BREAKING NEWS

UP: हरिद्वार विवाद से अलीगढ़ प्रशासन ने लिया सबक, प्रस्तावित धर्म संसद की अनुमति देने से किया इनकार ◾Today's Corona Update : देश में गिरने लगा कोरोना का ग्राफ, पिछले 24 घंटे में ढाई लाख से कम नए केस ◾दिल्ली: गाजीपुर में RDX मिलने के बाद सुरक्षा के बंदोबस्त किए गए पुख्ता, गणतंत्र दिवस पर तीसरी आंख रखेगी नजर◾World Coronavirus : वैश्विक स्तर पर कोरोना मामलों में वृद्धि, 33.02 करोड़ से ऊपर पहुंचा आंकड़ा◾देश के कई हिस्सों में सर्दी का सितम जारी, मैदानी इलाकों को अभी नहीं मिलेगी शीतलहर से राहत◾UP चुनाव को लेकर PM मोदी वाराणसी के भाजपा कार्यकर्ताओं से आज करेंगे वर्चुअल संवाद, देंगे यह मंत्र◾पंजाब विधानसभा चुनाव में CAPF की 1,050 कंपनी तैनात करने की मांग ◾पंजाब विधान सभा चुनाव - गठबंधन तय लेकिन सीटों को लेकर अभी तक नहीं हो पाया है अंतिम फैसला ◾कांग्रेस ने अरबपतियों की संपत्ति बढ़ने संबंधी रिपोर्ट को लेकर सरकार पर निशाना साधा ◾राज्यों की झांकी न शामिल करने के लिए केंद्र की आलोचना करना गलत परम्परा : सरकारी सूत्र ◾ केजरीवाल आज करेंगे पंजाब में ‘आप’ के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार की घोषणा◾गणतंत्र दिवस झांकी विवाद : ममता के बाद स्टालिन ने PM मोदी का लिखा पत्र ◾भारत वर्तमान ही नहीं बल्कि अगले 25 वर्षों के लक्ष्य को लेकर नीतियां बना रहा है : PM मोदी ◾उद्योग जगत ने WEF में PM मोदी के संबोधन का किया स्वागत ◾ कोरोना से निपटने के योगी सरकार के तरीके को लोग याद रखेंगे और भाजपा के खिलाफ वोट डालेंगे : ओवैसी◾गाजीपुर मंडी में मिले IED प्लांट करने की जिम्मेदारी आतंकी संगठन MGH ने ली◾दिल्ली में कोविड-19 के मामले कम हुए, वीकेंड कर्फ्यू काम कर रहा है: सत्येंद्र जैन◾कोविड-19 से उबरने का एकमात्र रास्ता संयुक्त प्रयास, एक दूसरे को पछाड़ने से प्रयासों में होगी देरी : चीनी राष्ट्रपति ◾ ओवैसी की पार्टी AIMIM ने जारी की उम्मीदवारों की दूसरी सूची, 8 सीटों पर किया ऐलान◾दिल्ली में कोरोना का ग्राफ तेजी से नीचे आया, 24 घंटे में 12527 नए केस के साथ 24 मौतें हुई◾

2 विधानसभा क्षेत्रों में कल होने वाले उपचुनाव साबित होंगे कांग्रेस के लिए परीक्षा, पूरी हुई मतदान की तैयारियां

राजस्थान के वल्लभनगर (उदयपुर) और धरियावद (प्रतापगढ़) विधानसभा सीटों पर शनिवार को होने वाले मतदान की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। इस उपचुनाव को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार के प्रदर्शन के लिये एक महत्वपूर्ण परीक्षा के रूप में देखा जा रहा है। दिसम्बर में कांग्रेस सरकार के कार्यकाल के तीन साल पूरे हो रहे है। 2 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान शनिवार सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक होगा। कड़ी सुरक्षा के बीच 638 मतदान केन्द्रों पर मतदाता मतदान कर सकेंगे, मतगणना दो नवम्बर को होगी।

हालांकि उपचुनाव की दो सीटें सरकार की स्थिरता के दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण नहीं है लेकिन इन दोनों सीटों के परिणामों को कांग्रेस सरकार के तीन वर्षों के कार्यों के प्रदर्शन के साथ जोडकर देखा जा रहा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली सरकार के सामने पिछले वर्ष 18 विधायकों के साथ पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बागी तेवर अपनाने पर बड़ी चुनौती खड़ी हुई थी जिसे पार्टी आलाकमान के हस्तक्षेप के बाद सुलझाया गया था।

चुनाव प्रचार खत्म होने से एक दिन पहले मंगलवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने चुनावी रैलियों में मतदाताओं से कांग्रेस सरकार को मजबूती देने के लिये वोट देने की अपील की थी। राजस्थान में नेतृत्व के मुद्दे पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच कलह होने के बावजूद गहलोत और पायलट ने पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और प्रदेश प्रभारी अजय माकन और प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के साथ दोनों विधानसभा क्षेत्रों में चुनावी रैलियों को संबोधित करने और पार्टी उम्मीदवारों के नामांकन के लिये जयपुर से हेलीकॉप्टर में एक साथ यात्रा कर एकजुटता दिखाने की कोशिश की थी।

पिछले साल राज्य में राजनीतिक संकट के बाद यह दूसरा अवसर था जब दोनों नेताओं ने एक साथ यात्रा की और मंच साझा किया। सत्तारूढ़ कांग्रेस और विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं ने निर्वाचन क्षेत्रों में डेरा डाल रखा है और चुनाव प्रचार में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है। चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस ने जहां महंगाई और ईंधन की बढती कीमतों, घरेलू सिलेंडरों की कीमतों में वृद्धि को लेकर केन्द्र सरकार को निशाना बनाया और राज्य सरकार के कार्यकाल में किये गये काम पर मतदाताओं को रिझाने की कोशिश की वहीं भाजपा ने प्रदेश की कानून व्यवस्था, अपराध दर, बेरोजगारी भत्ता, बिजली की दरों में वृद्धि को प्रमुख तौर पर चुनावी मुद्दा बनाया।

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और प्रदेश प्रभारी अरूण सिंह, केन्द्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, एस पी सिंह बघेल सहित प्रदेश भाजपा नेताओं ने दोनों विधानसभा क्षेत्रों में चुनावी रैलियों को संबोंधित किया। पिछले सप्ताह वल्लभनगर में एक चुनावी रैली के दौरान बघेल द्वारा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर विवादास्पद बयान से विवाद खड़ा हो गया था। धरियावद में भाजपा विधायक गौतम लाल मीणा और वल्लभनगर में कांग्रेस विधायक गजेन्द्र सिंह शक्तावत के निधन के कारण उपचनुाव करवाये जा रहे है। दोनों नेताओं का कोरोना वायरस संक्रमण के कारण निधन हो गया था।

कांग्रेस ने वल्लभनगर विधानसभा सीट पर जहां सहानुभूति को भुनाने के लिये गजेन्द्र शक्तावत की पत्नी प्रीति शक्तावत को पार्टी का उम्मीदवार बनाया वहीं भाजपा ने धरियावद में गौतम लाल मीणा ने पुत्र को टिकट नहीं देकर उन्हें निराश किया और वहां खेत सिंह मीणा को कांग्रेस उम्मीदवार नगराज मीणा के खिलाफ चुनाव मैदान में उतारा। 

धरियावद में कांग्रेस के नगराज मीणा को 2018 के विधानसभा चुनाव में भाजपा के गौतम लाल मीणा ने 23842 मतों से पराजित किया था। धरियावद में दिवंगत गौतम लाल मीणा के पुत्र कन्हैया मीणा को भाजपा की ओर से टिकट नहीं दिये जाने पर उन्होंने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में अपना नामांकन पत्र दाखिल कर दिया था लेकिन पार्टी ने उन्हें नामांकन वापस लेने के लिये मना लिया।

वल्लभनगर विधानसभा क्षेत्र से उपचुनाव में कुल नौ उम्मीदवार चुनाव मैदान में है। वहीं धरियावद में 7 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा। वल्लभनगर में कांग्रेस उम्मीदवार प्रीति शक्तावत के खिलाफ भाजपा ने एक नया चेहरा हिम्मत सिंह झाला को चुनाव मैदान में उतारा है जबकि भाजपा के पूर्व विधायक और जनता सेना के प्रमुख रणधीर सिंह भिंडर निर्दलीय विधायक के रूप में चुनाव लड़ रहे है। भाजपा से टिकट नहीं मिलने पर भिंडर की पत्नी ने जनता सेना के उम्मीदवार के रूप में अपना नामांकन दाखिल किया था जिसे बाद में वापस ले लिया गया था।

2018 के विधानसभा चुनाव में जनता सेना के उम्मीदवार के रूप में भिंडर ने गजेन्द्र सिंह शक्तावत को कड़ी चुनौती दी थी। भिंडर के कारण शक्तावत की जीत के मतों का अंतर केवल 3719 वोट था। वल्लभनगर विधानसभा सीट पर इनके अलावा भाजपा के बागी उदयलाल डांगी भी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ रहे है। राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी नागौर से सांसद और पूर्व भाजपा नेता हनुमान बेनीवाल की पार्टी है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि दोनों विधानसभाओं में 16 उम्मीदवार चुनावी समर में हैं। 

वल्लभनगर (उदयपुर) से 9 और धरियावद (प्रतापगढ़) से 7 उम्मीदवार मैदान में हैं। गुप्ता ने बताया कि दोनों विधानसभाओं में कुल 5 लाख 11,455 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे। वल्लभनगर में 2 लाख 53831 व धरियावद में 2 लाख 57624 मतदाता मत डाल सकेंगे।मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि वल्लभनगर में 310 और धरियावद में 328 समेत कुल 638 मतदान केंद्र स्थापित किए गए हैं। दोनों निर्वाचन क्षेत्रों संवेदनशील मतदान केन्द्रों की संख्या 119 हैं। 

उन्होंने बताया कि उदयपुर जिले के वल्लभनगर विधानसभा क्षेत्र के 31 और प्रतापगढ़ जिले के धरियावद विधानसभा क्षेत्र के 33 मतदान केंद्रों पर इस तकनीक के जरिए निगरानी की जाएगी। 29 संवेदनशील केन्द्रों पर वीडियोग्राफी भी की जाएगी l वल्लभनगर के 12 एवं धरियावद के 14 मतदान केन्द्रों पर माइक्रोपर्यवेक्षक मौजूद रहेंगे, गुप्ता ने बताया कि स्वतंत्र-निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान के लिए दोनों विधानसभा क्षेत्रों में कुल 4468 पुलिसबल तैनात किया गया है। 

मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि दोनों विधानसभाओं में 16 उम्मीदवार चुनावी समर में हैं। वल्लभनगर (उदयपुर) से 9 और धरियावद (प्रतापगढ़) से 7 उम्मीदवार मैदान में हैं। गुप्ता ने बताया कि दोनों विधानसभाओं में कुल 5 लाख 11,455 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे। वल्लभनगर में 2 लाख 53831 व धरियावद में 2 लाख 57624 मतदाता मत डाल सकेंगे।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि वल्लभनगर में 310 और धरियावद में 328 समेत कुल 638 मतदान केंद्र स्थापित किए गए हैं। दोनों निर्वाचन क्षेत्रों संवेदनशील मतदान केन्द्रों की संख्या 119 हैं। उन्होंने बताया कि उदयपुर जिले के वल्लभनगर विधानसभा क्षेत्र के 31 और प्रतापगढ़ जिले के धरियावद विधानसभा क्षेत्र के 33 मतदान केंद्रों पर इस तकनीक के जरिए निगरानी की जाएगी। 

29 संवेदनशील केन्द्रों पर वीडियोग्राफी भी की जाएगी l वल्लभनगर के 12 एवं धरियावद के 14 मतदान केन्द्रों पर माइक्रोपर्यवेक्षक मौजूद रहेंगे। गुप्ता ने बताया कि स्वतंत्र-निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान के लिए दोनों विधानसभा क्षेत्रों में कुल 4468 पुलिसबल तैनात किया गया है।