BREAKING NEWS

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने CAA पर PM मोदी और अमित शाह को बहस की चुनौती दी◾लखनऊ में बोले अमित शाह- जिसे विरोध करना हो करे, मगर सीएए वापस नहीं होने वाला◾पेरियार पर की गई टिप्पणी के लिए माफी नहीं मांगूंगा : रजनीकांत ◾चिदंबरम का सरकार पर कटाक्ष, बोले- अब हमें गीता गोपीनाथ पर मंत्रियों के हमले के लिए तैयार हो जाना चाहिए◾साईं बाबा के जन्मस्थान का विवाद बेवजह, CM ठाकरे को दोष नहीं दे सकते : शिवसेना ◾प्रधानमंत्री मोदी और नेपाली प्रधानमंत्री ने जोगबनी-विराटनगर निगरानी चौक का किया उद्घाटन◾जम्मू-कश्मीर जा रहे मंत्रियों को मणिशंकर अय्यर ने बताया 'डरपोक', बोले- 36 में से सिर्फ 5 जा रहे हैं घाटी◾दिल्ली चुनाव: केजरीवाल बोले- 'मेरा उद्देश्य भ्रष्टाचार खत्म करना, दिल्ली को आगे ले जाना'◾लखनऊ में आज अमित शाह करेंगे रैली, CAA विरोधियों को देंगे जवाब ◾दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए JDU ने स्टार प्रचारकों की सूची की जारी, प्रशांत किशोर और पवन वर्मा का नाम गायब◾AAP ने भाजपा उम्मीदवारों की दूसरी सूची पर कसा तंज, कहा- चुनाव से पहले ही मानी हार◾सूरत के रघुवीर मार्केट में लगी भीषण आग, कई दुकानें जलकर खाक◾दिल्ली विधानसभा चुनाव : भाजपा ने उम्मीदवारों की दूसरी सूची की जारी, केजरीवाल को टक्कर देंगे सुनील यादव◾कोहरे ने 25 ट्रेनों की रफ्तार पर लगाई ब्रेक, दिल्ली आने वाली ये ट्रेनें 1 से 6 घंटे तक लेट◾अकाली दल नहीं लड़ेगा दिल्ली चुनाव : मनजिंदर सिंह सिरसा◾दविंदर सिंह का डीजीपी पदक और प्रशस्ति पत्र जब्त ◾CAA को लेकर कपिल सिब्बल बोले- इसे लेकर मेरे रुख में कोई बदलाव नहीं ◾राष्ट्रपति कोविंद ने कहा- पत्रकारिता ‘कठिन दौर’ से गुजर रही है, फर्जी खबरें नये खतरे के तौर पर सामने आई हैं◾कपिल सिब्बल ने ''परीक्षा पे चर्चा' को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर साधा निशाना ◾सीडीएस बिपिन रावत बोले- पाक के साथ युद्ध की परिस्थिति उत्पन्न होगी या नहीं, अनुमान लगाना मुश्किल◾

भूल से भी देवउठनी एकादशी पर नहीं करने चाहिए ये 5 काम, नहीं तो होंगी ये परेशानियां

इस बार देवउठनी का पर्व 8 नवंबर के दिन मनाया जाएगा। यह त्योहार हर साल कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी के दिन मनाया जाता है। इस दिन भगवान विष्णु अपनी लंबी निद्रा से जगते हैं और सारा काम संभालते हैं। इस वजह से इस खास दिन भगवान विष्णु की पूजा विधि-विधान से की जाती है।

 मान्यता यह भी है देवउठनी के दिन विष्णु भगवान की पूजा करने से जिंदगी के सभी कष्टों से छुटकारा मिल जाता है। इस दिन से सभी शुभ मांगलिक कार्यों की शुरूआत हो जाती है। तो आइए जानते हैं कि देवउठनी के दिन ऐसे कौन से कार्य हैं जिन्हें करने से हमेशा बचना चाहिए। 

1.दीपदान करना शुभ

शास्त्रों में ऐसा बताया गया है कि देवउठनी एकादशी भगवान विष्णु के शालिग्राम रूप और देवी वृंदा मतलब तुलसी के विवाह का दिन होता है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा अर्चना पूरी विधि-विधान से की जानी चाहिए। इस खास दिन पर रात के समय अखंड दीपक जलाएं साथ ही घर की छत पर कुछ दीपक और भी जलाएं। ध्यान रखें इस रात घर के किसी भी कोने में अंधेरा नहीं होना चाहिए। महत्वपूर्ण बात यह भी है इस दिन दीपदान करने से सुख समृद्घि में वृद्घि होती है।

2.नहीं तोडऩा चाहिए तुलसी का पत्ता

एकादशी तारीख विशेषतौर पर देवोत्थान एकादशी के दिन तो गलती से भी तुलसी का पत्ता नहीं तोडऩा चाहिए। क्योंकि इस दिन माता तुलसी और भगवान विष्णु के शालिग्राम रूप का विवाह होता है। इस दिन देवी तुलसी को लाल चुनरी भी जरूर उड़ानी चाहिए साथ ही तुलसी के पौधे के नीचे दीया जलाना चाहिए। 

3.चावल का प्रयोग है वर्जित

शास्त्रों में एकादशी के दिन चावल या चावल से बनी चीजों को खाने को मना किया जाता है। ऐसा कहा जाता है कि इस दिन चावल खाने वाला इंसान रेंगने वाले जीव की योनि में पैदा होता है। वहीं द्वादशी को चावल खाने से इस योनि से छुटकारा मिल जाता है। 

4.नहीं करना चाहिए तामसिक पदार्थ का सेवन

भगवान विष्णु जी को एकादशी का व्रत सबसे ज्यादा प्रिय होता है। पुराणों में ऐसा कहा गया है कि इस दिन जो लोग व्रत नहीं भी कर रहे उन लोगों को प्याज,लहसुन,मांस,अंडे जैसे तामसिक पदार्थ का सेवन करने से परहेज करनी चाहिए। इस दिन शारीरिक संबंध रखना भी बिल्कुल अच्छा नहीं माना जाता है। जो भी इन नियमों का पालन नहीं करता उन्हें यमराज का कठोर दंड भोगना पड़ता है।

5.ऐसा करने से हो सकती है लक्ष्मी मां नाराज

एकादशी के दिन अपने मन को शांत रखें और कोशिश करें किसी भी हालात में बुजुर्गों का अनादर नहीं करें। हिंदू धर्म में एकादशी को सबसे ज्यादा पवित्र माना जाता है।

 ऐसा कहा जाता है इस खास दिन घर में सुख-शंति का सद्भाव बनाए रखने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती है। इसलिए गलती से भी आप शुद्घ वातावरण को दूषित न करें।