BREAKING NEWS

मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में PM मोदी में कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने पर दिया जोर, कहा-महामारी बदल रही अपना रूप◾राजनीति में व्यक्तिगत शत्रुता का कोई स्थान नहीं, बस पार्टी के सामने जरूरी मुद्दों को रखा : सचिन पायलट◾जम्मू-कश्मीर के दो जिलों में ट्रायल के तौर पर 15 अगस्त के बाद शुरू होगी 4G इंटरनेट सेवा ◾CM गहलोत बोले- BJP की सरकार गिराने की साजिश रही नाकाम, हमारे सभी विधायक है हमारे साथ ◾कोरोना वायरस : देश में पिछले 24 घंटे में 53 हजार 601 नए मरीजों की पुष्टि, 871 लोगों ने गंवाई जान ◾मनरेगा पर राहुल ने शेयर किया ग्राफ, क्या सूट-बूट-लूट की सरकार समझ पाएगी गरीबों का दर्द◾बुलंदशहर : US में पढ़ने वाली छात्रा की छेड़खानी के दौरान सड़क हादसे में मौत◾UP : बागपत में BJP नेता एवं पूर्व जिलाध्यक्ष की गोली मारकर हत्या, CM योगी ने जताया शोक ◾World Corona : दुनियाभर में महामारी का प्रकोप बरकरार, संक्रमितों का आंकड़ा 2 करोड़ के पार◾BSP विधायकों के कांग्रेस में विलय के खिलाफ याचिका पर SC में आज होगी सुनवाई◾पायलट की वापसी के बाद कांग्रेस नेताओं ने जताई खुशी, कहा- 'स्वागत है सचिन'◾अमेरिका : व्हाइट हाउस के पास हुई गोलीबारी के बाद ट्रंप ने अचानक छोड़ी कोरोना ब्रीफिंग◾हाई कमान से मुलाकात के बाद बोले पायलट: पद की कोई लालसा नहीं, समस्या का जल्द समाधान जल्द हो◾वेंटिलेटर सपोर्ट पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, सफलतापूर्वक हुई मस्तिष्क की सर्जरी हुई ◾महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 9,181 नये मामले सामने आये ,293 और लोगों की मौत◾केरल : बारिश थमने से कुछ राहत, इडुक्की में भूस्खलन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 49 हुई◾पायलट मामले के समाधान के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तीन सदस्यीय समिति गठित की ◾दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना के 707 नए मामलों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा 1.46 लाख के पार◾संजय राउत के बयान को लेकर मानहानि का मामला दर्ज कराएंगे सुशांत सिंह राजपूत के परिजन ◾लीग चेयरमैन बृजेश पटेल ने दी जानकारी - यूएई में आईपीएल के लिये सरकार से मंजूरी मिली◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

भारत के ये पांच अरबपति हैं सबसे बड़े दानवीर, दान करते हैं कमाई का ढेर सारा हिस्सा

भारत देश में कई तरह के अरबपति हैं। इनमें से कई का बिजनेस पीढ़ियों से चला आ रहा है और आगे भी चलता रहेगा। इसके साथ अमीर और गरीब का अंतर भारत देश में बहुत बढ़ता जा रहा है। अगर देश की गरीबी को मदद मिले तो वह बिल्‍कुल ही खत्म हो सकती है। 

भारत के कई ऐसे अरबपति हैं जो देश के जरूरतमंद लोगों की मदद करने से पीछे नहीं हटते हैं। भारत परोपकार सूची 2018 में ह्यूरन रिसर्च इंस्टीट्यूट में कहा गया है कि 2310 करोड़ रुपए दान में इन लोगों ने दिए हैं। 61 करोड़ रुपए प्रति परोपकारी व्यक्ति की औसत इसमें आती है। भारत देश के कुछ दानवीर अरबपतियों के बारे में आज हम आपको बताएंगे। 

1. मुकेश अंबानी


धीरुभाई अंबानी ने साल 1966 में मुकेश रिलायंस कंपनी की स्‍थापना की थी। मुकेश और छोटे भाई अनिल में 2002 में पिता के देहांत के बाद बंटवारा हो गया था। बंटवारे में पेट्रोकेमिकल, ईंधन और गैस का बिजनेस मुख्य तौर पर मुकेश ने ले लिया था। रिलायंस जियो ने भारत के टेलिकॉम मार्केट की पूरी शक्ल ही बदल कर रख दी है। यह मुकेश अंबानी ने ही दिया है। एशिया का सबसे अमीर आदमी फोब्से ने मुकेश अंबानी को 2018 में बताया था। केरल में जब पिछले साल बाढ़ आई थी तब उस समय 71 करोड़ रुपए रिलायंस फाउंडेशन ने दान में दिए थे। 

2. अजय पीरामल

पीरामल एंटरप्राइजेज की अध्यक्ष अजय पीरामल को आप सब जानते हैं। फार्मा, हेल्‍थकेयर और वित्तीय सेवाओं में पीरामल समूह माहिर है। स्वास्‍थ्य सेवा, शिक्षा, रोजगार और युवा सशक्तिकरण के क्षेत्रों में अजय पीरामल अपनी फाउंडेशन के जरिए योगदान करते हैं। 

3. अजीम प्रेमजी


भारत की सबसे बड़ी आईटी कंपनी विप्रो लिमिटेड के चेयरमैन अजीम प्रेमजी का जन्म मुंबई में ही हुआ है। खाना पकाने वाले तेज का बिजनेस इन्हें विरासत में मिला था। अजीम प्रेमजी के पिता का देहांत साल 1966 में हो गया था उसके बाद उन्होंने ही बिजनेस संभाला। बाद में वह इन्फॉर्मेशन टेक्नॉल्जी और सॉफ्टवेयर के क्षेत्र में बिजनेस को बढ़ाया। प्रेमजी ने अपनी संपत्ति का आधा हिस्सा साल 2013 में दान कर दिया था। 

4. आदि गोदरेज


गोदरेज ग्रुप के चेयरमैन आदि गोदरेज का जन्म मुंबई में हुआ है। गोदरेज के चेयरमैन साल 2000 में आदि गोदरेज को बनाया गया था जो कि तीसरी पीढ़ी हैं। आदि अपने भाई नादिर और कजिन जमशेद गोदरेज के साथ कंपनी को आगे लेकर जा रहे हैं। 

5. युसफ अली


लुलु ग्रुप इंटरनेशनल के प्रबंध निदेशक और अध्यक्ष युसफ अली का जन्म केरल में हुआ है। 63 साल के युसफ अली को पद्श्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। गुजरात में जब 2001 में भूकंप आया और जम्मू-कश्मीर में आई बाढ़ में आर्थिक मदद के लिए आगे आए थे।