BREAKING NEWS

INX मीडिया : चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से नहीं मिली राहत, CJI के समक्ष जाएगा मामला ◾राहुल का केंद्र पर वार, कहा-चिदंबरम के चरित्रहनन के लिए एजेंसियों का इस्तेमाल कर रही मोदी सरकार◾चिदंबरम के बचाव में प्रियंका, बोली-केंद्र की असफलताओं को उजागर करने की भुगत रहे है सजा◾उत्तर प्रदेश : योगी कैबिनेट का हुआ विस्तार, 23 मंत्रियो ने ली शपथ ◾कश्मीर मामले पर ट्रंप ने फिर की मध्यस्थता की पेशकश, कहा- PM मोदी से करूंगा बात◾INX मीडिया : चिदंबरम की बढ़ी मुश्किलें, ईडी ने जारी किया लुकआउट नोटिस ◾मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर के निधन पर PM मोदी ने किया शोक व्यक्त ◾भारतीय सेना ने लिया अभिनंदन का बदला, गिरफ्तार करने वाले पाक कमांडो को किया ढेर◾चिदंबरम के लिए कयामत की रात, जेल या बेल पर फैसला सुबह ◾पंजाब, हरियाणा में बनी हुई है बाढ़ की स्थिति◾अयोध्या मामला : हिंदू निकाय ने न्यायालय से कहा: 12 वीं सदी में मंदिर के अस्तित्व का उल्लेख ◾INX मीडिया घोटाला : सीबीआई और ED ने चिदंबरम पर कसा शिकंजा , घर पर लगाया नोटिस, तलाशी अभियान अब भी जारी...◾PM मोदी ने ब्रिटिश प्रधानमंत्री को फोन कर लंदन में भारतीयों पर हुए हमले का उठाया मुद्दा ◾असम में NRC भारत का आंतरिक मामला : जयशंकर ◾गडकरी और जावड़ेकर ने एम्स जाकर जेटली की सेहत की जानकारी ली ◾अनुच्छेद 370 हटने के बाद बारामूला में पहली मुठभेड़ ◾आम आदमी पार्टी के विधायक संदीप कुमार अयोग्य घोषित◾कश्मीर मुद्दे पर रक्षा मंत्री की US रक्षा मंत्री से बात , राजनाथ बोले - ये हमारा अंदरूनी मसला◾चंद्रयान-2 ने चांद की कक्षा में सफलतापूर्वक किया प्रवेश , अब ISRO का ध्यान ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ पर ◾TOP 20 NEWS 20 August : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾

राजस्‍थान

प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने किया केंद्रीय कार्यसमिति के प्रस्ताव का अनुमोदन

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी की प्रदेश कार्यकारिणी की आज जयपुर में हुई बैठक में सर्वसम्मति से केंद्रीय कार्यसमिति के प्रस्ताव का अनुमोदन किया गया। 

बैठक में सर्वप्रथम अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव एवं राजस्थान प्रभारी अविनाश पाण्डे ने केन्द्रीय कार्यसमिति में पारित प्रस्ताव के अनुमोदन का प्रस्ताव रखा, जिसका प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एवं राज्य के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने समर्थन किया और प्रदेश कार्यकारिणी ने सर्वसम्मिति से प्रस्ताव पारित कर दिया। 

प्रस्ताव में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को सम्बोधित करते हुए कहा गया है कि प्रदेश कार्यकारिणी उन समस्त चुनौतियों, विफलताओं और कमियों को स्वीकार करती है जिसकी वजह से ऐसा जनादेश आया। प्रदेश कार्यकारिणी के सभी सदस्य कांग्रेस अध्यक्ष को अधिकृत करते हैं कि वह पार्टी के संगठनात्मक ढांचे में आमूलचूल परिवर्तन करके विस्तृत पुनर्संरचना करें और यह जल्द से जल्द किया जाये। प्रस्ताव में कहा गया है कि पार्टी ने चुनाव हारा है, लेकिन हमारा अदम्य साहस, सिद्धांतों के प्रति प्रतिबद्धता पहले से ज्यादा मजबूत है। कांग्रेस नफरत एवं विभाजनकारी ताकतों से लोहा लेने के लिये आपके नेतृत्व में कटिबद्ध है।

 

इससे पहले बैठक को सम्बोधित करते हुये श्री पायलट ने कहा कि चुनौतियों का सामना सबको मिलजुलकर करना है, राज्य के कांग्रेसजनों ने पूरी मेहनत की, परन्तु हमें सफलता नहीं मिल पाई जिसे लेकर हम सम्भागवार समीक्षा करेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने जनादेश को स्वीकार किया है और अब हम केन्द, में सशक्त विपक्ष की भूमिका निभाकर जनता का विश्वास जीतेंगे। उन्होंने कहा कि आरजेडी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री लालू प्रसाद यादव, डीएमके अध्यक्ष श्री स्टॉलिन सहित अन्य पार्टियों के नेताओं ने श्री गॉंधी से कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष पद पर बने रहकर कांग्रेस पार्टी को नेतृत्व प्रदान करने को अपनी भावना व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ही एक मात्र राष्ट्रीय पार्टी है जो राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा को चुनौती दे सकती है। 

इस अवसर पर पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव एवं राजस्थान प्रभारी अविनाश पाण्डे ने कहा कि श्री राहुल गॉंधी के सक्षम नेतृत्व में पूरी पार्टी का असीम विश्वास है। उन्होंने कहा कि हम सभी कांग्रेसजनों को एकजुटता से पार्टी की विचारधारा, रीति-नीति को आगे बढ़ने के लिये काम करना है और राज्य सरकार की उपलब्धियों को जन-जन तक पहुंचाना है। उन्होंने कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री ने राज्य में कांग्रेस को मजबूती प्रदान करने के लिये काम किया है। उन्होंने कहा कि सभी कांग्रेसजनों को अपना मनोबल बनाये रखना है और भविष्य की चुनौतियों का सामना करने के लिये हर स्तर पर तैयार रहना है। 

इस अवसर पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रस्ताव का समर्थन करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी ने बड़े-बड़े उतार-चढ़व देखे हैं, परन्तु आज का दौर विचित्र है, जहॉं भाजपा ने मूल मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिये धार्मिक एवं जातिवादी भावनाओं को भड़काया और सेना के शौर्य एवं पराक्रम को चुनावी मुद्दा बनाकर जनता को भ्रमित किया। उन्होंने कहा कि पूरा देश सेना के पराक्रम का सम्मान करता है और सेना की वीर गाथा इतिहास में दर्ज है। गहलोत ने कहा कि कांग्रेस ने श्री गॉंधी के नेतृत्व में संसद के अन्दर और बाहर आम जनता के बीच पहुंचकर भाजपा की जनविरोधी नीतियों का मुकाबला किया है जो ऐतिहासिक है। 

उन्होंने कहा कि हमारी हार हुई है, लेकिन हमें एकजुट होकर श्री गॉंधी के नेतृत्व में जनहित में सक्रिय भूमिका निभानी है। आज देश में लोकतंत्र खतरे में है, इसलिये संवैधानिक मूल्यों के संरक्षण के लिये काम करना है, हमारी लड़ई किसी भी पार्टी से व्यक्तिगत नहीं है, वरन् यह विचारधारा और नीतियों की लड़ाई है।