BREAKING NEWS

आज का राशिफल (29 सितंबर 2022)◾दिग्विजय बनाम थरूर की ओर बढ़ रहा कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव◾दिल्ली पहुंचे गहलोत ने सोनिया के नेतृत्व को सराहा व संकट सुलझने की जताई उम्मीद ◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की सुनील छेत्री की सराहना◾टाट्रा ट्रक भ्रष्टाचार मामले में पूर्व रक्षा मंत्री ए के एंटनी से की गई जिरह◾PFI से पहले RSS पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए था - लालू◾IND vs SA (T20 Match) : भारत ने पहले टी20 मैच में दक्षिण अफ्रीका को 8 विकेट से हराया◾Ukraine crisis : यूक्रेन संकट का स्वरूप अंतरराष्ट्रीय समुदाय के लिए ‘घोर चिंता’ का विषय - भारत◾Uttar Pradesh: फरार नेता हाजी इकबाल की अवैध खनन से अर्जित करोड़ों की सम्पत्ति कुर्क◾कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव : प्रियंका संभाले पार्टी की कमान, सांसद खालिक ने दिया बेतुका तर्क ◾सीडीएस नियुक्ति :चौहान ने सर्जिकल स्ट्राइक में निभाई थी अहम भूमिका, रिटायर होने के बाद भी केंद्र ने सौंपी जिम्मेदारी ◾महंगाई की जड़ 'मोदी'! कांग्रेस का BJP पर कटाक्ष- केंद्र की दमन नीतियों के कारण गरीब का हो रहा शोषण ◾रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान होंगे देश के नए चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ ◾पाकिस्तान में चीनी नागरिक की हत्या, डेंटल क्लीनिक में मरीज बनकर दाखिल हुआ था हमलावर ◾केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा संगठन पर प्रतिबंध लगाने के निर्णय को स्वीकार करते है: PFI ◾पीएम मोदी ने कहा- 80 करोड़ लोगों को गरीब कल्याण अन्न योजना के विस्तार से मिलेगा फायदा◾गुजरात विधानसभा चुनाव : हीरा कारोबारी ने जॉइन की बीजेपी, पूर्व में कर्मचारियों को 'आप' से दूर रहने के लिए कहा था ◾Gold today Price: खुशखबरी-खुशखबरी! त्यौहारों से पहले सस्ता हुआ सोना, फटाफट इतने में खरीदे 10gm Gold ◾कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव में दिग्विजय सिंह की एंट्री, मुकाबला कड़ा होने की आशंका ◾गुलाम अली, बिप्लब देब ने राज्यसभा की सदस्यता की शपथ ली◾

भागलपुर दंगा : केन्द्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अर्जित शाश्वत ने किया सरेंडर

रामनवमी तथा हिंदू नववर्ष के मौके पर बिहार के भागलपुर में एक धार्मिक जुलूस के दौरान दो समुदायों के बीच हुई झड़प के मामले में केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अरिजित शाश्वत ने शनिवार देर रात करीब 12 बजे पटना के महावीर मंदिर के सामने सरेंडर कर दिया। इससे पहले शनिवार को भागलपुर की अदालत ने अर्जित की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी थी। याचिका रद्द होने के बाद अरिजित ने शनिवार देर शाम पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया।

अपने समर्थकों के साथ पुलिस थाने पहुंचे अरिजित ने मीडिया को बताया कि वह निर्दोष हैं और उन्हें एक राजनीतिक साजिश के तहत फंसाया जा रहा है। अरिजित के पिता अश्विनी चौबे ने अपने बेटे पर लगे आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए इसके लिए कांग्रेस और आरजेडी को जिम्मेदार ठहराया। बता दें कि 17 मार्च को एक धार्मिक जुलूस निकाला गया था। इस जुलूस का नेतृत्व अरिजित शाश्वत कर रहे थे। जुलूस में बज रहे डीजे पर आपत्तिजनक गाने बजाए जाने पर एक समुदाय के लोगों ने इसका विरोध किया।

यह विवाद इतना बढ़ गया कि देखते ही देखते दो समुदाय के लोग आमने-सामने भिड़ गए और पथराव होने लगा। इस दौरान गोली चलने की भी खबर है। भीड़ ने कई दुकानों में तोड़फोड़ की और उनमें आग लगा दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने दंगाइयों को काबू करने के लिए बल का प्रयोग किया। इस दौरान कई पुलिसकर्मी सहित एक दर्जन से अधिक लोग घायल हुए थे। भागलपुर में हुए इस उपद्रव ने बिहार की राजनीति में भूचाल मचा दिया।

पुलिस ने अरिजित समेत 9 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। इसमें पुलिस ने आरोप लगया कि बिना पुलिस की अनुमति के यह जुलूस निकाला गया था।अरिजित ने गिरफ्तारी से बचने के लिए कोर्ट में याचिक दायर की थी, जिसे कोर्ट ने एक घंटे की बहस सुनने के बाद खारिज कर दिया था।

24X7  नई खबरों से अवगत रहने के लिए यहाँ क्लिक करें।