BREAKING NEWS

हमारा ध्यान देश की विरासत और संस्कृति बचाने पर : PM मोदी◾मोदी सरकार चेहरे पर कुछ और बोलती है, लेकिन अपने बगल में खंजर रखती है : दर्शन पाल◾किसानों को डर दिखाकर बहकाया जा रहा है, कृषि कानून पर बैकफुट पर नहीं आएगी सरकार : PM मोदी◾किसानों ने दिल्ली को चारों तरफ से घेरने की दी चेतावनी, कहा- बुराड़ी कभी नहीं जाएंगे◾दिल्ली में लगातार दूसरे दिन संक्रमण के 4906 नए मामले की पुष्टि, 68 लोगों की मौत◾महबूबा मुफ्ती ने BJP पर साधा निशाना, बोलीं- मुसलमान आतंकवादी और सिख खालिस्तानी तो हिन्दुस्तानी कौन?◾दिल्ली पुलिस की बैरिकेटिंग गिराकर किसानों का जोरदार प्रदर्शन, कहा- सभी बॉर्डर और रोड ऐसे ही रहेंगे ब्लॉक ◾राहुल बोले- 'कृषि कानूनों को सही बताने वाले क्या खाक निकालेंगे हल', केंद्र ने बढ़ाई अदानी-अंबानी की आय◾अमित शाह की हुंकार, कहा- BJP से होगा हैदराबाद का नया मेयर, सत्ता में आए तो गिराएंगे अवैध निर्माण ◾अन्नदाआतों के समर्थन में सामने आए विपक्षी दल, राउत बोले- किसानों के साथ किया गया आतंकियों जैसा बर्ताव◾किसानों ने गृह मंत्री अमित शाह का ठुकराया प्रस्ताव, सत्येंद्र जैन बोले- बिना शर्त बात करे केंद्र ◾बॉर्डर पर हरकतों से बाज नहीं आ रहा पाक, जम्मू में देखा गया ड्रोन, BSF की फायरिंग के बाद लौटा वापस◾'मन की बात' में बोले पीएम मोदी- नए कृषि कानून से किसानों को मिले नए अधिकार और अवसर◾हैदराबाद निगम चुनावों में BJP ने झोंकी पूरी ताकत, 2023 के लिटमस टेस्ट की तरह साबित होंगे निगम चुनाव ◾गजियाबाद-दिल्ली बॉर्डर पर डटे किसान, राकेश टिकैत का ऐलान- नहीं जाएंगे बुराड़ी ◾बसपा अध्यक्ष मायावती ने कहा- कृषि कानूनों पर फिर से विचार करे केंद्र सरकार◾देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 94 लाख के करीब, 88 लाख से अधिक लोगों ने महामारी को दी मात ◾योगी के 'हैदराबाद को भाग्यनगर बनाने' वाले बयान पर ओवैसी का वार- नाम बदला तो नस्लें होंगी तबाह ◾वैश्विक स्तर पर कोरोना के मामले 6 करोड़ 20 लाख के पार, साढ़े 14 लाख लोगों की मौत ◾सिंधु बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन जारी, आगे की रणनीति के लिए आज फिर होगी बैठक ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

बंगाल में होती है दो तरह की दुर्गा पूजा, जानें किस तरह से हैं दोनों एक-दूसरे से बिल्कुल अलग

बंगाल में दुर्गा पूजा का सबसे ज्यादा महत्व माना जाता है। नवरात्रि के पवन अवसर पर पश्चिम बंगाल कोलकाता में दुर्गा पूजा प्रमुख त्योहार के रूप में मनाया जाता है। यहां की भव्य दुर्गा पूजा देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं।  वैसे तो इस बात में कोई दोराए नहीं है कि कोलकाता अपनी अनोखी व प्रमुख परंपरा के लिए काफी ज्यादा मशहूर है। 

यहां पर पूजा के चार दिन सबसे ज्यादा खास और मनमोहक होते हैं। इसी के साथ सभी आपस में मिल जुलकर एक-दूसरे के साथ अपनी खुशियां बांटते हैं। विश्वभर में प्रसिद्घ कोलकाता की दुर्गा पूजा में परंपरागत सभी काम किए जाते हैं। भले पूजा कैसी क्यों न दिखे लेकिन कोलकाता में दुर्गा पूजा की अपनी अलग विशेषताएं हैं। 

यही वो विशेषताएं हैं जो कोलकाता की दुर्गा पूजा को सबसे ज्यादा अलग बनाती है। एक खास बात आपको और बता दें कि जो दुर्गा पूजा सिर्फ यहां होती है वो एक नहीं बल्कि दो तरह से होती है। जी हां आपको बता दें कि कोलकाता में दुर्गा पूजा दो तरह से मनाई जाती है। पहली पारा और दूसरी बारिर। तो आइए जानते हैं कैसे होती है यह दोनों पूजा...

पारा दुर्गा पूजा

कोलकाता में दो तरह की दुर्गा पूजा मनाई जाती है। जिसमें रस्मों के अलावा सबकुछ अलग होता है। यह  अलग तरीके से मनाई जाती है। परंपरा के मुताबिक यह एक होती है पारा दुर्गा पूजा यानि स्थानीय दुर्गा पूजा जो सामान्यत:पंडालों और कम्यूनिची हॉल में होती है। इसका मतलब हुआ रोशनी,डिजाईन्स,थीम बेस्ड और भीड़ का एक भव्य आयोजन होना।

बारिर दुर्गा पूजा

वहीं उत्तरी कोलकाता आर दक्षिण कोलकाता में बारिर परंपरा के मुताबिक दुर्गा पूजा की जाती है। बारिर यानि की घर में पूजा। इस पूजा का एक घरेलू प्रभाव होता है यह घर वापसी की भावना के साथ लोगों को अपनी  जड़ों के करीब लाती है। वैसे यह पूजा सामान्यत धनी परिवारों में की जाती है।