कोलंबो : मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के बेटे ऑलराउंडर अर्जुन भारतीय अंडर-19 टीम की ओर से अपने पदार्पण अंतरराष्ट्रीय मैच में श्रीलंका के खिलाफ पहले युवा टेस्ट मैच में शून्य पर आउट हो गये। लेकिन उन्होंने ऐसा कर पिता सचिन की बराबरी कर ली जो अपने पदार्पण मैच में भी खाता नहीं खोल सके थे। भारत अंडर-19 और श्रीलंका अंडर-19 टीमों के बीच कोलंबो में खेले जा रहे पहले युवा टेस्ट मैच में भारतीय टीम की पहली पारी में अर्जुन नौवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिये उतरे लेकिन 11 गेंदों का सामना करने के बावजूद वह खाता नहीं खोल सके और शून्य पर आउट हो गये।

अर्जुन को श्रीलंका के शशिका दुलशान ने सूरियाबंदारा के हाथों कैच कराया। 18 वर्षीय ऑलराउंडर अर्जुन भले ही अपने पदार्पण मैच में खाता न खोल सके हों लेकिन उन्होंने महान भारतीय बल्लेबाज और अपने पिता सचिन के रिकार्ड की बराबरी जरूर कर ली जो पाकिस्तान के खिलाफ वर्ष 1989 में अपने वनडे पदार्पण में शून्य पर ही आउट हुये थे।

इससे पहले अर्जुन ने मैच में पहला अंतरराष्ट्रीय विकेट लेकर सुर्खियां बटोरी थीं। उन्होंने इसी मैच में श्रीलंकाई टीम की पहली पारी में 11 ओवर में 3 के अच्छे इकोनोमी रेट से 33 रन देकर एक विकेट लिया था। उन्होंने केवल 12 गेंदों बाद ही कामिल मिशारा का विकेट निकाला जो भारतीय अंडर-19 टीम के लिये उनका पहला विकेट है।