BREAKING NEWS

आज का राशिफल (25 सितंबर 2022)◾Ankita Bhandari murder case : उत्तराखंड CM धामी ने अंकिता भंडारी के पिता से फोन पर की बात◾राकांपा प्रमुख शरद पवार ने उपराष्ट्रपति धनखड़ से भेंट की◾बाल यौन उत्पीड़न सामग्री का प्रसार करने के खिलाफ सीबीआई की बड़ी कार्रवाई, देश में 56 जगहों पर छापे◾युक्रेन संघर्ष ने खाद्य पदार्थ और ऊर्जा संबंधी मुद्रास्फीति को बढ़ाया - जयशंकर◾त्रिपुरा में अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही भाजपा◾CM केजरीवाल ने कहा- डेंगू नियंत्रण पर उठाएंगे कई कदम, स्कूली छात्र होंगे शामिल◾ महाराष्ट्र : शिंदे की पीएफआई कार्यकर्ताओं को दो टूक, कहा - बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे 'पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे' ◾अमित शाह के वार पर RJD प्रमुख का पलटवार, बोले- भाजपा का होगा सफाया ◾ राजस्थान : कांग्रेस समर्थित निर्दलीय विधायक के बेटों को रिश्वत लेते हुए एसीबी ने किया गिरफ्तार ◾पीएफआई हिंसा पर विजयन का बड़ा बयान, कहा - पूर्व नियोजित थी हिंसा, दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा ◾दक्षिण में 2024 की तैयारी का जायजा लेने के लिए केरल के दो दिवसीय दौरे पर जाएंगे जेपी नड्डा ◾ 'आप' का राज्यपाल पर बड़ा आरोप, कहा - बीजेपी के इशारे पर कर रहे हैं काम◾Himachal Pradesh: कांग्रेस को झटका! आश्रय शर्मा बीजेपी में होंगे शामिल◾यूपी में मर्यादा तार -तार कक्षा तीन की छात्रो को प्रिंसिपल ने दिखाया अश्लील वीडीयो, मामला दर्ज◾हिजाब विवाद में फंसा ईरान, तेजी के साथ पूरे देश में फैल रही हैं प्रदर्शन की आग ◾Punjab News: होशियारपुर में गैस संयंत्र में धमाका, एक की मौत◾चीन में सैन्य तख्तापलट का मंडराया खतरा ! शी जिनपिंग नजरबंद, चीन में चर्चाओं ने पकड़ी गति◾Pune: पीएफआई कार्यकर्ताओं ने लगाए ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे, भाजपा ने की एक्शन लेने की मांग◾दिल्ली में बोले लालू-'नीतीश और मैं सोनिया से मिलेंगे, विपक्ष को एकजुट करने की करेंगे कोशिश'◾

राजस्थान में बिगड़ती कानून व्यवस्था के लिए कौन जिम्मेदार? जानिए क्या कहती है जनता

राजस्थान एक बार फिर से राज्य में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर चर्चा में है।हाल ही में राजस्थान के जालौर जिले में दलित छात्र की हत्या का मामला सामने आया। परिवार का कहना है कि पानी का मटका छूने पर उसके टीचर ने छात्र की जमकर पिटाई की, जिससे उसकी मौत हो गई।

इसके अलावा, अलवर जिले में चोरी के शक के चलते एक विक्रेता को भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला।इन दोनों घटनाओं ने राज्य में अशोक गहलोत सरकार द्वारा किए जा रहे मजबूत कानून व्यवस्था के दावे पर सावलिया निशान लगा दिया। इसके लिए उन्हें न केवल विपक्ष से बल्कि अपनी ही पार्टी से भी आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है।

सरकार घटनाओं को हल्के में नहीं ले सकती

दलित लड़के की हत्या पर दुख जताते हुए बारां के अटरू से विधायक पानाचंद मेघवाल ने मुख्यमंत्री को अपना इस्तीफा सौंप दिया।कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने भी इस घटना पर चिंता व्यक्त की और कहा, सरकार घटनाओं को हल्के में नहीं ले सकती।इस घटना पर विपक्ष की ओर से तीखी प्रतिक्रिया आ रही है। मुख्य विपक्षी दल भाजपा और बसपा ने आरोप लगाया कि राजस्थान सरकार कानून-व्यवस्था के मोर्चे पर काम करने में विफल रही है।

गहलोत अपराध को रोकने में नाकामयाब रहे 

एनडीए और विपक्षी दोनों मतदाताओं ने इस मुद्दे पर अपने विचार साझा किए। आंकड़ों के अनुसार, एनडीए के 81 प्रतिशत और विपक्षी 68 प्रतिशत मतदाताओं ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राज्य में अपराध को रोकने में नाकामयाब रहे हैं।वहीं 73 प्रतिशत शहरी मतदाताओं और 71 प्रतिशत ग्रामीण मतदाताओं ने कहा कि राज्य सरकार कानून व्यवस्था की स्थिति को नियंत्रण करने में विफल रही है।