BREAKING NEWS

NFHS के सर्वे से खुलासा, 30 फीसदी से अधिक महिलाओं ने पति के हाथों पत्नी की पिटाई को उचित ठहराया◾कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रॉन को लेकर सरकार सख्त, केंद्र ने लिखा राज्यों को पत्र, जानें क्या है नई सावधानियां ◾AIIMS चीफ गुलेरिया बोले- 'ओमिक्रोन' के स्पाइक प्रोटीन में अधिक परिवर्तन, वैक्सीन की प्रभावशीलता हो सकती है कम◾मन की बात में बोले मोदी -मेरे लिए प्रधानमंत्री पद सत्ता के लिए नहीं, सेवा के लिए है ◾केजरीवाल ने PM मोदी को लिखा पत्र, कोरोना के नए स्वरूप से प्रभावित देशों से उड़ानों पर रोक लगाने का किया आग्रह◾शीतकालीन सत्र को लेकर मायावती की केंद्र को नसीहत- सदन को विश्वास में लेकर काम करे सरकार तो बेहतर होगा ◾संजय सिंह ने सरकार पर लगाया बोलने नहीं देने का आरोप, सर्वदलीय बैठक से किया वॉकआउट◾TMC के दावे खोखले, चुनाव परिणामों ने बता दिया कि त्रिपुरा के लोगों को BJP पर भरोसा है: दिलीप घोष◾'मन की बात' में प्रधानमंत्री ने स्टार्टअप्स के महत्व पर दिया जोर, कहा- भारत की विकास गाथा के लिए है 'टर्निग पॉइंट' ◾शीतकालीन सत्र से पूर्व विपक्ष में आई दरार, कल होने वाली कांग्रेस नेता खड़गे की बैठक से TMC ने बनाई दूरियां ◾उद्धव ठाकरे की सरकार के दो साल के कार्यकाल में विपक्ष पूरी तरह से दिशाहीन रहा : संजय राउत◾कांग्रेस Vs कांग्रेस : अधीर रंजन चौधरी के वार पर मनीष तिवारी का पलटवार◾कल से शुरू हो रहा है संसद का शीतकालीन सत्र, पेश होंगे ये 30 विधेयक◾BJP प्रवक्ता ने फूलन देवी को कहा 'डकैत', अखिलेश ने बताया 'निषाद समाज' का अपमान ◾तमिलनाडु बारिश : चेन्नई के कई इलाकों में जलभराव, IMD ने तटीय जिलों के लिए जारी किया रेड अलर्ट ◾गौतम गंभीर की जान को खतरा, ISIS कश्मीर ने तीसरी बार दी धमकी, कहा- कुछ नहीं कर सकती IPS श्वेता ◾महाराष्ट्र सरकार के 2 साल हुए पूरे, सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा- एमवीए सरकार ने आपदा को अवसर में बदला◾वाट्सऐप पर पेपर लीक के चलते रद्द हुआ UPTET एग्जाम, STF की टीम ने शुरू की धर-पकड़ ◾देश में कोविड-19 के 8 हजार से अधिक नए केस की पुष्टि, इतने मरीजों की हुई मौत ◾World Corona: विश्व में 26.10 करोड़ के पार पहुंचा संक्रमितों का आंकड़ा, जानें कितने लोगों ने गंवाई जान ◾

नितिन गडकरी का राजनेताओं पर तंज, कहा- हर राजनेता दुखी है चाहे वह विधायक हो या मुख्यमंत्री

केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सहित सभी राजनेताओं पर तंज कसते हुए सोमवार को कहा कि हर नेता दुखी है, विधायक दुखी हैं कि वह मंत्री नहीं बन पा रहे हैं, मंत्री इसलिए दुखी हैं कि उन्हें अच्छा विभाग नहीं मिला, जिन मंत्रियों को अच्छा विभाग मिला, वे इसलिए दुखी हैं कि वे मुख्यमंत्री नहीं बन पाये और मुख्यमंत्री दुखी रहते हैं कि उन्हें पता नहीं रहता कि वे कब तक पद पर रहेंगे।

गडकरी ने विधानसभा में ‘संसदीय लोकतंत्र और जन अपेक्षायें’ विषय पर आयोजित एक वेबिनार में कहा कि जाने-माने व्यंज्ञकार शरद जोशी ने लिखा था, ‘‘ जो राज्यों में काम के नहीं थे,उन्हें दिल्ली भेज दिया। जो दिल्ली में काम के न थे, उन्हें राज्यपाल बना दिया और जो वहां भी काम के नहीं थे, उन्हें राजदूत बना दिया। ’’ उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) अध्यक्ष रहते हुए उन्हें कोई ऐसा नहीं मिला जो दुखी न हो। 

उन्होंने कहा, ‘‘मुझसे एक पत्रकार ने पूछा कि आप आनंदित कैसे रहते हो, मैंने कहा कि मैं भविष्य की चिंता नहीं करता, जो भविष्य की चिंता नहीं करता, वह खुश रहता है। वन डे क्रिकेट की तरह खेलते रहो। मैंने सचिन तेंदुलकर और सुनील गावस्कर से चौके-छक्के लगाने का राज पूछा तो वे बोले, यह स्किल है। इसी तरह राजनीति भी एक स्किल है। ’’ गौरतलब है कि श्री गडकरी का तंज हाल ही में गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी को हटाकर भूपेन्द्र पटेल को मुख्यमंत्री बनाने को लेकर भी हो सकता है। भाजपा ने उत्तराखंड और कर्नाटक में भी कुछ दिनों पूर्व मुख्यमंत्री बदले हैं। कांग्रेस शासित राज्यों में भी पद पाने को लेकर खींचतान चल रही है। राजस्थान और पंजाब में पिछले कुछ महीनों में कांग्रेस नेताओं के बीच तो काफी जोर-आजमाइश देखने को मिली है।

PM 24 सितंबर को जायेंगे US, क्वाड सम्मेलन में बाइडेन समेत दूसरे देशों के नेताओं के साथ इन मुद्दों पर करेंगे चर्चा