BREAKING NEWS

हिमाचल में भी खिसक सकती हैं भाजपा की सरकार ! कांग्रेस ने विधानसभा में लाया अविश्वास प्रस्ताव ◾काले कपड़ों में कांग्रेस के प्रदर्शन पर PM मोदी ने कसा तंज, कहा- जनता भरोसा नहीं करेगी...◾जब नीतीश कुमार ने कहा था - येन केन प्रकारेण सत्ता प्राप्त करूंगा, लेकिन अच्छा काम करूंगा◾न्यायमूर्ति यू यू ललित होंगे सुप्रीमकोर्ट के नए प्रधान न्यायधीश ◾दिग्गज कारोबारी अडानी को जेड प्लस सिक्योरिटी, आईबी ने दिया था इनपुट◾शपथ लेने के बाद नीतीश की गेम पॉलिटिक्स शुरू, मोदी के खिलाफ कर सकते हैं ये बड़ा काम ◾नुपूर को सुप्रीम राहत, जांच पूरी न होने तक नहीं होगी गिरफ्तारी, सभी एफआईआर को एक साथ जोड़ा ◾ ‘‘नीतीश सांप है, सांप आपके घर घुस गया है।’’, भाजपा नेता गिरिराज ने याद की लालू की पुरानी बात ◾ सुनील बंसल का बीजेपी में बढ़ा कद, बनाए गए पार्टी महासचिव◾पिता जेल में तो संभाली पार्टी की कमान, 75 सीट जीतकर किया धमाकेदार प्रदर्शन, जानिए तेजस्वी के संघर्ष की कहानी ◾बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा के खिलाफ लाया गया अविश्वास प्रस्ताव◾शपथ लेते ही BJP पर बरसे नीतीश, कहा-2014 में जीतने वालों को 2024 की करनी चाहिए चिंता ◾60 वर्ष से अधिक उम्र की बहनों और माताओं के लिए बसों में निःशुल्क यात्रा योजना जल्द आएगी : CM योगी ◾ गुजरात भाजपा में फूट के संकेत ! मतभेद की खबर पकड़ रही हैं जोर◾निर्माणाधीन टंकी का लेंटर गिरने से 19 मजदूर मलबे में दबे◾राकांपा प्रमुख शरद पवार ने बीजेपी पर लगाए गंभीर आरोप, कहा- सहयोगियों को धीरे-धीरे खत्म कर रही है भाजपा ◾सुशील मोदी ने राजद को चेताया, कहा - नीतीश कुमार पार्टी तोड़ने की करेंगे कोशिश ◾बिहार में फिर से लौटा तेजस्वी- नीतीश युग, राजभवन में दोनों नेताओं ने ली गोपनीयता की शपथ ◾भारत व चीन की सीमा पर पकड़ा गया मानसिक रूप से अस्वस्थ्य व्यक्ति, सीमा सुरक्षा पर खड़ा होता है सवाल ◾बिहार की सियासी बयार पर प्रशांत किशोर का तंज, कहा-आशा है अब राज्य में राजनीतिक स्थिरता लौटे◾

आयुर्वेद के परंपरागत ज्ञान का हिंदी में आधुनिकीकरण किया जाना बेहद जरूरी : कलराज मिश्र

राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने चरक संहिता, सुश्रुत संहिता और कश्यप संहिता में उपलब्ध आयुर्वेद ज्ञान के आधुनिकीकरण के प्रयास किये जाने पर जोर देते हुए हिंदी में इस ज्ञान के प्रसार की आवश्यकता जताई है। उन्होंने कहा कि आयुर्वेद में शल्य चिकित्सा, हृदय रोगों तथा शरीर की समस्त बीमारियों के उपचार का महत्वपूर्ण उल्लेख है।आधुनिक सन्दर्भों में इसके मर्म में जाने की जरूरत है। 

मिश्र मंगलवार को सर्वपल्ली राधाकृष्णन राजस्थान आयुर्वेद विश्वविद्यालय जोधपुर के चौथे दीक्षान्त समारोह को ऑनलाइन संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की कठिन परिस्थितियों में परंपरागत भारतीय जीवनशैली और आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति ने बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है। उन्होंने कहा कि समाज के ऐसे लोग जो महंगी चिकित्सा प्राप्त करने में सक्षम नहीं हैं, आयुर्वेद के तहत उन्हें अधिकाधिक लाभान्वित किये जाने की आवश्यकता है। 

उन्होंने कहा कि अनेक देशों में आयुर्वेद की जड़ी-बूटियों पर इस समय महत्वपूर्ण शोध हो रहा है। कैंसर, डायबिटीज जैसी जटिल बीमारियों में यह कारगर पायी गयी है और विश्व स्वास्थ्य संगठन का भी ध्यान आयुष पद्धतियों पर पिछले कुछ समय के दौरान विशेष रूप से आकृष्ट हुआ है। उन्होंने सुझाव दिया कि आयुर्वेद की पंचकर्म, क्षारकर्म, स्वर्ण प्राशन, योग इत्यादि विधाओं को आधुनिक रूप में विकसित करने तथा नई औषधियों के अनुसंधान व परीक्षण के लिए सुनियोजित रणनीति के तहत कार्य किया जाए।