ऊँगली में अंगूठी पहनना न सिर्फ सौंदर्य का प्रतीक माना जाता है बल्कि ये ज्योतिष कारणों से भी बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है। सोना, चांदी, तांबा आदि की अंगूठी और छल्ले खूब पहने जाते है जिनके अपने अलग अलग प्रभाव है और आज हम आपको बता रहे है तांबे की अंगूठी या छल्ला धारण करने से क्या लाभ मिलते है।

तांबा धारण करने के फायदे

जिस तरह हर धातु का अपना अलग चमत्कारी लाभ होता है इसी तरह तांबा धातु ज्योतिष के अनुसार मंगल व सूर्य ग्रह को शांत रखता है साथ ही ये वास्तु दोष दूर करने के भी काम आता है।

तांबा धारण करने के फायदे

1.बताना चाहेंगे कि ज्योतिष शास्‍त्र के अनुसार, धातुओं और ग्रहों का धनिष्ठ संबंध है। अगर ग्रह विपरीत हो, तो व्यक्ति के जीवन पर नकारात्मक असर होता है। वही शुभ-अशुभ फल के पीछे भी यही ग्रह कारक होते हैं। ग्रह संबंधी धातु धारण करने से यह शांत हो जाते हैं।

तांबा धारण करने के फायदे

2. ऐसा कहा जाता है कि धातुओं में तांबा शुद्ध व शांत धातु मानी गई है। वही इसका संबंध मंगल व सूर्य से है। वही अगर सूर्य या मंगल कमजोर हो, तो तांबे की अंगूठी या छल्ला धारण करने से लाभ होता है। इसे धारण करने से असर जल्द ही दिखने लगता है।

तांबा धारण करने के फायदे

3.ये बोला जाता है कि तांबे का संबंध सूर्य से होता है और सूर्य को यश और सम्मान का प्रतीक माना जाता है। तांबे की अंगूठी धारण करने से व्यक्ति को समाज में पद-प्रतिष्ठा और सम्मान की प्राप्ति भी होती है। यह मनुष्य की प्रसिद्धि को बढ़ाने में भी सहायक होती है।

तांबा धारण करने के फायदे

4. कुंडली में सूर्य दोष हो, तो तांबे की अंगूठी को रिंग फिंगर में पहनना चाहिए। इस बारे में ज्योतिष शास्‍त्र ये कहता है कि यह धातु शांत प्रकृति की होती है और गर्मी दूर करती है। तांबा धारण करने से मन को शांति मिलती है।

तांबा धारण करने के फायदे

5.  वही अगर मानसिक विकार हो या गुस्सा अधिक आता हो, उसे तांबा धारण करना चाहिए। दरअसल वास्तुशास्‍त्र के मुताबिक, तांबा वास्तुदोष को भी दूर करता है। इससे बने बर्तन या आभूषण यदि घर मे हों, तो घर का माहौल शांतिपूर्ण बना रहता है और नकारात्मक ऊर्जा भी दूर होती है।

इन तीन राशि के लोगों के लिए सोना पहनना हो सकता है नुकसानदायक