BREAKING NEWS

चक्रवात तौकते को लेकर अमित शाह ने की गोवा के मुख्यमंत्री से बात◾भाजपा नेता सांप्रदायिक बम फोड़ने का कर रहे हैं प्रयास : अमरिंदर सिंह◾अधीर रंजन चौधरी की PM मोदी को लिखी चिट्ठी, लॉकडाउन वाले राज्यों में गरीबों को हर महीने ₹6000 देने की अपील ◾महाराष्ट्र में संक्रमण से 974 मरीजों ने तोडा दम, 34 हजार नए मामले की पुष्टि ◾गुजरात में चक्रवात तौकते का खतरा बरकरार, डेढ़ लाख लोगों को निचले तटीय क्षेत्रों में किया गया स्थानांतरित◾कोविशील्ड वैक्सीन की दूसरी खुराक के लिए पहले से लिया गया अप्वाइंटमेंट रहेगा वैध : केंद्र ◾CM केजरीवाल बोले- केंद्र एवं वैक्सीन निर्माताओं को लिखा पत्र, लेकिन दिल्ली को अभी टीका मिलने की कोई उम्मीद नहीं◾दिल्ली में कोरोना संक्रमण दर में आई गिरावट, 24 घंटे में 6456 नए केस और 262 की मौत◾देश में कोविड के 36,18,458 इलाजरत मरीज, संक्रमण दर 16.98 फीसदी: केंद्र सरकार◾केंद्र सरकार ने ग्रामीण एवं शहरों से सटे इलाकों में कोविड प्रबंधन पर जारी किए नए दिशा-निर्देश ◾हरियाणा में लॉकडाउन 24 मई तक बढ़ा, गृह मंत्री अनिल विज ने ट्वीट कर दी जानकारी◾राहुल का केंद्र पर वार- बच्चों की वैक्सीन क्यों भेज दी विदेश, अब मुझे भी करो गिरफ्तार ◾चक्रवाती तूफान के तेज होने की संभावना, कल शाम गुजरात के तट से टकराएगा तौकते, भारी बारिश की चेतावनी◾PM मोदी ने UP सहित चार राज्यों के मुख्यमंत्रियों से की बात, कोविड प्रबंधन पर हुई चर्चा◾दिल्ली में एक हफ्ते के लिए बढ़ाया गया लॉकडाउन, अब 24 मई सुबह 5 बजे तक रहेंगी पाबंदियां◾चक्रवाती तूफान ''तौकते'' गोवा के तटीय क्षेत्र से टकराया, शाह ने की मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक ◾कोरोना को मात देने के लिए अब बनेगी स्पूतनिक v की सिंगल-डोज वैक्सीन, भारत में जल्द आएगा टीके का लाइट वर्जन◾हैदराबाद पहुंचा रुसी वैक्सीन SPUTNIK V का दूसरा जत्था, कोरोना महामारी के नए वेरिएंट पर भी प्रभावी◾देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में गिरावट, पिछले 24 घंटे में 3.11 लाख केस, 4077 मरीजों ने तोड़ा दम◾कोरोना से ठीक होने के बाद कांग्रेस MP राजीव सातव का निधन, सुरजेवाला बोले- अलविदा मेरे दोस्त◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

सचिन पायलट ने कहा- कृषि संबंधी विधेयकों को वापस ले मोदी सरकार

राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने संसद में पारित कृषि संबंधी विधेयकों को किसानों के साथ विश्वासघात बताते हुए कहा कि केंद्र सरकार को अपनी गलती मानते हुए इन विधेयकों को वापस लेना चाहिए। पायलट ने एक वीडियो संदेश में कहा,‘‘राजनीतिक दल, किसानों के संगठन, अलग अलग लोग आज मुखर होकर यह बात बोल रहे हैं कि केंद्र सरकार ने किसानों के साथ विश्वासघात किया है।’’

पायलट के अनुसार,‘‘मुझे लगता है कि केंद्र सरकार को अपनी गलती माननी चाहिए इन विधेयकों को वापस लेना चाहिए।’’ केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल के इस्तीफे की ओर इशारा करते हुए पायलट ने कहा,‘‘आप (भाजपा) अपने कैबिनेट मंत्री को समझा नहीं पा रहे तो किसानों को क्या समझाएंगे।

किसान सब समझता है कि भाजपा सरकार ने हमारे साथ विश्वासघात किया है और कांग्रेस हमेशा की तरह किसानों के साथ खड़ी है और खड़ी रहेगी।’’ पायलट ने इन विधेयकों को किसनों पर बहुत बड़ा प्रहार बताते हुए कहा,‘‘ मंडियों को खत्म करने से या न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को लगभग खत्म करने से कहां से किसान का हित साधने की कोशिश यह सरकार करने जा रही है।

मुझे लगता है कि यह बहुत जल्दबाजी में किया गया, राज्य सरकारों से सलाह नहीं की गयी।’’ उन्होंने कहा,‘‘हम सब चाहते हैं कि कृषि क्षेत्र में निवेश हो सुधार हों, लेकिन यह जो विधेयक बनाया गया है यह किसान विरोधी है ,देश विरोधी है और मैं समझता हूं कि हर नागरिक का अहित करता है। मुझे लगता है कि केंद्र सरकार को अपनी गलती माननी चाहिए इन विधेयकों को वापस लेना चाहिए।’’ इसके साथ ही पायलट ने इन विधेयकों को पारित कराने के तरीकों को भी अलोकतांत्रिक बताया।