अक्सर हमने फिल्म इंडस्ट्री में जानवरो और जीव-जंतु के साथ कलाकारों को शूटिंग करते हुए देखा होगा। लेकिन कब जानवर अपनी हिंसात्मक प्रवर्ति में आ जाए कहा नहीं जा सकता। ऐसा एक मामला सामने आया है, हालाँकि जानवरो के साथ शूटिंग के वक़्त एनिमल एक्सपर्ट साथ होते है फिर भी जानवर तो जानवर होता है।

दरअसल पश्चिम बंगाल के उत्तरी 24 परगना जिले में एक नाट्य मंचन के दौरान जिंदा सांप का इस्तेमाल किया गया जिसका हर्ज़ाना उस 63 वर्षीय अभिनेत्री को भुगतना पड़ा। नाटक के दौरान उस सांप ने उसे काट लिया जिसके बाद उसकी मौत हो गयी। मिली जानकारी के अनुसार, वरुणहाट निवासी मनोरंजन दास के घर हर साल मां मनसा की पूजा के अवसर पर वर्षों से नाटक का मंचन होता आ रहा है।

हमेशा नाटक में प्लास्टिक के सांप का इस्तेमाल किया जाता था, लेकिन इस बार नाटक देखने आये दर्शकों को चौंकाने के लिए नाटक में काम कर रही अभिनेत्री कालीदासी मंडल के हाथ में एक जहरीला सांप दे दिया गया। उसी जहरीले सांप को लेकर अभिनेत्री कालीदासी मंडल नाटक में अभिनय कर रही थीं। दुलाल बिश्वास नामक एक ओझा दो सांप लेकर आया था, जिसके लिए उसे 4,000 रुपये दिये गये थे।

असली सांप को लेकर अभिनय करने के दौरान उस सांप ने अभिनेत्री कालीदासी मंडल के हाथ में काट लिया। सांप इतना जहरीला था कि पल भर में मंच पर ही उसकी मौत हो गयी। मौत की सुनते ही गुस्साये लोगों ने मनोरंजन दास के घर में तोड़फोड़ की। आरोप है कि सांप के काटने के बाद भी कालीदासी मंडल को किसी अस्पताल में नहीं ले जाया गया,

बल्कि उसी मंच पर चार घंटे तक ओझा झाड़फूंक कर उसे ठीक करने की कोशिश करता रहा। अंत में जब अभिनेत्री को अस्पताल ले जाया गया तो वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। वन विभाग ने दिया कार्रवाई का आश्वासन।

घटना के बाद वन विभाग के मुख्य वनपाल रविकांत सिन्हा ने कहा कि सांप को लेकर खेल दिखाना गैरकानूनी है। इस के लिए विशेष इजाजत लेनी पड़ती है। इस तरह की घटना को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। शिकायत दर्ज होने पर हमलोग कार्रवाई करेंगे।

अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये की पंजाब केसरी अन्य रिपोर्ट