लड़का हो या लड़की शॉपिंग में तो सभी की दिलचस्पी होती और बात अगर बजट शॉपिंग की हो तो फिर कहने ही क्या। अगर आप दिल्ली में कम दाम वाली शॉपिंग करना चाहते हैं तो हम आपको बता रहे हैं ऐसे मार्केट के बारे में जो पूरे देश में मशहूर है। दिल्ली का चोर बाजार (संडे मार्केट)। जी हां ये ऐसा बाजार है जहां आपको कपड़े-जूतो से लेकर गैजेट्स और रोजमर्रा की जरूरत का लगभग हर सामान मिल जाएगा।आइए जानते हैं इस हटकर मार्केट की कुछ बातें।

 लड़का हो या लड़की शॉपिंग में तो सभी की दिलचस्पी होती और बात अगर बजट शॉपिंग की हो तो फिर कहने ही क्या. अगर आप दिल्ली में कम दाम वाली शॉपिंग करना चाहते हैं तो हम आपको बता रहे हैं ऐसे मार्केट के बारे में जो पूरे देश में मशहूर है. दिल्ली का चोर बाजार (संडे मार्केट). जी हां ये ऐसा बाजार है जहां आपको कपड़े-जूतो से लेकर गैजेट्स और रोजमर्रा की जरूरत का लगभग हर सामान मिल जाएगा. आइए जानते हैं इस हटकर मार्केट की कुछ बातें.

आपसे कोई अगर कहे कि सुबह 6 बजे शॉपिंग करनी है तो आप निश्चित ही उसे बेवकूफ कहेंगे। लेकिन यहां का मामला अलग है। यहां शॉपिंग के लिए सुबह 6 बजे आना एकदम मुफीद वक्त माना जाता है।

 इसकी शुरुआत कपड़ों से होती है और यह हार्डवेयर, टूल्स पर आकर खत्म होता है. अगर आपके अंदर बार्गेनिंग करने की कला है तो आप यहां जरूर जाइए.

ये बाजार पुरानी दिल्ली में लाल किले के पास ही लगता है। चोर बाजार में वैरायटी की भरमार है। कपड़े, जूते, किताबें… हर शख्स को यहां अपनी जरूरत का लगभग हर सामान मिल सकता है।

 ये मार्केट रविवार को लगता है और दिल्ली गेट के बाद ही बसें मुड़ जाती हैं और आपको दरियागंज से लाल किले तक के इस बाजार का सफर पैदल ही करना पड़ता है. ऐसे वक्त में धैर्य के साथ आपको यह भी पता होना चाहिए कि कौन सी चीजें कहां मिलती हैं. जैसे किताबें आपको दरियागंज वाले हिस्से में मिल जाएंगी, अच्छे कपड़े आपको जामा मस्जिद से पहले वाली लाल बत्ती के पास मिल जाएंगे. जूते आपको दरियागंज वाली लाल बत्ती के पास मिलेंगे.

इसकी शुरुआत कपड़ों से होती है और यह हार्डवेयर, टूल्स पर आकर खत्म होता है। अगर आपके अंदर बार्गेनिंग करने की कला है तो आप यहां जरूर जाइए।

ये मार्केट रविवार को लगता है और दिल्ली गेट के बाद ही बसें मुड़ जाती हैं और आपको दरियागंज से लाल किले तक के इस बाजार का सफर पैदल ही करना पड़ता है। ऐसे वक्त में धैर्य के साथ आपको यह भी पता होना चाहिए कि कौन सी चीजें कहां मिलती हैं। जैसे किताबें आपको दरियागंज वाले हिस्से में मिल जाएंगी, अच्छे कपड़े आपको जामा मस्जिद से पहले वाली लाल बत्ती के पास मिल जाएंगे। जूते आपको दरियागंज वाली लाल बत्ती के पास मिलेंगे।

 ये बाजार पुरानी दिल्ली में लाल किले के पास ही लगता है. चोर बाजार में वैरायटी की भरमार है.कपड़े, जूते, किताबें... हर शख्स को यहां अपनी जरूरत का लगभग हर सामान मिल सकता है.

यहां आपको वूडलैंड, क्लार्क्स, जारा जैसे ब्राडेंड कपड़े  500 रुपए में मिल जाएंगे। और तो और किताबों का भाव यहां किलो के हिसाब से होता है। ध्यान रहे, इस बाजार में मौजूद चीजे डैमेज या तो वह सेकेंड हैंड हो सकती हैं। जो महंगे ब्रैंड्स जो यहां सस्ते दामों पर मिलते हैं वह फैक्ट्री से रिजेक्ट किए जाते हैं।

आपको यहां जिमिंग के सामान, स्पोर्ट्स के सामान जैसे क्रिकेट बैट, बॉल्स, बैडमिंटन से लेकर स्किपिंग रोप्स जैसे तमाम सामान मिल जाएंगे। आपको कार्पेट ट्रेडर्स भी खूब मिलेंगे।

 आपको यहां जिमिंग के सामान, स्पोर्ट्स के सामान जैसे क्रिकेट बैट, बॉल्स, बैडमिंटन से लेकर स्किपिंग रोप्स जैसे तमाम सामान मिल जाएंगे. आपको कार्पेट ट्रेडर्स भी खूब मिलेंगे.

यहां पहुंचने का करीबी मेट्रो स्टेशन चांदनी चौक हैं। रेलवे स्टेशन पुरानी दिल्ली है. आने का उत्तम समय सुबह 6 बजे से सुबह 10 बजे तक है।

यहां की बेतहाशा भीड़ आपको परेशान भी कर सकती है। और हां, यहां घूम रहे जेबकतरे कभी भी आपके लिए परेशानी खड़ी कर सकते हैं तो आप अपना सामान और पर्स बचाकर रखें।

 यहां की बेतहाशा भीड़ आपको परेशान भी कर सकती है. और हां, यहां घूम रहे जेबकतरे कभी भी आपके लिए परेशानी खड़ी कर सकते हैं तो आप अपना सामान और पर्स बचाकर रखें.देश की हर छोटी-बड़ी खबर जानने के लिए पड़े पंजाब केसरी अख़बार।