पश्चिम बंगाल की मछलियों की भारत ही नहीं बल्कि विदेशी बाजारों में भी भारी मांग है। हाल ही में नयी दिल्ली में आयोजित वर्ल्ड फूड इंडिया इंटरनेशनल एक्सबिशन में यह तथ्य सामने आया, जब राज्य मत्स्य विकास निगम(एसएफडीसी) जैसी विभिन्न सरकारी संगठनों और विदेशी मछली निर्यातकों के बीच मछलियों की आपूर्ति को लेकर सौदे तय किये गये। अंतरराष्ट्रीय बाजार में पश्चिम बंगाल से मछलियों का निर्यात काफी प्रगति पर है।

यहां के सूक्तो माछ (धूप में सुखायी गयी मछली) और प्रशितित मछलियों की इटली के बाजारों में काफी मांग है जबकि श्रृम्प, मोनोदोन और वन्नामेई मछलियां चीन के लोगों की पसंद है। एसएफडीसी राज्य में उत्पादित मछलियों को अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप दुरुस्त रखने के लिए दूसरे देशों के विशेषज्ञों से भी सलाह ले रहा है। इसके साथ ही अन्य राज्यों में अपने रेस्टारेंट खोलना शुरू किया है। राष्ट्रीय राजधानी पक्षेत्र के नोएडा में पहले ही एक रेस्टोरेंट खोला जा चुका है जबकि दिल्ली और अन्य शहरों में इसकी तैयारी चल रही है।