BREAKING NEWS

अमेरिका ने हाफिज सईद की पूर्व में हुई गिरफ्तारियों को बताया 'दिखावा', कहा- गतिविधियों पर कोई फर्क नहीं पड़ा◾योगी सरकार को प्रियंका गांधी से डर क्यों लगता है : सुरजेवाला ◾नवजोत सिंह सिद्धू के पूर्व विभाग से महत्वपूर्ण फाइलें गायब◾प्रियंका गांधी ने गेस्ट हाउस में बिताई रात, प्रशासन से दूसरे दौर की बातचीत भी नाकाम◾चंद्रकांत पाटिल का दावा : चुनाव से पहले विपक्ष के कई नेता BJP होंगे शामिल◾एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल नाग का सफल परीक्षण◾सोनभद्र जाने पर अड़ीं प्रियंका गांधी ,जमानत लेने से किया इनकार, बोलीं- जेल जाने को तैयार हूं◾योगी सरकार ने की प्रियंका की ‘गैरकानूनी गिरफ्तारी’, राज्य सरकार में अपराधियों को संरक्षण : कांग्रेस ◾जारी रहेगी MS Dhoni की धूम, मैनेजर बोले - माही की अभी संन्यास लेने की कोई योजना नहीं◾कर्नाटक : विधानसभा विश्वास प्रस्ताव पर मतदान के बिना सोमवार तक स्थगित ◾रॉबर्ट वाड्रा ने BJP सरकार की आलोचना की ,कहा - लोकतंत्र को तानाशाही में न बदलें◾सोनभद्र गोलीकांड : प्रियंका गांधी हिरासत में, कई जगह कांग्रेस का प्रदर्शन ◾किसी विधायक ने मुझसे सुरक्षा नहीं मांगी है : कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष◾कर्नाटक में जारी सत्ता का संघर्ष एक बार फिर शीर्ष अदालत की चौखट पर◾Sensex में साल की दूसरी बड़ी गिरावट, निवेशकों ने दो दिन में गंवाये 3.79 लाख करोड़ रुपये ◾ कुमारस्वामी ने स्पीकर से फ्लोर टेस्ट की डेट सोमवार तक बढ़ाने की अपील की , भाजपा बोली- हम तैयार नहीं◾Top 20 News 19 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾चुनाव याचिका पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नोटिस जारी ◾BJP विश्वास प्रस्ताव पर मत-विभाजन के लिए आतुर है, क्योंकि वह विधायकों को खरीद चुकी : सिद्धारमैया ◾सोनभद्र में पीड़ित परिवारों से मिलने जा रही प्रियंका गांधी को रोका, धरने पर बैठीं◾

दिलचस्प खबरें

इस बुजुर्ग को शताब्‍दी एक्‍सप्रेस में चढ़ने से रोका क्योकि इन्होंने पहनी हुई थी धोती-कुर्ता

हाल ही में उत्तर प्रदेश के इटावा से एक बेहद चौंका देने वाली घटना सामने आई है। जहां पर एक 72 साल के बुजुर्ग को सिर्फ इसलिए शताब्दी ट्रेन में नहीं चढऩे दिया क्योंकि उस बुजुर्ग ने धोती कुर्ता पहना हुआ था। खास बात ये कि ये बुजुर्ग बिना टिकट के यात्रा नहीं कर रहे थे इनके पास शताब्दी के सी-2 कोच की 72 नंबर की सीट पर गाजियाबाद जाने के लिए कन्फर्म टिकट भी थी,लेकिन बावजूद इसके सिर्फ उनकी वेशभूषा को देखते हुए उन्हें ट्रेन में चढऩे से साफ मना कर दिया। इसके बाद उन्होंने अपना सफर अगली गाड़ी से जनरल कोच में पूरा किया। फिलहाल इस मामले में रेलवे ने जांच करने के लिए कहा है।


क्या है पूरा मामला

यह पूरा मामला 4 जुलाई का है। 72 साल के रामअवध दास इटावा स्टेशन पर खड़े होकर ट्रेन का इंतजार कर रहे थे। उन्हें कानपुर से दिल्ली आ रही शताब्दी एक्सप्रेस में चढऩा था। उनकी ट्रेन के रिजव्र्ड कोच नंबर सी-2 में बुकिंग थी। ट्रेन दो मिनट के लिए इटावा स्टेशन पर रुकती है। ट्रेन आई,वह जैसे ही कोच में चढऩे लगे उन्हें कोच अटेंडेंट ने ट्रेन में चढऩे नहीं दिया। 


वजह यह थी कि उन्होंने धोती पहनी हुई थी और हाथ मे एक कपड़े का झोला लिया हुआ था एवं एक छाता लिया हुआ था । इतना ही नहीं सबसे शर्म की बात ये हुई जब वहां मौजूद सुरक्षाकर्मी ने उन बुजुर्ग का मजाक बनाया। बताया जा रहा है कि बुजुर्ग के पास ट्रेन की कन्फर्म टिकट होने के बाद भी उन्हें ट्रेन से उतार दिया गया। जिसके बाद रामअवध दास ने रेल थाने मे इसकी शिकायत दर्ज कराई। ये बुजुर्ग बाराबंकी के ग्राम मूसेपुर थुरतिया का रहने वाला है। 

बुजुर्ग ने की स्टेशन मास्टर रामअवध जी से मुलाकात

रामअवध दास ने स्टेशन मास्टर को अपना टिकट दिखाया लेकिन दोनों में से किसी ने उनकी बात नहीं सुनी। ट्रेन महज दो मिनट के लिए ही रुकती है। लिहाजा वह आगे चल पड़ी और फिर क्या था रामअवध जी वहीं प्लेटफॉर्म पर खड़े रह गए। यह पूरी घटना होने के बाद उन्होंने तुंरत स्टेशन मास्टर प्रिंस राज यादव से मुलाकात की और शिकायत दर्ज करवाई। इसके बाद उन्हें रेलवे अधिकारी ने मगध एक्सप्रेस में सीट भी दी लेकिन वह नहीं गए। 


बुजुर्ग ने इस बात का उल्लेख शिकायती रजिस्टर में भी किया है। इस पूरी घटना पर रेल मंत्रालय ने संबंधित डीआरएम और आरपीएफ को कार्रवाई करने के निर्देश दिया है। वहीं इस घटना पर इटावा के रेलवे मास्टर ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया है।