हाल ही में नॉर्थ-ईस्ट में स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण सर्वे किया गया है। इसमें कुछ यूं होता है कि जो जिला सबसे साफ-सुथरा होता है उसे सबसे स्वच्छ जिला घोषित किया जाता है। इसी साल अरुणाचल प्रदेश के तवांग जिले ने इस साल यह खिताब जीता है। ये सर्वे पूरे नॉर्थ-ईस्ट में किया गया था इसमें कुल 7 राज्य आते हैं।

यह सर्वे कि 698 जिलों पर

खबरों के अनुसार यह सर्वे नॉर्थ ईस्ट के 698 जिलों पर किया गया था। ये सर्वे पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय द्वारा करवाया गया है।

ये राज्य 35 वर्षों से है तंबाकू फ्री

बता दें कि तवांग बीते 35 सालों से तंबाकू फ्री है। यहां तक कि यहां पॉलिथीन का भी प्रयोग नहीं करते हैं। बीते साल 2018 में ‘हिमालयन क्लीन’ अभियान के दौरान 89 शहरों को एक दिन में ही प्लास्टिक फ्री किया गया था। एक-एक पॉलिथीन को उठाकर लोगों को संदेश दिया गया था कि भविष्य में ज्यादा कूड़ा ना फैलाएं जिसका परिणाम तवांग ने सही तरीके से दिया।

क्या बोले मुख्यमंत्री?

अरुणाचल प्रदेश के सीएम पेमा खांडू का कहना है कि इस बात का सारा श्रेय तवांग के डीसी को जाता है। उन्होंने यह भी कहा कि देश और बाकी राज्य के जिले के अधिकारियों को भी स्वच्छता को लेकर सोचना चाहिए और तवांग के नक्शे कदम पर आगे बढऩा चाहिए।

दिखाते हैं कुछ बेहतरीन तस्वीरें

सोशल मीडिया यूज़र्स ने यह तस्वीरें शेयर की हैं। वही तस्वीरें हम आपको दिखा रहे हैं।

यहां पर ज्यादा लोग घूमने के लिए जाते हैं

तवांग में लाग यात्रा के लिए जाते हैं। यहां पर विदेशी लोग बड़ी संख्या में आते हैं। यहां की स्वच्छता आपको तवांग में आने के लिए जरूर मजबूर कर देगी और आप ये देख पाएंगे कि आखिर सफाई क्या होती है।