियों के लिए ‘कच्चा’ पथ इसके वास्तविक स्वरूप में बहाल किया जाना चाहिए क्योंकि जब नंगे पांव 21 किलोमीटर की परिक्रमा की जाती है तो सीमेंट टाइलों से बना कठिन तल या तारकोल की सड़क तीर्थयात्रियों के लिए चलना मुश्किल कर देती है। 

पीठ ने कहा, ‘‘इसके अतिरिक्त, हमें लगता है कि भरतपुर और डीग में पदस्थ राजस्थान राज्य के अधिकारी इस तथ्य से पूरी तरह अवगत हैं कि गिरिराज पर्वत की परिक्रमा नंगे पांव की जाती है, यहां तक कि दंडवत यात्रा भी की जाती है।’’ इसने कहा, ‘‘ऐसी स्थिति में, यह स्पष्ट है कि परिक्रमा का कोई भी कठिन तल तीर्थयात्रियों के लिए न सिर्फ मुश्किल खड़ी करेगा, बल्कि खासकर गर्मियों के मौसम में काफी असुविधा भी पैदा करेगा।’’ 

अधिकरण ने कहा कि सीमेंट की टाइलें हटाई जानी चाहिए और रास्ता वास्तविक स्वरूप में रखा जाना चाहिए। इसने यह भी कहा कि मलबा दो सप्ताह के भीतर हटा दिया जाना चाहिए। एनजीटी मथुरा स्थित ‘गिरिराज परिक्रमा संरक्षण संस्थान’ और अन्य की याचिका पर सुनवाई कर रहा था जिसमें उन्होंने एनजीटी के चार अगस्त 2015 के निर्देशों के अनुपालन की मांग की थी।