BREAKING NEWS

पश्चिम बंगाल के नदिया जिले में ट्रक से टकराया वाहन, 18 लोगों की मौत◾दिल्ली की बी के दत्त कॉलोनी के लोगों को हर महीने मिलेगा 20,000 लीटर मुफ्त पानी : केजरीवाल◾भारत, मालदीव व श्रीलंका ने किया समुद्री अभ्यास ◾ठाणे में दक्षिण अफ्रीका से लौटे यात्री कोरोना वायरस संक्रमित , ओमीक्रोन स्वरूप की नहीं हुई पुष्टि◾TET परीक्षा : सरकार अभ्यर्थियों के साथ-योगी, विपक्ष ने लगाया युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ का आरोप◾संसद में स्वस्थ चर्चा चाहती है सरकार, बैठक में महत्वपूर्ण मुद्दों को हरी झंडी दिखाई गई: राजनाथ सिंह ◾त्रिपुरा के लोगों ने स्पष्ट संदेश दिया है कि वे सुशासन की राजनीति को तरजीह देते हैं : PM मोदी◾कांग्रेस ने हमेशा लोगों के मुद्दों की लड़ाई लड़ी, BJP ब्रिटिश शासकों की तरह जनता को बांट रही है: भूपेश बघेल ◾आजादी के 75 वर्ष बाद भी खत्म नहीं हुआ जातिवाद, ऑनर किलिंग पर बोला SC- यह सही समय है ◾त्रिपुरा नगर निकाय चुनाव में BJP का दमदार प्रदर्शन, TMC और CPI का नहीं खुला खाता ◾केन्द्र सरकार की नीतियों से राज्यों का वित्तीय प्रबंधन गड़बढ़ा रहा है, महंगाई बढ़ी है : अशोक गहलोत◾NFHS के सर्वे से खुलासा, 30 फीसदी से अधिक महिलाओं ने पति के हाथों पत्नी की पिटाई को उचित ठहराया◾कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रॉन को लेकर सरकार सख्त, केंद्र ने लिखा राज्यों को पत्र, जानें क्या है नई सावधानियां ◾AIIMS चीफ गुलेरिया बोले- 'ओमिक्रोन' के स्पाइक प्रोटीन में अधिक परिवर्तन, वैक्सीन की प्रभावशीलता हो सकती है कम◾मन की बात में बोले मोदी -मेरे लिए प्रधानमंत्री पद सत्ता के लिए नहीं, सेवा के लिए है ◾केजरीवाल ने PM मोदी को लिखा पत्र, कोरोना के नए स्वरूप से प्रभावित देशों से उड़ानों पर रोक लगाने का किया आग्रह◾शीतकालीन सत्र को लेकर मायावती की केंद्र को नसीहत- सदन को विश्वास में लेकर काम करे सरकार तो बेहतर होगा ◾संजय सिंह ने सरकार पर लगाया बोलने नहीं देने का आरोप, सर्वदलीय बैठक से किया वॉकआउट◾TMC के दावे खोखले, चुनाव परिणामों ने बता दिया कि त्रिपुरा के लोगों को BJP पर भरोसा है: दिलीप घोष◾'मन की बात' में प्रधानमंत्री ने स्टार्टअप्स के महत्व पर दिया जोर, कहा- भारत की विकास गाथा के लिए है 'टर्निग पॉइंट' ◾

इस 83 साल के बुजुर्ग ने हरी-भरी दुनिया कायम रखने के लिए लगाए 1 करोड़ से ज्यादा पेड़-पौधे

ऐसे लोग जो अपने से ज्यादा प्रकृति की चिंता करते हैं वह इस बात से जरूर वाकिफ होंगे आखिर उन्हें बीज से पौधा और पौधे से पेड़ बनते देखने में कितना समय लगता है और जिसने इस पेड़ को लगाया है उसे  कितना अच्छा लगता है। ऐसे ही एक बुजुर्ग दारिपल्ली रामैया भी हैं जो ‘ट्री मैन’ के नाम से भी लोगों के बीच मशहूर हैं। बता दें 83 साल के ये ‘ट्री मैन’ अब तक करीब 1 करोड़ से ज्यादा पेड़ लगा चुके हैं।


लोग कहते थे पागल

इस बूढ़े दादा की पेड़ों और हरियाली के प्रति ऐसे जुनून के लिए लोगों ने उन्हें ‘पागल’ करारा दिया था। मगर जब उन्हें साल 2017 में भारत सरकार की तरफ से इसी नेक काम के लिए ‘पद्मश्री सम्मान’ मिला तो सभी की बोलती बंद हो गयी और लोग उनकी खूब तारीफ करने लगे।

जहां भी दिख जाए खाली जगह 

ऐसा नहीं है वो पहले से ही इतने पेड़-पौधे लगाते आ रहे हैं,उनका तो अचानक ही प्रकृति की ओर प्रेम बढ़ गया है। दरअसल पर्यावरण प्रदूषण के ज्यादा होने की वजह से मन विचलित हुआ और उन्होंने इस नए अभियान की शुरुआत की। दारिपल्ली रामैयाअपनी जेब में बीज और साईकिल पर पौधे रखकर जिले का लंबा सफर तय करने लगे। 

जहां भी उन्हें खाली जगह दिखती वहीं वो पौधे लगा देते। सबसे पहली शुरुआत उन्होंने तेलंगाना के खम्मम जिले के रेड्डिपल्लि गांव से की। पर्यावरण प्रेमी ये बुजुर्ग खुद ही पेड़-पौधों की देख-रेख भी करते हैं। अगर कोई पेड़ सूख जाता है उन्‍हें दुःख होता है। वो पेड़ों को बच्‍चे की तरह ही पालते हैं। 

इतना ही नहीं उनको पेड़-पौधों के बारे में इतना पता लग चूका है कि आज उनके पास 600 से ज्यादा किस्म के बीज हैं,जिनकी गुणवत्ता का ज्ञान उनको कई पढ़े-लिखे और पर्यावरण विद लोगों से ज्यादा ही है। हालांकि दारिपल्ली रामैया ज्यादा पढ़े-लिखे भी नहीं। इतना ही नहीं हरियाली और वृक्षारोपण के प्रति जागरुक करने वाले रमैया ने अपनी तीन एकड़ जमीन तक बेच दी थी ताकि इन पैसो से वो बीज और पौधे खरीद पाए।