BREAKING NEWS

त्रिपुरा में अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही भाजपा◾CM केजरीवाल ने कहा- डेंगू नियंत्रण पर उठाएंगे कई कदम, स्कूली छात्र होंगे शामिल◾ महाराष्ट्र : शिंदे की पीएफआई कार्यकर्ताओं को दो टूक, कहा - बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे 'पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे' ◾अमित शाह के वार पर RJD प्रमुख का पलटवार, बोले- भाजपा का होगा सफाया ◾ राजस्थान : कांग्रेस समर्थित निर्दलीय विधायक के बेटों को रिश्वत लेते हुए एसीबी ने किया गिरफ्तार ◾पीएफआई हिंसा पर विजयन का बड़ा बयान, कहा - पूर्व नियोजित थी हिंसा, दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा ◾दक्षिण में 2024 की तैयारी का जायजा लेने के लिए केरल के दो दिवसीय दौरे पर जाएंगे जेपी नड्डा ◾ 'आप' का राज्यपाल पर बड़ा आरोप, कहा - बीजेपी के इशारे पर कर रहे हैं काम◾Himachal Pradesh: कांग्रेस को झटका! आश्रय शर्मा बीजेपी में होंगे शामिल◾यूपी में मर्यादा तार -तार कक्षा तीन की छात्रो को प्रिंसिपल ने दिखाया अश्लील वीडीयो, मामला दर्ज◾हिजाब विवाद में फंसा ईरान, तेजी के साथ पूरे देश में फैल रही हैं प्रदर्शन की आग ◾Punjab News: होशियारपुर में गैस संयंत्र में धमाका, एक की मौत◾चीन में सैन्य तख्तापलट का मंडराया खतरा ! शी जिनपिंग नजरबंद, चीन में चर्चाओं ने पकड़ी गति◾Pune: पीएफआई कार्यकर्ताओं ने लगाए ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे, भाजपा ने की एक्शन लेने की मांग◾दिल्ली में बोले लालू-'नीतीश और मैं सोनिया से मिलेंगे, विपक्ष को एकजुट करने की करेंगे कोशिश'◾संदीप दीक्षित ने AAP सरकार के शिक्षा मॉडल को घेरा, जानें क्या कहा .... ◾हिमाचल की युवा शक्ति ने हमेशा देश को गौरवान्वित होने का अवसर दिया : PM मोदी◾ पीएफआई के गुंडों को दुकानदार ने दिखाई हैसियत, दुकान बंद करने से किया इनकार, वीडीयो वायरल◾अगर हो गई है ट्रेन लेट तो जानें IRCTC का ये नियम, यात्रा में मिलेगा बिल्कुल मुफ्त में खाना◾Congress President Election: गहलोत -थरूर में मुकाबला पक्का, थरूर ने मंगवाया नामांकन पत्र ◾

राजस्थान उपचुनाव के नतीजों ने गहलोत को दिलाई बढ़त, पायलट से निकले आगे, मजबूत हुई पार्टी में स्थिति

राजस्थान में जिस तरह के उपचुनाव के नतीजे आए हैं उसको देखते हुए राज्य में मंत्रिमंडल विस्तार में कुछ और समय तक मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को राहत मिल सकती है। इसके साथ ही पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट को अन्य राज्यों में प्रचार की जिम्मेदारी दी जाएगी। राजस्थान उपचुनाव में धरियावाद विधानसभा सीट पर कांग्रेस के नगराज मीणा 18725 वोट से जीते। 

वहीं वल्लभनगर सीट से कांग्रेस की उम्मीदवार प्रीति शक्तावत करीब 65378 मतों से जीतीं। इसके साथ ही गुटबाजी झेल रहे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को राज्य में दो सीटें जीतने का हौसला मिला और मंत्रिमंडल विस्तार के लिए उन पर बनाया जा रहा दबाव भी कुछ कम हो गया है।

जिस तरह से कांग्रेस पर गुटबाजी के आरोप लग रहे थे, अब बीजेपी में भी ऐसे ही आरोप लगाने वाले नेता भी खुलकर सामने आ गए हैं। दिल्ली में मौजूद बीजेपी से निष्कासित राजस्थान के पूर्व मंत्री रोहिताश शर्मा ने कहा कि उपचुनाव में बीजेपी को जो इतनी करारी हार का सामना करना पड़ा है, बीजेपी तीसरे नम्बर की पार्टी साबित हुई है। उसके लिए बीजेपी के तीन केंद्रीय मंत्री और प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ही जिम्मेदार हैं।

दूसरी ओर कांग्रेस के खेमें में उपचुनाव के बाद मुखर विरोधी सुर अब कुछ समय के लिए हाईकमान के अगले निर्णय के इंतजार में जुटे हैं। जिस तरह से कांग्रेस हाईकमान ने गहलोत सरकार के मंत्रियों को कुछ राज्यों में आगामी चुनावों की जि़म्मेदारी सौंपी है, उससे ये संकेत मिल रहे थे कि अब मंत्रिमंडल विस्तार को टाला नहीं जाएगा। 

शीर्ष नेतृत्व ने राजस्थान के दिग्गज नेता और गहलोत सरकार में राजस्व मंत्री हरीश चौधरी और स्वास्थ्य व शिक्षा मंत्री डॉ. रघु शर्मा को महासचिव प्रभारी पद की जिम्मेदारी सौंपकर मंत्रिमंडल विस्तार करने का रास्ता खोल दिया था। जिसके बाद नेताओं ने मंत्री पद छोड़कर अपने प्रभार वाले राज्यों में सक्रिय रहने के संकेत भी दिए थे। लेकिन उपचुनाव के नतीजों ने मंत्रिमंडल विस्तार में फिर से नई सोच-विचार की गुंजाइश पैदा कर दी है।

दरअसल सियासी जानकार मानते हैं कि मुख्यमंत्री गहलोत और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच चलने वाली सियासी जंग के चलते राज्य में अब तक मंत्रिमंडल विस्तार नहीं हो पाया। पायलट खेमे को मंत्रिमंडल विस्तार में उम्मीद के मुताबिक जगह नहीं दी गई है। दोनों नेताओं की सुलह कराकर आलाकमान मामले को जल्द से जल्द शांत कराने में जुटा है। 

लेकिन इस बीच इस उपचुनाव के नतीजों के बाद मंत्रिमंडल विस्तार से पहले सचिन पायलट की केंद्रीय राजनीति में भूमिका तय की जाएगी। ये भी हो सकता है कि उत्तर-प्रदेश, हिमाचल, गोवा में होने वाले विधानसभा चुनाव में सचिन पायलट को प्रचार की अहम जिम्मेदारी दी जाए। दो दिन पहले ही सचिन पायलट ने यूपी के लखनऊ का एक दौरा भी किया था।