BREAKING NEWS

कृष्ण जन्मभूमि मामला : Court मस्जिद हटाने का अनुरोध करने वाली याचिका पर करेगी विचार ◾आज का राशिफल ( 20 मई 2022) ◾RCB vs GT ( IPL 2022 ) : कोहली के बल्ले से निकली आरसीबी की जीत और प्लेऑफ की उम्मीद◾पंजाब में कांग्रेस को पड़ी दोहरी मार : सिद्धू को एक साल की सजा, जाखड़ ने थामा भाजपा का दामन◾भारतीय मुक्केबाज निकहत जरीन बनीं विश्व चैंपियन , PM मोदी ने दी बधाई ◾ इंडोनेशिया के ऐलान से भारत को राहत, जल्द ही कम हो सकते हैं खाने के तेल के दाम◾ अदालत में दाखिल याचिका को लेकर भड़के ओवैसी, बोले- मुसलमानों के खिलाफ अविश्वास पैदा करने की हो रही कोशिश◾Gyanvapi News: ज्ञानवापी मस्जिद पर अभिनेत्री कंगना बोलीं- काशी के कण- कण में बसे हुए हैं भगवान शिव◾ RCB vs GT: गुजरात टाइटंस ने टॉस जीतकर किया बल्लेबाजी का फैसला, यहां देखे दोनो टीमों की प्लेइंग इलेवन◾Quad Summit 2022: टोक्यो में शुरू होगा मोदी का मिशन, 24 मई को जाएंगे जापान, दिग्गज नेताओं के साथ होगी बातचीत ◾UP: स्वतंत्रता सेनानियों पर भावुक होकर योगी बोले- पिछली सरकारो ने इनके आदर्शों पर नहीं किया काम◾DU को संबोधित करते हुए शाह ने कहा: नहीं होनी चाहिए राजनीतिक लड़ाई, जिक्र किया- रक्षा नीति का.... ◾Gyanvapi Survey: वाराणसी अदालत में 23 मई को होगी अगली सुनवाई, दर्ज की जा चुकी है सर्वे रिपोर्ट ◾ अमित शाह से मिले CM भगवंत मान, PAK से ड्रोन घुसपैठ को लेकर MHA से की ये बड़ी मांग◾1988 रोड रेज केस : एक साल की सजा पर बोले सिद्धू-कानून का सम्मान करूंगा◾Delhi High Court ने लगाई घर-घर राशन योजना पर रोक, कहा: दिल्ली सरकार नहीं कर सकती केंद्र के राशन का इस्तेमाल ◾'कुछ नेता ही कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व को कर रहे हैं गुमराह', इस्तीफे के बाद बोले हार्दिक◾जिसका शिवपाल को था इंतजार.. वो घड़ी आ गई! आजम की जमानत का चाचा-भतीजे पर कैसा होगा असर? ◾SC से रिहाई के बाद फिर जेल जा सकते हैं आजम खान, जानिए किस मामले में फंस सकते हैं SP नेता ◾Delhi News: राजधानी फिर हुई धुआं-धुंआ! मुस्तफाबाद की फैक्ट्री में लगी भीषण आग, दमकल की गाड़ियां मौके पर मौजूद◾

जन्माष्टमी 2019 : हांडी में दही रखने के पीछे छिपी हैं इन मान्यताओं से शायद अनजान होंगे आप

कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व हिंदुओं के लिए महत्वपूर्ण होता है। इस बार 24 अगस्त के दिन जन्माष्टïमी मनाई जाएगी। भगवान कृष्ण को माखन और दही खान सबसे प्रिय होता है। इसलिए उन्हें हमेशा भोग में माखन,मिश्री और दही चढ़ाई जाती है। इस खास पर्व  पर जगह-जगह झांकियां भी सजाई जाती है। 

इस दौरान दही की मटकी भी टांगी जाती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि दही को हांडी में भरकर क्यों टांगा जाता है। तो चालिए आज हम आपको इससे जुड़ी कुछ खास मान्यताओं के बारे में बताएंगे। 

धर्म ग्रंथों के मुताबिक श्रीकृष्ण देवकी की आठवीं संतान थी। अपने भाई कंस से उसे जान का खतरा होने की वजह से उन्होंने कृष्ण जी को यशोदा और नंदजी के पास वृंदावन ले गए थे।

नंदलाला का बचपन भी वृंदावन की नगरी में ही खेल-कूदकर बीता है। वो बचपन से ही बड़े शरारती थे। भगवान श्रीकृष्ण को बचपन से ही माखन और दही खाना पसंद था। इसलिए घर में रखे दही के सारे पात्र वो गाप-गाप खा जाते थे।

श्रीकृष्ण को माखन और दही इतना ज्यादा पसंद था कि वह अपने घर के अलावा पड़ोसियों के घर का भी माखन खा जाते थे। यही वजह थी कि कृष्णा माखन तक पहुंच ना पाए इसलिए हांडी को दूर रखा जाने लगा।

श्रीकृष्ण की मां यशोदा साहित बाकी आस पड़ोस वाले लोग अपने घर पर हांडी में दही और माखन भरकर टांग देते थे। लेकिन श्रीकृष्ण इतने ज्यादा चुलबुले थे कि वो अपने दोस्तों की सहायता से चढ़कर हांडी से दही चुराकर खा ही लेते थे। 

बहुत बार तो श्रीकृष्ण ने माखन और दही खाने के लिए पत्थरों से भी हांडी को तोड़ दिया है। ये सबकुछ देखकर यशोदा मां नाराज हो जाती थी। लेकिन कान्हा की अटखेलियां देख वह सब कुछ भूल जाती थीं।

श्रीकृष्ण भगवान विष्णु का स्वरूप हैं इसी वजह से उनकी बाल लीला ने सबका मन मोह लिया था। इसलिए कान्हा को अपने घर बुलाने के लिए लोग हांडी में माखन और दही भरकर रखते हैं। 

ऐसा माना जाता है कि जन्माष्टमी पर दही हांडी रखने से घर में श्रीकृष्ण का आगमन होता है। इससे घर में खुशहाली बनी रहती है। श्रीकृष्ण ने ग्वाल परिवार में जन्म लिया था और वहां पर दूध से ही सभी चीजें बनाई जाती थीं। इसलिए कान्हा जी को बचपन से ही दही और माखन खाना पसंद था।

बता दें कि दही हांडी समृद्घता का प्रीतक भी है। ऐसा कहा जाता है कि  इसे जन्माष्टमी के दिन घर में रखने से कभी भी अन्न और धन की कमी नहीं होती है।