भारतीय राजनीति के कद्दावर नेता और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी का गुरूवार शाम को 93 साल की उम्र में निधन हो गया। अटल जी ऐसे राजनीतिज्ञ थे जिनसे सिर्फ उनकी पार्टी के लोग ही नहीं बल्कि विपक्षी नेता भी प्यार करते है और आदर सम्मान करते है । अटल जी का व्यक्तित्व इतना सकारात्मक था और प्रेरणादायक था की दुनिया भर में लोग उनके जीवन से सीख लेते है।

अटल जी

भारत रत्न अटल जी के व्यक्तित्व में ऐसी कई ऐसी खूबियाँ थी जो उन्हें बाकी नेताओं से अलग बनाती थी। तो आईये जानते है क्या थी वो खूबियां जिनकी वजह से आज पूरा देश इस महान नेता को अंतिम श्रद्धांजलि देने के लिए उमड़ पड़ा है।

अटल जी की महान शख्सियत की झलकियाँ

1.प्रभावशाली वक्ता 

अटल जी

अटल जी को अपने प्रखर व्यक्तित्व के साथ साथ शब्दों का जादूगर माना जाता था। नेता चाहे उनकी पार्टी के हो या फिर विपक्ष सभी उनकी वाकपटुता के क़ायल थे। जब वो भाषण दिया करते थे तो हर कोई उनकी वाणी और तर्कों में खो जाते। तत्कालीन प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने अटल जी के व्यक्तित्व से प्रभावित होकर कहा थे की ये व्यक्ति एक दिन देश का प्रधानमंत्री जरूर बनेगा।

2.उदारवादी व्यक्तित्व

अटल जी

अटल जी कभी किसी विचारधारा से बंधे नहीं रहे और जब वो प्रधानमंत्री बने उन्होंने देश हिट में कई ऐसे काम किये जिनके लिए वो राजनीति के पटल पर हमेशा अमर रहेंगे। पाकिस्तान से रिश्ते सुधारने के लिए उन्होंने कश्मीर मसले का हल निकालने के लिए उन्होंने नहीं पहल की। कश्मीर के लिए उनकी नीति की आज भी तारीफ की जाती है।

3.कवि हृदय

अटल जी

अटल जी एक बेहतरीन कवि थे और भाषणों के दौरान उनके काव्य सुनने के के लिए बड़े बड़े राजनेता समय निकाला करते थे। उनके काव्य का जादू इतना प्रखर था की अपनी संवेदना को व्यक्त करने के लिए आज भी उनकी कविताओं का माध्यम अपनाया जाता है।

4.राजधर्म का संदेश

अटल जी

अटल जी हमेशा इंसानियत की बात करते थे और इन्होने कभी भी अपने पराये का भेद न कभी किया ना कभी होने दिया। गुजरात दंगों के समय उन्होंने सीएम नरेंद्र मोदी को ये सन्देश दिया था की वो सच्चा राजधर्म निभाए और प्रदेश में किसी प्रकार का भेदभाव न होने दें।

5.साहस

अटल जी

वाजपेयी जी को उनके साहसी व्यक्तित्व के लिए याद किया जाता है जिन्होंने दुनिया की महाशक्ति की परवाह ना करते हुए 1998 में पोखरण परमाणु परीक्षण किया था। दुनिया ने उनका विरोध किया था पर उन्होंने कभी किसी के आगे घुटने नहीं टेके। उनके इस महान व्यक्तित्व को हम सभी की ओर से शत शत नमन और भावपूर्ण श्रद्धांजलि।

वे 5 कदम, जिन्होंने तैयार किया नए भारत के लिए रास्ता