BREAKING NEWS

विदेश मंत्री जयशंकर ने फिनलैंड के शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात की◾सुरक्षा बल और वैज्ञानिक हर चुनौती से निपटने में सक्षम : राजनाथ ◾पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंड़ल से कोई बातचीत नहीं होगी : अकबरुद्दीन◾भारत, अमेरिका अधिक शांतिपूर्ण व स्थिर दुनिया के निर्माण में दे सकते हैं योगदान : PM मोदी◾कॉरपोरेट कर दर में कटौती : मोदी-भाजपा ने किया स्वागत, कांग्रेस ने समय पर सवाल उठाया ◾चांद को रात लेगी आगोश में, ‘विक्रम’ से संपर्क की संभावना लगभग खत्म ◾J&K : महबूबा मुफ्ती ने पांच अगस्त से हिरासत में लिए गए लोगों का ब्यौरा मांगा◾अनुभवहीनता और गलत नीतियों के कारण देश में आर्थिक मंदी - कमलनाथ◾वायुसेना प्रमुख ने अभिनंदन की शीघ्र रिहाई का श्रेय राष्ट्रीय नेतृत्व को दिया ◾न तो कोई भाषा थोपिए और न ही किसी भाषा का विरोध कीजिए : उपराष्ट्रपति का लोगों से अनुरोध◾अनुच्छेद 370 फैसला : केंद्र के कदम से श्रीनगर में आम आदमी दिल से खुश - केंद्रीय मंत्री◾TOP 20 NEWS 20 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾राहुल का प्रधानमंत्री पर तंज, कहा- ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम ‘आर्थिक बदहाली’ को नहीं छिपा सकता◾रेप के अलावा चिन्मयानंद ने कबूले सभी आरोप, कहा-किए पर हूं शर्मिंदा◾डराने की सियासत का जरिया है NRC, यूपी में कार्रवाई की गई तो सबसे पहले योगी को छोड़ना पड़ेगा प्रदेश : अखिलेश यादव◾नीतीश कुमार ने विधानसभा चुनाव में NDA की बड़ी जीत का किया दावा, कहा- गठबंधन में दरार पैदा करने वालों का होगा बुरा हाल◾कॉरपोरेट कर में कटौती ‘ऐतिहासिक कदम’, मेक इन इंडिया में आयेगा उछाल, बढ़ेगा निवेश : PM मोदी◾PM मोदी और मंगोलियाई राष्ट्रपति ने उलनबटोर स्थित भगवान बुद्ध की मूर्ति का किया अनावरण◾कांग्रेस नेता ने कारपोरेट कर में कटौती का किया स्वागत, निवेश की स्थिति बेहतर होने पर जताया संदेह◾वित्त मंत्री की घोषणा से झूमा शेयर बाजार, सेंसेक्स 1900 अंक उछला◾

राजस्‍थान

राजस्थान की 25 सीटों के लिए दो चरणों में होगा मतदान

राजस्थान में लोकसभा की 25 सीटों के लिए मतदान दो चरणों में होगा। चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही राज्य में भी आदर्श आचार संहिता लागू हो गयी है और प्रक्रिया पूरी होने तक अब सरकारी अधिकारियों व कर्मचारियों के तबादलों व नियुक्ति पर पूरी तरह रोक रहेगी।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने संवाददाताओं को बताया कि निर्वाचन आयोग द्वारा घोषित कार्यक्रम के अनुसार राज्य की 25 लोकसभा सीटों में से 13 सीटों पर मतदान 29 अप्रैल को चौथे चरण में तथा 12 सीटों पर मतदान छह मई को पांचवें चरण में होगा।

उल्लेखनीय है कि भारत चुनाव आयोग ने आगामी लोकसभा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा रविवार को नयी दिल्ली में की। इसके तहत 17वीं लोकसभा के गठन के लिये सात चरण में 11 अप्रैल से 19 मई तक मतदान होगा। मतगणना 23 मई को होगी।

लोकसभा चुनाव के साथ ही होंगे 4 राज्यों में विधानसभा चुनाव

आनंद कुमार ने यहां कहा, “घोषित कार्यक्रम के अनुसार राज्य में 25 संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों के लिए चुनाव दो चरणों में होंगे। पहले चरण में 13 व दूसरे चरण में 12 संसदीय क्षेत्र के लिए चुनाव होगा।” कुमार ने बताया कि प्रथम चरण में 13 लोकसभा क्षेत्र टोंक-सवाईमाधोपुर, अजमेर, पाली, जोधपुर, बाड़मेर, जालौर, उदयपुर, बासंवाड़ा, चितौड़गढ़, राजसमंद, भीलवाड़ा, कोटा और झालावाड़-बारां में 29 अप्रैल को मतदान होगा। पहले चरण की अधिसूचना 2 अप्रैल को जारी होगी। अधिसूचना जारी होने के साथ ही नामांकन दाखिल करने का काम शुरू हो जाएगा। 9 अप्रैल तक नामांकन दाखिल किए जा सकेंगे। 10 अप्रैल को नामांकन पत्रों की जांच होगी तथा 12 अप्रैल तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। दूसरे चरण की अधिसूचना 10 अप्रैल को जारी होगी। इस चरण में 12 लोकसभा क्षेत्रों श्रीगंगानर, बीकानेर, चूरू, झुंझूनूं, सीकर, जयपुर ग्रामीण, जयपुर, अलवर, भरतपुर, करौली-धौलपुर, दौसा और नागौर में छह मई को मतदान होगा। अधिसूचना जारी होने के साथ ही नामांकन दाखिल करने का काम शुरू हो जाएगा। 18 अप्रैल तक नामांकन दाखिल किए जा सकेंगे। 20 अप्रैल को नामांकन पत्रों की जांच होगी तथा 22 अप्रैल तक नाम वापस लिए जा सकेंगे।

उन्होंने बताया कि प्रदेश की 25 लोकसभा सीटों में चार अनुसूचित जाति, तीन अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं वहीं 18 सीटें सामान्य वर्ग के लिए हैं। लोकसभा चुनाव में सभी 25 सीटों पर केन्द्रीय पर्यवेक्षक चुनाव प्रक्रिया तथा उम्मीदवारों के खर्चे पर नजर रखेंगे। उन्होंने बताया कि प्रदेश में स्वतंत्र-निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव के लिए सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं।

कुमार ने कहा, “चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही राज्य में आदर्श आचार संहिता प्रभावी हो गयी है। निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित आचार संहिता सभी राजनीतिक दलों, सत्ताधारी दल व चुनाव लड़ने वाले अभ्यर्थियों पर लागू होगी।” उन्होंने कहा कि आचार संहिता लागू होने से समस्त राजकीय विभागों में अधिकारियों व कर्मचारियों के स्थानांतरण पर पूरी तरह प्रतिबंध लग गया है। जरूरी होने पर आयोग की पूर्व मंजूरी के बाद ही कोई तबादला किया जा सकेगा।

इसके साथ ही इस अवधि में सांसद व विधायक कोष से न तो नये कार्य स्वीकृत किए जा सकेंगे और जो स्वीकृत कार्य शुरू नहीं हुए हैं वे भी अब शुरू नहीं होंगे। राज्य की नवीनतम मतदाता सूची के अनुसार कुल 4.86 करोड़ से अधिक मतदाता हैं।