बीते साल Apple की सेल दुनिया भर में कम रही थी। एप्पल की इस गिरावट के लिए चीन और भारत जिम्मेदार हैं। इन दोनों देशो के पास सस्ते एंड्रॉइड फोन की कंपनिया हैं। भारत में विशेष रूप से वनप्लस ब्रांड जिसने एप्पल को पीछे छोड़ दिया है। हांगकांग की रिसर्च के अनुसार पिछले साल भारत आईफोन की सेल में 50 प्रतिशत गिरवट आई।

साल 2017 में 3.2 मिलियन फोन बिक्री हुई वहीं साल 2018 की तुलना में सिर्फ 1.7 मिलियन फोनों की बिक्री हुई। फोन की सेल कम होने का मुख्य कारण यह भी है कि साल 2017 में फोन सस्ते होने के मुकबाले साल 2018 में अधिक महंगे थे। वहीं फोन की सेल में गिरवट इसलिए भी हुई क्योंकि वनप्लस आईफोन की जगह लोगों के लिए एक बेहतर विकल्प रहा।

साल 2014 में वनलप्स ब्रांड को चीन ने बाजार में लॉन्च किया। पहले इस कंपनी ने फोन को सस्ते दमों पर लॉन्च करके लोगों को अपने ब्रांड की ओर आकर्षित किया लेकिन उसके बाद धीरे-धीरे फोन के दमों में काफी ज्यादा बढोतरी आई।

लेकिन अधिक कीमत होने के बावजूद भी लोगों का इस ब्रांड पर विश्वास कयाम रहा। जहां आईफान की कीमत 1लाख रुपए है वहीं वनलप्स की कीमत उससे 50प्रतिशत आधी है। यही वजह है कि लोग एप्पल की जगह वनलप्स लेना सही समझ रहे हैं।

मार्केट में अब सेल बढ़ी वनलप्स की…

वनलप्स ने 37 प्रतिशत स्मार्टफोन को भारत के बाजार में 2018 में लॉन्च किया है। Apple की कीमत में लोगों के लिए अब बेहतर विकल्प वनलप्स बन गया है क्योंकि लोगों का मनना है कि जहां वह एप्पल की कीमतो पर उसके आधे में वनलप्स खरीद सकते हैं। पहले आईफोन के साथ कोई ऐसा फोन नहीं था जो एप्पल की बराबरी कर सकें।

लेकिन अब वनलप्स Apple को पीछे छोड़ते दिख रहा है।  एप्पल कंपनी के सीईओ टिम कुक ने जनवरी में यह बताया कि एप्पल आईफोन की बिक्री कम हो रही है। लोग आईफोन अब नहीं लेना चाहते बल्कि अब उनके लिए एक बेहतर विकल्प एंड्रॉइड फोन बन चुके हैं।