BREAKING NEWS

राम मंदिर भूमि पूजन : अयोध्या में PM मोदी ने रामलला के किए दर्शन, कार्यक्रम की हुई शुरुआत ◾अनुच्छेद 370 को निरस्त किए जाने का एक वर्ष पूरा, लाल चौक पर BJP कार्यकर्ता रम्यसा रफीक ने लहराया तिरंगा◾World Corona : विश्व में संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 85 लाख के पार, 7 लाख से अधिक लोगों की मौत ◾देश में कोरोना संक्रमण के 52 हजार 509 नए मामलों की पुष्टि, संक्रमितों की संख्या 19 लाख के पार◾LAC विवाद : भारत के शीर्ष सैन्य और रणनीतिक पदाधिकारियों ने पूर्वी लद्दाख में की हालात की समीक्षा◾राम मंदिर भूमि पूजन : PM मोदी के आगमन के लिए फूलों से सजकर तैयार है हनुमान गढ़ी मंदिर ◾ राम मंदिर भूमि पूजन से एक दिन पहले मिट्टी के दीपों ने नगरी के संध्याकाल को बनाया 'दिव्य' ◾सालों का इंतजार हुआ खत्म, PM मोदी आज अयोध्या में करेंगे राम मंदिर का भूमि पूजन, जानिए PM मोदी का पूरा कार्यक्रम◾लेबनान की राजधानी बेरूत में भयानक विस्फोट, 10 लोगों की मौत, कई लोग घायल ◾पाक के नए नक्शे को कांग्रेस ने बताया काल्पनिक, कहा- इससे तथ्य बदलने वाले नहीं ◾अयोध्या समारोह पर बोले BJP नेता लालकृष्ण आडवाणी- मंदिर ‘वास्तविक’ और ‘छद्म’ धर्मनिरपेक्षता के संघर्ष का प्रतीक◾महाराष्ट्र में कोरोना का विस्फोट जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 4.57 लाख के पार, बीते 24 घंटे में कोरोना के 7,760 नए केस◾पाकिस्तान द्वारा जारी नक्शे को भारत ने बताया मूर्खता, विदेश मंत्रालय ने कहा- इसकी कोई वैधता नहीं◾राजस्थान : सचिन पायलट के करीबी विधायकों ने कहा- गहलोत की ‘तानाशाहीपूर्ण’ कार्यशैली के खिलाफ लड़ेगे◾कर्नाटक में कोरोना का विस्फोट जारी, बीते 24 घंटे में 6,259 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 1.45 लाख के पार ◾नेपाल की राह पर पाकिस्तान, इमरान सरकार ने पास किया विवादित नक्शा, कश्मीर को बताया PAK का हिस्सा◾दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना के 674 नए मामलों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा 1.39 लाख के पार ◾केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान कोरोना पॉजिटिव, डॉक्टरों की सलाह पर अस्पताल में भर्ती◾उप्र : 24 घंटे में कोरोना के 2948 नए मामले की पुष्टि, 41 लोगों की मौत◾कोरोना के 82 फीसद मामले केवल 10 राज्यों में, मृत्युदर तेजी से घटकर 2.10 % हुई : स्वास्थ्य मंत्रालय◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

पिज्जा कंपनी को ग्राहक से कैरी बैग के लिए 14 रुपए लेना पड़ा महंगा, अब भरा 10 लाख रुपए का जुर्माना

जब कभी हम मॉल या किसी फूड स्टोर पर जाते हैं तब वहां हमें सामान के साथ-साथ कैरी बैग के पैसे भी अलग से देने पड़ते हैं। वैसे तो लोगों का कैरी बैग के पैसे देने का बिल्कुल भी मन नहीं होता है लेकिन उन्हें फिर भी बेमन से पैसे देने ही पड़ते हैं। मगर हाल ही में चंड़ीगढ़ में एक पिज्जा कंपनी को ग्राहक से कैरीबैग के लिए 14 रुपए चार्ज करना काफी ज्यादा मंहगा पड़ गया है। जी हां क्योंकि इसके बदले अब कंपनी को 10 लाख रुपए चुकाने पड़ गए हैं। 

दरअसल हुआ कुछ यूं कि चंडीगढ़ में इस पिज्जा कंपनी ने एक शख्स से कैरीबैग के 14 रुपए अलग से चार्ज कर लिए थे। इसे शख्स ने उपभोक्ता फोरम के आदेशों को स्टेट कमीशन में चुनौती दी थी। स्टेट कमीशन ने उपभोक्ता फोरस के आदेश को सही ठहराते हुए दो अलग-अलग मामलों पर पिज्जा कंपनी पर करीब 10 लाख रुपए का जुर्माना लगा दिया है। 

इसके साथ ही कंपनी की वाट लगा दी है। कमीशन के अनुसार कंपनी लोगों की मजबूरी का कोई फायदा नहीं उठाना चाहिए। इतना ही नहीं कंपनी ने अपनी सफाई देते हुए यह भी कहा है कि वह पिज्जा को पहले से ही एक कार्डबोर्ड बॉक्स में पैक कर उपभोक्ता को देते हैं। ऐसे में वो किसी को कैरीबैग नहीं देर सकते हैं। 

जिस शख्स ने पिज्जा कंपनी के खिलाफ शिकायत की है उसका नाम पंकज चांदगोठिया है। वो सेक्टर-28 सी का निवासी है। पेशे से यह शख्स वकील है। उन्होंने उपभोक्ता फोरम में सेक्टर-68 स्थित डोमिनोज जुबिलेंट फूड वक्र्स लिमिटेड के खिलाफ शिकायत करी थी। उन्होंने बताया था कि दो पिज्जा लेने के लिए उन्होंने अपने ड्राइवर को स्टोर में भेजा था। 


इन दो रेगुलर पिज्जा के लिए 306 रुपए मांगे थे। लेकिन जब बिल में देखा तो उसमें कैरीबैग के 14 रुपए एक्ट्रा लिए गए थे। इस दौरान पंकज ने पिज्जा कंपनी पर यह आरोप लगाया कि स्टोर में कहीं भी इस बात का जिक्र नहीं किया गया था कि कैरीबैग के अलग से पैसे क्यों चार्ज किए जाएंगे। 

वहीं फोरम ने 14 रुपए वापस करने व मानसिक पीड़ा एंव उत्पीडऩ के लिए 100 रुपए का मुआवजा और 500 रुपए मुकदमा खर्च देने के निर्देश दिए गए। इसके साथ ही कंपनी को राज्य उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग चंडीगढ़ के सेक्रेटरी के नाम पर कंज्यूमर लीगल ऐड अकाउंट में 10 हजार रुपए भी जमा करवाने के लिए कहा गया है। वैसे तो इन सभी चीजों से पिज्जा कंपनी ने स्टेट कमीशन में चुनौती दे दी। बावजूद इसके वहां भी उपभोक्ता की जीत हुई। पूरे एक साल केस चलने के बाद कंपनी को 10 लाख रुपए का हर्जाना भुगतना पड़ा।