BREAKING NEWS

Punjab: मुख्यमंत्री भगवंत मान बोले- पंजाब से अमेरिका और कनाडा के लिए उड़ान शुरू की जाए◾हफ्ते में 4 दिन काम, 2 दिन लॉकडाउन...,पाकिस्तान हुकूमत ने पेट्रोल की किल्लत से बचने के लिए बनाया ये प्लान◾Haryana Election: 19 जून को होंगे नगर निकाय के चुनाव, यहां देखें- कब होगी मतगणना◾ज्ञानवापी के बाद आई ईदगाह मस्जिद की बारी? हिंदू महासभा ने किया यह बड़ा दावा, याचिका दाखिल ◾ राजधानी में राहत के साथ आफत लेकर आई बारिश, खराब मौसम के चलते दिल्ली आ रही 19 फ्लाइट हुई डायवर्ट◾नेताओं की ‘बेवकूफी’ एक्सेलरेटर पर और पार्टी का वजूद वेंटिलेटर पर.. नकवी ने साधा कांग्रेस पर निशाना! ◾वाराणसी : गंगा में डूबी नाव, 2 शव बरामद, 2 की तलाश जारी, कुल 6 लोग थे सवार◾ BJP मुस्लिमों को रिएक्ट करने पर कर रही है मजबूर ताकि गुजरात जैसी घटना दोहरा सके: महबूबा मुफ्ती◾ज्ञानवापी मामले में अगली सुनवाई को लेकर कल आएगा वाराणसी कोर्ट का फैसला◾ पटरियों के सहारे पंजाब को निशाना बना रहा ISI ! इंटेलिजेंस एजेंसियों ने किया PAK का पर्दाफाश◾जापानी कंपनियों के टॉप 4 बिजनेस लीडर्स से PM मोदी ने की मुलाकात, भारत में बिजनेस और इन्वेस्टमेंट की दी जानकारी ◾टिकैत ब्रदर्स पर टुटा मुश्किलों का पहाड़, BKU में बगावत के बाद लगा यह आरोप... ◾बाइडन चीन पर भड़के, कहा- ड्रैगन ने ताइवन पर हमला किया तो उसे बख्शा नहीं जाएगा, जानें पूरा मामला◾मानहानि मामले में किरीट सोमैया की पत्नी ने संजय राउत को भेजा 100 करोड़ का नोटिस◾बिहार की सियासत में बहुत नाजुक हैं अगले 72 घंटे, CM नीतीश ने जारी किया यह फरमान, जानें पूरा मामला ◾UP विधानसभा : बजट सत्र के पहले दिन SP का जोरदार हंगामा, CM योगी बोले-हर विषय पर चर्चा के लिए तैयार◾बिहार के पूर्णिया में बड़ा सड़क हादसा, ट्रक पलटने से 8 मजदूरों की मौत, आठ घायल◾संभाजी राजे को राज्यसभा का टिकट देगी शिवसेना? संजय राउत ने दिया ये जवाब◾जेल की रोटी खाने से नवजोत सिंह सिद्धू ने किया इंकार... अब पहुंचे अस्पताल, जानें क्या है पूरा मामला ◾ज्ञानवापी को लेकर SC में एक और याचिका, वाराणसी कोर्ट में भी आज होगी सुनवाई ◾

भूल से भी देवउठनी एकादशी पर नहीं करने चाहिए ये 5 काम, नहीं तो होंगी ये परेशानियां

इस बार देवउठनी का पर्व 8 नवंबर के दिन मनाया जाएगा। यह त्योहार हर साल कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी के दिन मनाया जाता है। इस दिन भगवान विष्णु अपनी लंबी निद्रा से जगते हैं और सारा काम संभालते हैं। इस वजह से इस खास दिन भगवान विष्णु की पूजा विधि-विधान से की जाती है।

 मान्यता यह भी है देवउठनी के दिन विष्णु भगवान की पूजा करने से जिंदगी के सभी कष्टों से छुटकारा मिल जाता है। इस दिन से सभी शुभ मांगलिक कार्यों की शुरूआत हो जाती है। तो आइए जानते हैं कि देवउठनी के दिन ऐसे कौन से कार्य हैं जिन्हें करने से हमेशा बचना चाहिए। 

1.दीपदान करना शुभ

शास्त्रों में ऐसा बताया गया है कि देवउठनी एकादशी भगवान विष्णु के शालिग्राम रूप और देवी वृंदा मतलब तुलसी के विवाह का दिन होता है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा अर्चना पूरी विधि-विधान से की जानी चाहिए। इस खास दिन पर रात के समय अखंड दीपक जलाएं साथ ही घर की छत पर कुछ दीपक और भी जलाएं। ध्यान रखें इस रात घर के किसी भी कोने में अंधेरा नहीं होना चाहिए। महत्वपूर्ण बात यह भी है इस दिन दीपदान करने से सुख समृद्घि में वृद्घि होती है।

2.नहीं तोडऩा चाहिए तुलसी का पत्ता

एकादशी तारीख विशेषतौर पर देवोत्थान एकादशी के दिन तो गलती से भी तुलसी का पत्ता नहीं तोडऩा चाहिए। क्योंकि इस दिन माता तुलसी और भगवान विष्णु के शालिग्राम रूप का विवाह होता है। इस दिन देवी तुलसी को लाल चुनरी भी जरूर उड़ानी चाहिए साथ ही तुलसी के पौधे के नीचे दीया जलाना चाहिए। 

3.चावल का प्रयोग है वर्जित

शास्त्रों में एकादशी के दिन चावल या चावल से बनी चीजों को खाने को मना किया जाता है। ऐसा कहा जाता है कि इस दिन चावल खाने वाला इंसान रेंगने वाले जीव की योनि में पैदा होता है। वहीं द्वादशी को चावल खाने से इस योनि से छुटकारा मिल जाता है। 

4.नहीं करना चाहिए तामसिक पदार्थ का सेवन

भगवान विष्णु जी को एकादशी का व्रत सबसे ज्यादा प्रिय होता है। पुराणों में ऐसा कहा गया है कि इस दिन जो लोग व्रत नहीं भी कर रहे उन लोगों को प्याज,लहसुन,मांस,अंडे जैसे तामसिक पदार्थ का सेवन करने से परहेज करनी चाहिए। इस दिन शारीरिक संबंध रखना भी बिल्कुल अच्छा नहीं माना जाता है। जो भी इन नियमों का पालन नहीं करता उन्हें यमराज का कठोर दंड भोगना पड़ता है।

5.ऐसा करने से हो सकती है लक्ष्मी मां नाराज

एकादशी के दिन अपने मन को शांत रखें और कोशिश करें किसी भी हालात में बुजुर्गों का अनादर नहीं करें। हिंदू धर्म में एकादशी को सबसे ज्यादा पवित्र माना जाता है।

 ऐसा कहा जाता है इस खास दिन घर में सुख-शंति का सद्भाव बनाए रखने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती है। इसलिए गलती से भी आप शुद्घ वातावरण को दूषित न करें।