BREAKING NEWS

दिल्ली में कोरोना से 24 घंटे में 48 लोगों की मौत , 3227 नए मामले भी सामने आए ◾सच्चाई से परे और बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है एमनेस्टी इंटरनेशनल का बयान : गृह मंत्रालय◾ भारत ने अवैध तरीके से लद्दाख को बनाया केंद्र शासित प्रदेश, हम नहीं देते मान्यता : चीन ◾रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ‘रक्षा भारत स्टार्टअप चैलेंज’ की शुरुआत की, दिशा-निर्देश भी किये लॉन्च◾हाथरस केस : उप्र में ‘जंगलराज’ ने एक और युवती को मार डाला, सरकार ने कहा 'फ़ेक न्यूज़' - राहुल गांधी◾DC vs SRH आईपीएल-13 : दिल्ली कैपिटल्स ने जीता टॉस, गेंदबाजी का किया फैसला◾6 साल में सेना ने खरीदा 960 करोड़ का खराब गोला-बारूद, तकरीबन 50 जवानों ने गंवाई जान : रिपोर्ट ◾LAC विवाद पर भारत का कड़ा सन्देश - अपनी मनमानी व्याख्या जबरन थोपने की कोशिश न करें चीन◾हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत पर बवाल, विजय चौक के पास दिल्ली महिला कांग्रेस का जोरदार प्रदर्शन◾बिहार विधानसभा चुनाव : महागठबंधन से अलग हुई RLSP, बसपा के साथ बनाया नया गठबंधन ◾पायल घोष ने महाराष्ट्र के राज्यपाल से की मुलाकात, अनुराग कश्यप मामले में की न्याय की मांग◾विपक्ष के चौतरफा हमले के बीच यूपी सरकार ने हाथरस के पीड़ित परिवार को दी 10 लाख रु की मदद ◾चुनाव आयोग ने 12 राज्यों की 57 सीटों पर उपचुनाव की तारीखों का किया ऐलान, 10 नवंबर को नतीजे◾एनसीबी का बड़ा बयान- ड्रग्स लेने के दौरान सुशांत को रिया ने दिया बढ़ावा◾‘नमामि गंगे’ मिशन के तहत PM मोदी ने उत्तराखंड में 6 बड़ी परियोजनाओं का किया उद्घाटन◾कृषि बिल पर राहुल ने की किसानों से बातचीत, कहा- नए कानून से अन्नदाता बन जाएंगे मजदूर◾हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत पर विपक्ष का योगी सरकार पर हमला, कानून व्यवस्था पर उठाए सवाल◾देश में एक दिन में कोरोना के 70 हजार नए मामलों की पुष्टि, पॉजिटिव केस 61 लाख के पार◾ विश्व में कोरोना वायरस का कहर तेज, पॉजिटिव केस 3 करोड़ 32 लाख के पार ◾उत्तर प्रदेश : हाथरस में सामूहिक बलात्कार पीड़िता की दिल्ली के अस्पताल में इलाज के दौरान मौत◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

राजस्थान : राज्यपाल बोले- कृषि उत्पादों के मूल्य संवर्धन तथा विपणन पर ध्यान दें वैज्ञानिक

राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा है कि किसान परम्परागत खेती के स्थान पर व्यावसायिक खेती करें। इसके साथ ही उन्होंने कृषि वैज्ञानिकों से उत्पादों के मूल्य संवर्धन एवं विपणन की ओर भी ध्यान देने की जरूरत पर बल देने को कहा। मिश्र शुक्रवार को बीकानेर में कृषि विश्वविद्यालय में एक संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। 

उन्होंने कहा कि खेती की लागत कम हो तथा उत्पादन एवं आय बढ़े, इसके लिए कृषि वैज्ञानिकों को नई तकनीकें इजाद करनी होंगी तथा किसानों तक तकनीक पहुंचानी होगी। राज्यपाल ने कहा कि आज भू-जल लगातार घट रहा है। ऐसे समय में जल का उचित उपयोग करते हुए अधिकाधिक उत्पादन लेना बड़ी चुनौती है। कम पानी वाली फसलें लेने के साथ किसानों को बागवानी, सब्जी उत्पादन, फ्लोरीकल्चर और मधुमक्खी पालन जैसे आयाम भी अपनाने होंगे। 

उन्होंने कहा कि आज अनेक प्रगतिशील किसानों, खासकर महिलाओं ने समन्वित खेती प्रणाली का उपयोग करते हुए अपनी आय में इजाफा किया है। यह एक मिसाल है। उन्होंने कहा कि वैज्ञानिक खेतों तक जाएं। मिट्टी के स्वास्थ्य का परीक्षण करें तथा इसके अनुरूप कार्य योजना बनायें।