BREAKING NEWS

बिहार में 6 फरवरी तक बढ़ाया गया नाइट कर्फ्यू , शैक्षणिक संस्थान रहेंगे बंद◾यूपी : मैनपुरी के करहल से चुनाव लड़ सकते हैं अखिलेश यादव, समाजवादी पार्टी का माना जाता है गढ़ ◾स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी, कोविड-19 की दूसरी लहर की तुलना में तीसरी में कम हुई मौतें ◾बेरोजगारी और महंगाई जैसे मुद्दों पर कांग्रेस ने किया केंद्र का घेराव, कहा- नौकरियां देने का वादा महज जुमला... ◾प्रधानमंत्री मोदी कल सोमनाथ में नए सर्किट हाउस का करेंगे उद्घाटन, PMO ने दी जानकारी ◾कोरोना को लेकर विशेषज्ञों का दावा - अन्य बीमारियों से ग्रसित मरीजों में संक्रमण फैलने का खतरा ज्यादा◾जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी सफलता, शोपियां से गिरफ्तार हुआ लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू◾महाराष्ट्र: ओमीक्रॉन मामलों और संक्रमण दर में आई कमी, सरकार ने 24 जनवरी से स्कूल खोलने का किया ऐलान ◾पंजाब: धुरी से चुनावी रण में हुंकार भरेंगे AAP के CM उम्मीदवार भगवंत मान, राघव चड्ढा ने किया ऐलान ◾पाकिस्तान में लाहौर के अनारकली इलाके में बम ब्लॉस्ट , 3 की मौत, 20 से ज्यादा घायल◾UP चुनाव: निर्भया मामले की वकील सीमा कुशवाहा हुईं BSP में शामिल, जानिए क्यों दे रही मायावती का साथ? ◾यूपी चुनावः जेवर से SP-RLD गठबंधन प्रत्याशी भड़ाना ने चुनाव लड़ने से इनकार किया◾SP से परिवारवाद के खात्मे के लिए अखिलेश ने व्यक्त किया BJP का आभार, साथ ही की बड़ी चुनावी घोषणाएं ◾Goa elections: उत्पल पर्रिकर को केजरीवाल ने AAP में शामिल होकर चुनाव लड़ने का दिया ऑफर ◾BJP ने उत्तराखंड चुनाव के लिए 59 उम्मीदवारों के नामों पर लगाई मोहर, खटीमा से चुनाव लड़ेंगे CM धामी◾संगरूर जिले की धुरी सीट से भगवंत मान लड़ सकते हैं चुनाव, राघव चड्डा बोले आज हो जाएगा ऐलान ◾यमन के हूती विद्रोहियों को फिर से आतंकवादी समूह घोषित करने पर विचार कर रहा है अमेरिका : बाइडन◾गोवा चुनाव के लिए BJP की पहली लिस्ट, मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल को नहीं दिया गया टिकट◾UP चुनाव में आमने-सामने होंगे योगी और चंद्रशेखर, गोरखपुर सदर सीट से मैदान में उतरने का किया ऐलान ◾कांग्रेस की पोस्टर गर्ल प्रियंका BJP में शामिल, कहा-'लड़की हूं लड़ने का हुनर रखती हूं'◾

मेडिकल रिपोर्ट में बलात्कार की पुष्टि नहीं हुई है : पुलिस ने जख्मी हालत में मिली मानसिक रूप से कमजोर बच्ची के बारे में कहा

राजस्थान के अलवर जिले में घर से कुछ घंटे लापता रहने के बाद घायल अवस्था में मिली मानसिक रूप से कमजोरी बच्ची के संबंध में शुक्रवार को पुलिस ने बताया कि उसकी मेडिकल रिपोर्ट में बलात्कार या यौन उत्पीड़न की पुष्टि नहीं हुई है।

हालांकि पुलिस अभी तक यह स्पष्ट नहीं कर रही है कि बच्ची को इतनी चोटें कैसे आयी। पुलिस का कहना है कि बच्ची खुद अपने गांव से पहले शहर तक गयी और फिर तिजारा पुल पहुंची, जहां वह घायल अवस्था में मंगलवार को मिली।

 मेडिकल विशेषज्ञों की टीम ने पुलिस को रिपोर्ट सौंपी 

अलवर की पुलिस अधीक्षक तेजस्वनी गौतम ने शुक्रवार को संवादाताओं से बातचीत में कहा कि मेडिकल विशेषज्ञों की टीम ने आज पुलिस को जो रिपोर्ट सौंपी है उसमें बच्ची के साथ बलात्कार की आशंका से इंकार किया गया है। साथ ही उन्होंने कहा कि अभी तक यह पता नहीं चला है कि 14 वर्षीय बच्ची को इतनी गंभीर चोटें कैसे आईं।

गौतम ने कहा कि अभी तक हमारे पास मौजूद तथ्यों, मेडिकल रिपोर्ट और टेकनिकल साक्ष्यों के आधार पर बच्ची के साथ बलात्कार की पुष्टि नहीं होती है।

बच्ची घायल अवस्था में अलवर के तिजारा पुल के पास मिली

गौरतलब है कि बच्ची मंगलवार को अपने घर से घंटों लापता रहने के बाद घायल अवस्था में अलवर के तिजारा पुल के पास मिली। उसे तत्काल अलवर के एक अस्पताल में ले जाया गया जिसने उसे जयपुर के . के. लोन अस्पताल रेफर कर दिया, जहां बुधवार को डॉक्टरों ने उसकी लंबी और जटिल सर्जरी की।

घटना सामने आने पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अलवर की पुलिस अधीक्षक को तत्काल विशेष जांच दल गठित करने को कहा था।

पुलिस ने शुरुआती जांच में आशंका जतायी थी कि यह बलात्कार का मामला हो सकता है लेकिन साथ मेडिकल रिपोर्ट आने पर इसके स्पष्ट होने की बात कही थी।

ऑटो रिक्शा से गांव से 25 किलोमीटर दूर शहर और फिर तिजारा फाटक पुल पर पहुंची

बच्ची के अपने गांव से तिजारा पुल तक पहुंचने के संबंध में पुलिस अधिकारी का कहना है कि वह ऑटो रिक्शा से गांव से 25 किलोमीटर दूर शहर और फिर तिजारा फाटक पुल पर पहुंची।

उन्होंने कहा कि ऑटो में उसके यौन उत्पीड़न का कोई साक्ष्य नहीं मिला है। उन्होंने बताया कि शहर के विभिन्न इलाकों से एकत्र सीसीटीवी फुटेज में भी वह अकेली ही नजर रही है, उनमें कोई उसका पीछा करता हुआ भी नहीं दिख रहा है।

उन्होंने कहा कि फुटेज लड़की पैदल चलती दिख रही है, उसके शरीर पर कोई चोट नजर नहीं रहा है। उन्होंने कहा कि इसकी जांच की जा रही है कि आखिर तक स्वस्थ चलती हुई दिख रही बच्ची को इतनी गंभीर चोटें कैसे लगीं।

गौतम ने बताया, ‘‘नाबालिग ने जिस ऑटो रिक्शा में 8-10 अन्य यात्रियों के साथ यात्रा की थी उसकी पता लग गया है। फॉरेंसिक विशेषज्ञों को उस ऑटो में कुछ संदिग्ध नहीं मिला है। ऑटो चालक से पूछताछ की गई है, यात्रियों से भी पूछताछ की जायेगी।’’

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री गहलोत लगातार मामले की निगरानी कर रहे हैं और मामले की विस्तृत तथा गहन जांच का निर्देश दिया है।