अभी तक आपने सुना होगा कि सब्जियां की जमीन (खेत) में किसान दुवारा खेती होती है पर आज हम जिन सब्जियां की बात कर रहे है वो दीवार पर उगाई जाती है ! जी हाँ , ये सुनकर आपको यकीन तो हो नहीं हो रहा होगा पर ये सच है।

Farming on the walls Source

आपको बता दे की शहरीकरण के इस दौर में हर तरफ जहां भी देखो बस ईंटों की दीवारों की बनी बिल्डिंगें ही दिखाई देती हैं। पैसे कमाने के चक्कर में किसान खेत-खलियानों वाली अपनी उपजाऊ जमीन बिल्डरों को ऊँचे-ऊँचे दामों में बेच दे रहे हैं। ऐसे में जब जमीन ही नहीं होगी तो फिर खेती के लिए जगह ना होने पर आखिर मिलावट वाली सब्जियां ही खानी पड़ेंगी। इजराइल ने अपने देश में शहरीकरण होते हुए भी दीवारों पर सब्जियां उगाने का प्रयोग शुरु कर दिया है।

Farming on the walls

Source

आपको बता दे की इजरायली कंपनी ग्रीनवॉल के संस्थापक टिकाऊ व स्वतंत्र खाद्य उत्पादन की खास पद्धति वर्टिकल गार्डन को बाजार में उतारने की तैयारी में हैं। इस पद्धति से बहुमंजिला इमारतों के लोग दीवारों पर चावल, मक्का और गेहूं सहित किसी भी फसल का उत्पादन कर सकते हैं।

Farming on the walls

Source

ग्रीनवॉल कंपनी की स्थापना साल 2009 में इंजीनियर व गार्डेनिंग के पायोनिर गाइ बारनेस ने की थी। अब इस कंपनी ने एक आधुनिक प्रौद्योगिकी का विकास किया है।

Farming on the walls

Source

जिसके तहत इमारतों के अंदर और बाहर दोनों तरफ से दीवारों के साथ एक ऊंचे गार्डन की परिकल्पना की गई है जो कि पारंपरिक गार्डन की तुलना में कम जगह में तैयार किया जा सकता है। ग्रीनवॉल इस पद्धति से खेती के लिए उपजाऊ मिट्टी उपलब्ध कराती है, जो कि किसी भी पौधों के विकास के लिए सक्षम है।

Farming on the walls

Source

वर्टिकल प्लांटिंग सिस्टम के तहत पौधों को स्मॉल मॉड्युलर यूनिट में सघन रूप से लगाया जाता है। पौधे बाहर न गिरे, इसकी व्यवस्था भी की जाती है। इस पॉट को गार्डन की डिजाइन में बदलाव लाने या इसे रिफ्रेश करने के लिए निकाला या बदला भी जा सकता है।

Farming on the walls

Source

प्रत्येक पौधे को कंप्यूटर की सहायता से विशेष पद्धति के जरिए पानी पहुंचाया जाता है। जब इन पौधों पर अनाज उगने का समय होता है तो पॉट में तैयार इन हरित दीवारों को कुछ अवधि के लिए नीचे उतार लिया जाता है और उसे जमीन पर क्षैतिज रूप से रखा जाता है।

Farming on the walls

Source

दीवारों पर लगाई गई फसलों की सिंचाई के लिए ग्रीनवॉल इजरायली कंपनी नेताफिम द्वारा विकसित बूंद-बूंद सिंचाई पद्धिति का इस्तेमाल करती है। ग्रीनवॉल ने दीवारों पर खेती के लिए मॉनिटर, सेंसर और कंट्रोल सिस्टम को इजरायली वॉटर-मैनेजमेंट कंपनी गैलकॉन की सहायता से विकसित किया है।