BREAKING NEWS

NFHS के सर्वे से खुलासा, 30 फीसदी से अधिक महिलाओं ने पति के हाथों पत्नी की पिटाई को उचित ठहराया◾कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रॉन को लेकर सरकार सख्त, केंद्र ने लिखा राज्यों को पत्र, जानें क्या है नई सावधानियां ◾AIIMS चीफ गुलेरिया बोले- 'ओमिक्रोन' के स्पाइक प्रोटीन में अधिक परिवर्तन, वैक्सीन की प्रभावशीलता हो सकती है कम◾मन की बात में बोले मोदी -मेरे लिए प्रधानमंत्री पद सत्ता के लिए नहीं, सेवा के लिए है ◾केजरीवाल ने PM मोदी को लिखा पत्र, कोरोना के नए स्वरूप से प्रभावित देशों से उड़ानों पर रोक लगाने का किया आग्रह◾शीतकालीन सत्र को लेकर मायावती की केंद्र को नसीहत- सदन को विश्वास में लेकर काम करे सरकार तो बेहतर होगा ◾संजय सिंह ने सरकार पर लगाया बोलने नहीं देने का आरोप, सर्वदलीय बैठक से किया वॉकआउट◾TMC के दावे खोखले, चुनाव परिणामों ने बता दिया कि त्रिपुरा के लोगों को BJP पर भरोसा है: दिलीप घोष◾'मन की बात' में प्रधानमंत्री ने स्टार्टअप्स के महत्व पर दिया जोर, कहा- भारत की विकास गाथा के लिए है 'टर्निग पॉइंट' ◾शीतकालीन सत्र से पूर्व विपक्ष में आई दरार, कल होने वाली कांग्रेस नेता खड़गे की बैठक से TMC ने बनाई दूरियां ◾उद्धव ठाकरे की सरकार के दो साल के कार्यकाल में विपक्ष पूरी तरह से दिशाहीन रहा : संजय राउत◾कांग्रेस Vs कांग्रेस : अधीर रंजन चौधरी के वार पर मनीष तिवारी का पलटवार◾कल से शुरू हो रहा है संसद का शीतकालीन सत्र, पेश होंगे ये 30 विधेयक◾BJP प्रवक्ता ने फूलन देवी को कहा 'डकैत', अखिलेश ने बताया 'निषाद समाज' का अपमान ◾तमिलनाडु बारिश : चेन्नई के कई इलाकों में जलभराव, IMD ने तटीय जिलों के लिए जारी किया रेड अलर्ट ◾गौतम गंभीर की जान को खतरा, ISIS कश्मीर ने तीसरी बार दी धमकी, कहा- कुछ नहीं कर सकती IPS श्वेता ◾महाराष्ट्र सरकार के 2 साल हुए पूरे, सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा- एमवीए सरकार ने आपदा को अवसर में बदला◾वाट्सऐप पर पेपर लीक के चलते रद्द हुआ UPTET एग्जाम, STF की टीम ने शुरू की धर-पकड़ ◾देश में कोविड-19 के 8 हजार से अधिक नए केस की पुष्टि, इतने मरीजों की हुई मौत ◾World Corona: विश्व में 26.10 करोड़ के पार पहुंचा संक्रमितों का आंकड़ा, जानें कितने लोगों ने गंवाई जान ◾

पायलट समर्थक किसी पद के लिये सौदेबाजी नहीं कर रहा बल्कि पार्टी कार्यकर्ताओं के लिये सम्मान चाहते हैं : दीपेन्द्र सिंह

राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के करीबी रहे राजस्थान विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष और कांग्रेस विधायक दीपेन्द्र सिंह शेखावत ने बुधवार को कहा कि पायलट का समर्थक गुट किसी पद के लिये सौदेबाजी नहीं कर रहा बल्कि पार्टी कार्यकर्ताओं के लिये सम्मान चाहता है।

शेखावत का यह बयान उस समय आया है, जब पायलट गुट में आलाकमान द्वारा गठित कमेटी के 10 महीने बीत जाने के बाद भी उनकी मांगों को पूरा करने में हो रही देरी से नाराजगी दिखाई दे रही है। शेखावत ने कहा, ‘‘ यह बिल्कुल पद या सत्ता के लिये सौदा नहीं है।

यह उन पार्टी कार्यकर्ताओं के गौरव, आदर और सम्मान का सवाल है जो पार्टी के लिये वर्षों से लड़ाई लड़ रहे हैं। उन लोगों ने कांग्रेस को सत्ता में लाने के लिये भाजपा से लड़ाई की।’’ सीकर के श्रीमाधोपुर से विधायक शेखावत ने कहा कि मंत्रिमंडल, बोर्ड और निगमों में पदों की संख्या के लिये सौदेबाजी की खबरे झूठी हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘पायलट और हम सब राजस्थान के जमीनी स्तर के कांग्रेस कार्यकर्ताओं के सम्मान और स्वाभिमान के लिये प्रयासरत हैं।’’ पांचवी बार विधायक बने शेखावत ने कहा, ‘‘जिन व्यक्तियों ने 2014 के बाद से भाजपा की वसुंधरा राजे और नरेन्द्र मोदी की सरकारों का डटकर मुकाबला किया, उन्होंने 2013 में कांग्रेस की सबसे खराब हार जिसमें 200 में से पार्टी को केवल 21 सीटे मिली थीं, उसके बाद कांग्रेस को पुनर्जीवित करने के लिये अपना खून और पसीना बहाया।

हमारी पार्टी सत्ता में है तो उन्हें इसका सम्मान दिलाने की आवश्यकता है।’’ हालांकि, उन्होंने कहा कि राजनीतिक नियुक्तियां उन लोगो को दी जानी चाहिए जिन्होंने मतदान केन्द्रो पर कांग्रेस की जीत सुनिश्चित करने में भूमिका निभाई, ना कि सेवानिवृत्त नौकरशाहों और अधिकारियों को।

मंगलवार को कांग्रेस में शामिल हुए बसपा विधायकों ने पूर्व उपमुख्यमंत्री पायलट गुट पर निशाना साधते हुए पार्टी आलाकमान द्वारा असंतुष्ट पायलट गुट को शांत करने लिये किसी भी कदम पर आपत्ति जताई थी। वहीं, एक अन्य कांग्रेस विधायक भंवर लाल शर्मा ने बिना किसी का नाम लिये कहा था कि मंत्रिमंडल में नौ सीटें खाली हैं और 25 विधायक पद पाने के लिये निगाहें जमाये हुए हैं।