BREAKING NEWS

12 निलंबित सदस्यों को लेकर विपक्ष का समर्थन,संसद परिसर में दिया धरना, राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित ◾JNU में फिर सुलगी नए विवाद की चिंगारी, छात्रसंघ ने की बाबरी मस्जिद दोबारा बनाने की मांग, निकाला मार्च ◾भारत में होने जा रहा कोरोना की तीसरी लहर का आगाज? ओमीक्रॉन के खतरे के बीच मुंबई लौटे 109 यात्री लापता ◾देश में आखिर कब थमेगा कोरोना महामारी का कहर, पिछले 24 घंटे में संक्रमण के इतने नए मामलों की हुई पुष्टि ◾लोकसभा में न्यायाधीशों के वेतन में संशोधन की मांग वाले विधेयक पर होगी चर्चा, कई दस्तावेज भी होंगे पेश ◾PM मोदी के वाराणसी दौरे से पहले 'गेरुआ' रंग में रंगी गई मस्जिद, मुस्लिम समुदाय में नाराजगी◾ओमीक्रॉन के बढ़ते खतरे के बीच दिल्ली फिर हो जाएगी लॉकडाउन की शिकार? जानें क्या है सरकार की तैयारी ◾यूपी : सपा और रालोद प्रमुख की आज मेरठ में संयुक्त रैली, सीट बटवारें को लेकर कर सकते है घोषणा ◾दिल्ली में वायु गुणवत्ता 'बहुत खराब' श्रेणी में दर्ज, प्रदूषण को कम करने के लिए किया जा रहा है पानी का छिड़काव ◾विश्व में वैक्सीनेशन के बावजूद बढ़ रहे है कोरोना के आंकड़े, मरीजों की संख्या हुई इतनी ◾सदस्यीय समिति को अभी तक सरकार से नहीं हुई कोई सूचना प्राप्त,आगे की रणनीति के लिए आज किसान करेंगे बैठक ◾ पीएम मोदी आज गोरखपुर को 9600 करोड़ रूपये की देंगे सौगात, खाद कारखाना और AIIMS का करेंगे लोकार्पण◾रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने भारत को एक बहुत बड़ी शक्ति, वक्त की कसौटी पर खरा उतरा मित्र बताया◾पंजाब के मुख्यमंत्री ने पाकिस्तान के साथ सीमा व्यापार खोलने की वकालत की◾महाराष्ट्र में आए ओमिक्रॉन के 2 और नए केस, जानिए अब कितनी हैं देश में नए वैरिएंट की कुल संख्या◾देश में 'ओमिक्रॉन' के बढ़ते प्रकोप के बीच राहत की खबर, 85 फीसदी आबादी को लगी वैक्सीन की पहली डोज ◾बिहार में जाति आधारित जनगणना बेहतर तरीके से होगी, जल्द बुलाई जाएगी सर्वदीय बैठक: नीतीश कुमार ◾कांग्रेस ने पंजाब चुनाव को लेकर शुरू की तैयारियां, सुनील जाखड़ और अंबिका सोनी को मिली बड़ी जिम्मेदारी ◾दुनिया बदली लेकिन हमारी दोस्ती नहीं....रूसी राष्ट्रपति पुतिन से मुलाकात में बोले PM मोदी◾UP चुनाव को लेकर प्रियंका ने बताया कैसा होगा कांग्रेस का घोषणापत्र, कहा- सभी लोगों का विशेष ध्यान रखा जाएगा◾

स्वीपर से अफसर बनी महिला, सड़कों पर झाड़ू लगाने वाली 2 बच्चों की मां का RAS में चयन

कठिन परिस्थियों को पार करते हुए कामयाबी की बुलंदियों को छूने का एहसास ही अलग होता है.............! मेहनत और कड़ी लगन से कुछ भी हासिल किया जा सकता है। इन शब्दों को वास्तविकता में बदलती हैं सड़कों पर झाडू लगाने से लेकर राजस्थान सरकार की अधिकारी बनने वाली आशा कंदारा। जी हां, आशा कंदारा वह महिला हैं जिन्होंने कड़ी मेहनत और धैर्य रखने से वो हासिल किया जो अन्य महिलाओं के लिए मिसाल पेश करती हैं।

दो बच्चों की मां कंदारा (40) ने राजस्थान प्रशासनिक सेवा (आरएएस) परीक्षा, 2018 में सफलता हासिल की। इस परीक्षा के परिणाम में देरी हुई और आखिरकार 13 जुलाई, 2021 को नतीजा घोषित किया गया। वह इस समय अकेले ही अपने बच्चों को संभाल रही हैं क्योंकि कुछ वर्ष पहले वह अपने पति से अलग हो गई थीं। इसके बाद कंदारा ने अपनी शिक्षा को आगे बढ़ाने का फैसला किया। उन्होंने 2016 में स्नातक की पढ़ाई पूरी की। 

उन्होंने कहा, “मुझे शादी टूटने, जातिगत भेदभाव से लेकर लैंगिक पूर्वाग्रह तक बहुत कुछ सहना पड़ा। लेकिन मैंने कभी खुद को दुख में नहीं डूबने दिया और इसके बजाय लड़ने का फैसला किया।’’ अपने पिता के साथ रहते हुए, जो जोधपुर नगर निगम में ही काम करते थे, उन्होंने हमेशा आर्थिक रूप से स्वतंत्र होने और अपने बच्चों को अपने दम पर पालने का सपना देखा। 

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने 2018 में जोधपुर नगर निगम के लिए सफाई कर्मचारी की परीक्षा दी और इसे उत्तीर्ण कर लिया।’’ कंदारा ने सफाईकर्मी के रूप में अपनी ड्यूटी निभाने के साथ-साथ आरएएस परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी। उन्होंने अगस्त 2018 में प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण की और इससे वह अंतिम परीक्षा की तैयारी के लिए प्रोत्साहित हुई।

उन्होंने कहा, “मैं एक प्रशासनिक अधिकारी के रूप में समाज को न्याय दिलाने के लिए काम करना चाहती हूं। मेरा प्रयास सिर्फ मेरे समुदाय के लिए नहीं है, बल्कि अन्याय से पीड़ित हर व्यक्ति के लिए है।”