वैसे तो कैंसर शब्द सुनते ही उन लोगों की रग-रग थर्राने लगती है जो स्वास्थ्य को लेकर जागरूक हैं या उसके मामले में थोड़े बहुत भी सयाने हैं। हममें से हरेक ने कभी न कभी किसी जानकार को इस खौफनाक समझी जाने वाली बीमारी से जूझते देखा होगा और दुर्भाग्य से हममें से ज्यादातर को दुखद अनुभव भी हुआ होगा।

आज हम इसी बीमारी से जुड़ी एक ऐसी ही खबर के बारे में बताने जा रहे है। आपको बता दे कि मामला कनाडा का है जहां कैंसर से पीड़ित एक कुत्ते को बचाने के लिए डॉक्टरों ने जो कुछ भी किया वह हैरान कर देने वाला हैं।

कुत्ते की खोपड़ी के एक हिस्से में कैंसर का ट्यूमर था और वो धीरे-धीरे बढ़ता ही जा रहा था, जिसकी वजह से ट्यूमर खोपड़ी के बाहरी हिस्से में लटकने लगा था। जिसके बाद डॉक्टरों ने कुत्ते को बचने के लिए सर्जरी कर उसके सिर में टाइटेनियम की खोपड़ी लगा दी। लेकिन डॉक्टरों के पास दूसरा तरीका भी था वह तरीका था कि उसके सिर का वो हिस्सा बदल दिया जाए।

ऐसे स्तिथि में कॉर्नेल यूनिवर्सिटी के डॉक्टरों और शोधकर्ताओं की एक टीम ने 3-डी प्रिंटिंग तकनीक की मदद से कुत्ते की खोपड़ी के आकार की टाइटेनियम की एक नई प्लेट तैयार की और उससे पुराने हिस्से को बदल दिया और कुत्ते की जान बचा ली।

dog cancer

वही , कॉर्नेल यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं का कहना है कि कुत्ते के सिर में जो कैंसर का ट्यूमर हुआ था वो उसकी खोपड़ी के बाहरी हिस्से में लटकने लगा था।

शोधकर्ताओं की एक टीम की मुखिया मिशेल ओब्लाक ने खोपड़ी और ट्यूमर का स्कैन निकाला और 3-डी प्रिंटिंग के लिए उसके मॉडल तैयार करने शुरू कर दिए और कुत्ते की खोपड़ी का हिस्सा बिल्कुल उसके साइज का बना दिया गया। मिशेल ने कहा कि भविष्य में इस तकनीक का इस्तेमाल इंसानों पर भी किया जा सकता है।