आक के पत्ते के बारे में आप सभी ने जरूर सुना होगा। गांव में इसे मदार भी कहते हैं। ये एक ऐसा पौधा है जो कहीं भी किसी भी स्थान पर बड़ी आसानी से उग जाता है। लोग इसे बेकार समझ कर अंदेखा कर देते हैं। लेकिन क्या आप जानते है कि इस पत्ते के इस्तेमाल से हमे कितना फायदा हो सकता है। यदि आप भी जानना चाहते हैं आक के पौधे के जबरदस्त फायदों के बारे में तो पढ़े पूरी खबर।

आक के पत्ते का अपना महत्त्व है दिव्य औषिधि के रूप में…

चिकित्सा विज्ञान में कई सालों से आक के पत्ते को दिव्य औषिधि के रूप में पहचाना जाता है। आक के पत्ते के बारे में प्राचीन काल से ही एक अनोखी बात भी खूब प्रचलित है कि यह सूर्य के तेज के साथ बढ़ता है और सूर्य का प्रभाव जैसे ही कम होने लगता है तो इन आक के पत्तों का भी प्रभाव कम हो जाता है।

 

वहीं बारिश के दिनों में इस पौधे का प्रभाव बिल्कुल खत्म जैसा ही हो जाता है। सूर्य को जितने नामों से जाना जाता है उनते ही नाम से आक के पत्ते को भी। इसकी वैसे तो 4 प्रजातियां होती है लेकिन भारत में सिर्फ दो ही मुख्य रूप से पायी जाती है।

शरीरिक में अनेक प्रकार से होने वाले दर्द से निजात दिलाए आक का पत्ता…

आक के पत्ते से हर किसी बीमारी से आसानी से निजात पाया जा सकता है। लेकिन आज हम आपको शारीरिक दर्द से छुटकारा दिलाने के लिए आक के पत्तो का उपयोग कैसे करें इस बारे में बताएंगे जिससे आपको कुछ ही समय में आराम मिल जाएगा। लेकिन आपको आक के पत्ते को इस्तेमाल करने से पहले कुछ सावधानी बरतनी होंगी।

इन चीज़ों की रखें सावधानी…

आक के पत्ते का प्रयोग करने से पहले हमेशा ध्यान रखे कि इस पत्ते से निकलने वाला दूध आपकी आंखो में गलती से भी नहीं जाना चाहिए क्योंकि इससे आंखो में अंधापन आ सकता है। आइए जानते है इस औषधि के विभिन्न प्रयोग।

1.एड़ी का दर्द

यदि किसी को एड़ी में दर्द है तो आप आक के 15 फूलों को एक कटोरी पानी में उबाल लो। उबालने के बाद फूलों को और पानी दोनों को अलग कर लें। इस पानी से आप अब आपने पानी की घुलाई करें। फिर बाद में इन फूलों को अच्छेे से निचुड़ जाने के बाद किसी सूती कपड़े की सहायता से एड़ी पर बांध लें। 10-15 दिनों तक ऐसा लगातार करने से आप आपको जल्द ही दर्द में राहत मिलेगी।

2.घुटनों का दर्द

यदि किसी इंसान को घुटनों के दर्द की पेरशानी है तो वह दोपहर के समय आक की ताजी डंडी से दूध निकाल कर इसको हलके हाथ से घुटनों पर मालिश करे तो आपका दर्द जल्दी ही खत्म हो जाएगा। लेकिन ध्यान रखें मालिश तब तक करें जब तक ये पुरा अवशेषित न हो जाए।

3.कमर का दर्द

ज्यादातर लोगों को कमर दर्द की शिकायत रहती है। ऐसे में आक के दूध को थोड़े काले तिलो के साथ कूट लें। फिर इसका पतला सा लेप तैयार कर लें और इस लेप को गर्म करके जिस जगह दर्द हो रहा है वहां अच्छे से मालिश करें जब तक ये तेल गायब न हो जाए। इसके बाद आक के पत्ते पर सरसों का तेल चुपड़ कर अपनी कमर पर बांध ले।