BREAKING NEWS

CAA को लेकर अमित शाह का ममता और कांग्रेस पर करारा वार - 'अरे इतना झूठ क्यों बोलते हो'◾निर्भया मामला : फांसी के सजा को उम्रकैद में बदलने के लिए दोषी पवन ने दी याचिका ◾कांग्रेस के अलावा 6 अन्य विपक्षी ने भी राष्ट्रपति कोविंद को लिखा पत्र, दिल्ली हिंसा के आरोपियों पर दर्ज हो FIR◾दिल्ली हिंसा : मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 41, पीड़ितों से मिलने पहुंचे LG अनिल बैजल ◾रविशंकर प्रसाद का कांग्रेस पर वार, बोले- राजधर्म का उपदेश न दें सोनिया◾प्रधानमंत्री मोदी के आगमन से पहले छावनी में तब्दील हुआ प्रयागराज, जानिये 'विश्व रिकार्ड' बनाने का पूरा कार्यक्रम ◾ ताहिर हुसैन के कारखाने में पहुंची दिल्ली फोरेंसिक टीम, जुटाए हिंसा से जुड़े सबूत◾जानिये कौन है IB अफसर की हत्या के आरोपी ताहिर हुसैन, 20 साल पहले अमरोहा से मजदूरी करने आया था दिल्ली ◾एसएन श्रीवास्तव नियुक्त किये गए दिल्ली के नए पुलिस कमिश्नर, कल संभालेंगे पदभार ◾जुमे की नमाज़ के बाद जामिया में मार्च , दिल्ली पुलिस के लिए चुनौती भरा दिन◾CAA को लेकर आज भुवनेश्वर में अमित शाह करेंगे जनसभा को सम्बोधित ◾CAA हिंसा : उत्तर-पूर्वी दिल्ली में अब हालात सामान्य, जुम्मे के मद्देनजर सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम कायम◾CAA को लेकर BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा बोले - कांग्रेस जो नहीं कर सकी, PM मोदी ने कर दिखाया◾Coronavirus : चीन में 44 और लोगों के मौत की पुष्टि, दक्षिण कोरिया में 2,000 से अधिक लोग पाए गए संक्रमित ◾भारत ने तुर्की को उसके आंतरिक मामलों पर टिप्पणी करने से बचने की सलाह दी◾राष्ट्रपति कोविंद 28 फरवरी से 2 मार्च तक झारखंड और छत्तीसगढ़ के दौरे पर रहेंगे◾संजय राउत ने BJP पर साधा निशाना , कहा - दिल्ली हिंसा में जल रही थी तो केंद्र सरकार क्या कर रही थी ?◾PM मोदी 29 फरवरी को बुंदेलखंड एक्स्प्रेस-वे की रखेंगे नींव◾दिल्ली हिंसा : SIT ने शुरू की जांच, मीडिया और चश्मदीदों से मांगे 7 दिन में सबूत◾PM मोदी प्रयागराज में 26,526 दिव्यांगों, बुजुर्गों को बांटेंगे उपकरण◾

कान में है दर्द तो भूलकर कभी न डालें तेल, इन वजहों से होता है दर्द

कान में दर्द होने के कई कारण होते हैं। कान के अंदरुनी हिस्से में किसी भी तरह की समस्या हो जाती है जिसकी वजह से कान में सूजन या संक्रमण हो जाता है। यह समस्या आमतौर पर बच्चों में ही देखी जाती है। कान में दर्द होने के लक्षण या संकेत ज्यादा गंभीर नहीं होते हैं। जब भी कान में दर्द होता है तो उसके साथ जलन भी होती है। 

इसके साथ ही यह दर्द आता और जाता है लेकिन कभी कभार यह दर्द स्थिर भी हो जाता है। अक्सर देखा होगा कि जब भी कान में दर्द होता है तो लोग उसके लिए गर्म तेल कान में डालने की सलाह देते हैं। लेकिन भूलकर भी कान में तेल नहीं डालना चाहिए। कान में दर्द कब होता है और क्यों होता है और इसके लिए क्या करना चाहिए इस पर एक डॉक्टर ने अपनी राय दी है। चलिए जानते हैं-

सबसे ज्यादा समस्या होती है बच्चों में 

संक्रमण या चोट की वजह से कान में दर्द होता है। कान के बाहरी हिस्से में भी दर्द हो सकता है। कान में दर्द कीड़ा जाने या रुई जैसी वस्तु जाने से भी हो जाता है। अगर आपके शरीर के किसी दूसरे हिस्से में दर्द हो रहा है तो उसकी वजह से भी कान में दर्द हो जाता है। अगर आपके दांत में कैविटी की वजह से दर्द होता है तो संभव तौर पर कान में भी दर्द होगा। दांतों से भी कान का दर्द जुड़ा होता है। 

अगर आपके दांतों में दर्द या फोड़ा होता है तो उसका असर कान में होता है। उससे कान में दर्द हो जाता है। जब भी छोटे बच्चों के दांत निकलने शुरु होते हैं तो उनके कान में भी दर्द रहता है। कान में कुछ चीज कभी फंस जाती है जिसकी वजह से दर्द हो सकता है। गले में किसी तरह का दर्द या टॉन्सिलाइटिस होते हैं तो उससे कान में दर्द हो सकता है। वैक्स जमे से भी कान में दर्द हो जाता है। 

दवा हमेशा डॉक्टर की सलाह से ही लें

मौसम इन दिनों नमी वाला है इसकी वजह से कान में फफूंदी हो जाती है और वैक्स निकलती है। अगर आपके साथ ऐसा हो रहा है तो किसी डॉक्टर को अपना कान दिखाएं और दवा लें। कान को हमेशा नहाने के बाद साफ करना चाहिए। कान को बड्स से साफ करें अगर पानी हो तो वह बड की रुई से सूख जाए। बच्चों के कान हमेशा मोटी बड से ही करने चाहिए नहीं तो उनके कान के पर्दे फटने का डर रहता है। 

अगर आपको जुकाम रहता है तो उसकी वजह से मिडिल ईयर में भी दर्द रहता है। भारीपन, ऊंचा सुनाई देना यह सारी कान की परेशानियां रहती हैं। जुकाम के लिए आप भाप ले लें लेकिन दवाई हमेशा डॉक्टर की सलाह से ही लें। वार्न आगे चलकर परेशानी हो सकती है। 

कान में जब भी फुंसी होती है तो वह ऊपर से दिखाई दे जाती है। फुंसी की वजह से कान का छेद छोटा लगता है और दर्द भी रहता है। अगर आपके कान में दर्द है तो भूलकर भी तेल ना डालें। अक्सर देखा गया है कि लोग कान के दर्द में अपने आप ही दवाई लेकर डाल लेते हैं जो कि नुकसान हो सकता है। हमेशा कान की दवाई डॉक्टर से ही लें। सामान्य स्थिति में तेल कान में डाल सकते हैं।