BREAKING NEWS

राहुल गांधी का तीखा वार : मप्र में कांग्रेस ने किसानों का कर्ज माफ किया, भाजपा ने झूठे वादे किए◾कृषि बिल पर विरोध : दिल्ली की ओर कूच कर रहे युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने रोका, कई हिरासत में◾धोनी पर बरसे गंभीर , कहा - सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करना मोर्चे से अगुवाई नहीं◾DRDO ने टैंक रोधी मिसाइल का किया सफल परीक्षण, रक्षा मंत्री ने दी बधाई ◾कोविड-19: देश में स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या में लगातार तेजी, रिकवरी रेट 81.25 प्रतिशत ◾कृषि बिल पर विरोध जारी, संसद परिसर में गांधी प्रतिमा से अंबेडकर प्रतिमा तक विपक्ष का मार्च ◾कृषि बिल : विपक्ष का संसद परिसर में प्रदर्शन, आज शाम 5 बजे 5 नेताओं से मिलेंगे राष्ट्रपति◾बारिश की वजह से डूबी मुंबई, सड़क और रेल यातायात बुरी तरह प्रभावित ◾सुशांत केस : ड्रग्स मामले में रिया-शोविक की सुनवाई टली, मुंबई में बारिश के चलते आज HC की छुट्टी◾कश्मीर के मुद्दे को लेकर तुर्की के राष्ट्रपति पर भड़का भारत, कहा- आंतरिक मामलों में दखल स्वीकार नहीं◾राहुल ने पीएम मोदी पर पड़ोसी देशों के साथ संबंधों को नष्ट करने का लगाया आरोप◾कोरोना संक्रमण के फैलते प्रकोप की वजह से संसद का मानसून सत्र आज से अनिश्चित काल के लिए स्थगित ◾देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 56 लाख के पार, 90 हजार से अधिक लोगों ने गंवाई जान◾पीएम मोदी की 7 राज्यों के CM के साथ बैठक आज, कोरोना महामारी पर करेंगे चर्चा ◾अमेरिका में वैश्विक महामारी के नए मामलों में कमी, कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 2 लाख के पार ◾आज का राशिफल (23 सितम्बर 2020)◾बिहार DGP गुप्तेश्वर पांडे ने लिया VRS, लड़ सकते हैं आगामी विधानसभा चुनाव◾संजू सैमसन के तूफान में नरम पड़े सुपरकिंग्स, राजस्थान रायल्स ने चेन्नई को 16 रन से हराया◾भारत ने स्वदेशी हाई-स्पीड टार्गेट ड्रोन 'अभ्यास' का किया सफल परीक्षण◾LAC पर भारत-चीन के बीच नो एक्शन एग्रीमेंट, अग्रिम मोर्चे पर और अधिक सैनिक नहीं भेजेंगे दोनों देश◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

फिश पेडीक्योर के हैं शौकीन तो भूलकर भी न करवाएं,हो सकता है इंफेक्शन का खतरा

इन दिनों पैरों को साफ कराने के लिए ब्यूटी ट्रीटमेंट के रूप में फिश पडिक्योर सबसे ज्यादा फेमस हो रहा है। आप चाहें किसी भी मॉल,स्पा या फिर सलॉन में चले जाएं आपको ज्यादातर जगहों पर फिश पेडिक्योर का विकल्प जरूर दिख जाएगा। 

वैसे आपको फिश पेडिक्योर करवाने के एक से बढ़कर एक फायदे क्यों ना बताए जाते हों,लेकिन क्या आप जानते हैं कि यूरोप,अमेरिका और कनाडा जैसे देशों फिश पेडिक्योर पूरी तरह से बैन है। ऐसा क्यों है और फिश पेडिक्योर क्यों नहीं करवाना चाहिए यह आज हम आपको बताएंगे। 

फिश स्पादर है यह पेडिक्योर ट्रीटमेंट


फिश पेडिक्योर वाले ट्रीटमेंट में आपको एक पानी भरे टैंक में अपने पैर को डालकर रखना होता है जिसके अंदर डॉक्टर नाम की मछलियां तैर रही होती हैं। यह मछलियां आपके पैरों की डेड स्किन को खाना शुरू कर देती हैं जिससे आपके पैरों की त्वचा एक्सफोलिएट हो जाती है और आपको स्मूथ और सॉफ्ट स्किन मिल जाती है। मगर फिश पेडिक्योर करवाना आपकी त्वचा के लिए बेहद हानिकारक हो सकता है। जानें कैसे?

होता है इंफेक्शन का खतरा

फिश पेडिक्योर करवाने पर आपको इंफेक्शन हो सकता है। क्योंकि पानी के अंदर यह मछलियां अपने साथ बैक्टीरिया भी कैरी करती हैं जिससे आपको इंफेक्शन और निमोनिया होने का डर होता है। इसके अलावा पेडिक्योर ट्यूब के माध्यम भी बैक्टीरिया पनपने का खतरा रहता है। वहीं आपके पैरों में छोटे-छोटे कट लगे हुए हैं तो ऐसे में आपको सबसे ज्यादा खतरा रहता है क्योंकि इससे आपको गंभीर इंफेक्शन हो सकता है। 

पहुचाए स्किन को नुकसान

ध्यान रहे अगर पेडिक्योर सही तरीके से नहीं हुआ तो आपकी त्वचा रूखी,बंपी और अनइवेन होने के पूरे-पूरे चांस होते हैं। कभी-कभी ऐसा भी होता है जब मछलियां पैरों के कुछ हिस्सों पर इतना ज्याद डीप कट दे कि वह आपके पैरों से खून भी निकाल देती है। 

नहीं है मछलियों के लिए भी सही

इन छोटी-छोटी मछलियों का भोजन आपकी पैरों की डेड स्किन को खाना नहीं है,मगर इन्हें काफी लंबे समय तक भूखा रखा जाता है। 

 इस वजह से इन्हें मजबूरन जिंदा रहने के लिए आपकी पैरों की डेड स्किन को ही खाना पड़़ता है जो कि मछलियों के लिए बिल्कुल भी अच्छा नहीं होता।