BREAKING NEWS

बंगाल BJP के वरिष्ठ नेता 1 अक्टूबर को करेंगे अमित शाह से मुलाकात◾सोमनाथ ट्रस्ट की बैठक में शामिल हुए PM मोदी◾बाबरी विध्वंस फैसले पर जमीयत का सवाल- जब मस्जिद तोड़ी गई तो फिर सब निर्दोष कैसे, क्या यह न्याय है?◾अनलॉक 5 की गाइडलाइन्स : 15 अक्टूबर से सिनेमा हाल, स्विमिंग पूल और मनोरंजन पार्क खोलने की अनुमति ◾अनलॉक 5 की गाइडलाइन्स : 15 अक्टूबर से सिनेमा हाल, स्विमिंग पूल और मनोरंजन पार्क खोलने की अनुमति ◾बाबरी विध्वंस मामला : सीबीआई कानूनी विभाग से विमर्श के बाद करेगी फैसले को चुनौती देने का निर्णय ◾मथुरा के श्रीकृष्ण जन्मस्थान परिसर से नहीं हटेगी शाही ईदगाह, अदालत में खारिज हुई याचिका◾हाथरस बलात्कार कांड: CM योगी ने युवती के पिता से की बात , 25 लाख रुपए, घर और नौकरी का भी ऐलान◾आईपीएल-13 RR vs KKR : राजस्थान ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का किया फैसला ◾हाथरस घटना : सीएम योगी पर बरसी प्रियंका गांधी, पूछा - कैसे मुख्यमंत्री हैं आप, इतनी अमानवीयता◾दिल्लीवासियों के लिए राहत : कोरोना के मद्देनजर पानी के बिल पर 25 से लेकर 100 फीसदी तक की छूट ◾हाथरस घटना को लेकर संजय राउत ने दागा सवाल - क्या न्याय सिर्फ अभिनेत्री के लिए मांगा जाता है ?◾भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में सीमा गतिरोध पर एक और दौर की वार्ता हुई ◾जेपी नड्डा ने बिहार विधानसभा चुनाव के लिए फडणवीस को किया चुनाव प्रभारी नियुक्त ◾बाबरी विध्वंस पर अदालत के फैसले को उच्च न्यायालय में चुनौती देगा मुस्लिम पक्ष : जफरयाब जिलानी ◾बाबरी विध्वंस पर विशेष अदालत का फैसला 'तर्कविहीन निर्णय', उच्च अदालत में अपील दायर होनी चाहिए : कांग्रेस ◾बाबरी मस्जिद फैसले पर 'जय श्री राम' के नारे के साथ आडवाणी बोले - आज हम सबके लिए है ख़ुशी का दिन◾बाबरी विध्वंस मामले में सीबीआई कोर्ट ने सभी 32 आरोपियों को किया बरी, नियोजित नहीं थी योजना ◾हाथरस गैंगरेप : PM मोदी ने CM योगी से की बात, UP सरकार ने जांच के लिए SIT का किया गठन◾बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में कोर्ट के फैसले से पहले लखनऊ में हाई अलर्ट◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

सचिन पायलट बोले- भाजपा की राजनीति से पूरा देश निराश

जयपुर : पश्चिम बंगाल में हिंसा व नाथूराम गोडसे पर प्रज्ञा ठाकुर के बयान को लेकर भाजपा पर निशाना साधते हुए कांग्रेस ने शुक्रवार को कहा कि सत्ताधारी पार्टी की राजनीति से समूचा देश निराश हुआ है। प्रदेश के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि पहली बार निर्वाचन आयोग जैसी संवैधानिक संस्था को इतने सवालों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा,‘पिछले कुछ दिनों में जिस प्रकार की राजनीति का परिचय सत्ताधारी दल ने दिया है उससे न केवल कांग्रेस व अन्य राजनीतिक पार्टियों बल्कि समूचे देश में एक निराशा का वातावरण बना है।’

भोपाल से भाजपा प्रत्याशी प्रज्ञा ठाकुर के बयान को चौंकाने वाला बताते हुए पायलट ने कहा,‘‘राष्ट्रपिता गांधी की हत्या करने वाले व्यक्ति को देशभक्त बताने का दुस्साहस करने वाले व्यक्ति को भाजपा के किसी बड़े नेता ने न तो टोका और न ही रोका। न ही बयान का खंडन किया न उनको पार्टी से बर्खास्त करने की मांग की है। सिर्फ पार्टी उनके बयान से अलग हो जाए इतना काफी नहीं है।’’ उल्लेखनीय है कि ठाकुर ने अपने एक बयान में गोडसे को देशभक्त बताया है। पायलट ने कहा- मतदान के छह चरणों का जो अब तक फीडबैक आया है उसमें भाजपा हर चरण में पिछड़ रही है।

प्रधानमंत्री मोदी, अमित शाह व भाजपा के अन्य नेताओं के बयान लगातार आ रहे हैं उनसे अंदाजा लग जाता है कि उनमें बौखलाहट है। पश्चिम बंगाल में हालिया घटनाक्रम पर पायलट ने कहा,‘‘ जो तथ्य धरातल पर कोलकाता में हमारे सामने आए हैं उनसे साफ है कि भाजपा बंगाल व कोलकाता में बाहर से लोग लेकर आई ताकि रोडशो में संख्या दिख सके। वहां पर जो अंजाम दिया गया वह निंदनीय है अशोभनीय है।’’

साध्वी प्रज्ञा के बयान पर MP के निर्वाचन अधिकारी ने चुनाव आयोग को भेजी रिपोर्ट

पायलट ने इसके बाद आए प्रधानमंत्री के बयान की आलोचना करते हुए कहा, ‘‘उन्होंने ममता बनर्जी, उनकी पार्टी व नेताओं की तुलना कश्मीर में जो पत्थरबाज हैं उनसे की हैं, आप अंदाजा लगा सकते हैं कि देश के प्रधानमंत्री एक निर्वाचित मुख्यमंत्री की तुलना अलगाववादी विचारधारा के पत्थरबाजों से कर रहे हैं।’’पायलट ने कहा कि इतिहास में पहली बार निर्वाचन आयोग जैसी प्रतिष्ठित संस्था को इतने सारे सवालों का जवाब देना पड़ रहा है। ‘निर्वाचन आयोग की भूमिका संदिग्ध हो गयी है। ’ उपमुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा को बंगाल की हिंसा तो दिख रही है और उसकी वह निंदा कर रही है लेकिन रायबरेली से कांग्रेस की विधायक पर जो जानलेवा हमला हुआ उसकी एक बार भी भाजपा, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने निंदा नहीं की।