BREAKING NEWS

मोदी-शी की अनौपचारिक शिखर बैठक से पहले अगले महीने चीन का दौरा करेंगे जयशंकर ◾दीक्षित के बाद दिल्ली कांग्रेस के सामने नया नेता तलाशने की चुनौती ◾अन्य राजनेताओं से हटकर था शीला दीक्षित का व्यक्तित्व ◾जम्मू कश्मीर मुद्दे के अंतिम समाधान तक बना रहेगा अनुच्छेद 370 : फारुक अब्दुल्ला ◾दिल्ली की सूरत बदलने वाली शिल्पकार थीं शीला ◾शीला दीक्षित के आवास पहुंचे PM मोदी, उनके निधन पर जताया शोक ◾शीला दीक्षित कांग्रेस की प्रिय बेटी थीं : राहुल गांधी ◾जीवनी : पंजाब में जन्मी, दिल्ली से पढाई कर यूपी की बहू बनी शीला, फिर बनी दिल्ली की मुख्यमंत्री◾शीला दीक्षित ने दिल्ली एवं देश के विकास में दिया योगदान : प्रियंका◾शीला दीक्षित के निधन पर दिल्ली में 2 दिन का राजकीय शोक◾Top 20 News 20 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शीला दीक्षित के निधन पर जताया दुख ◾दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित का निधन, PM मोदी सहित कई नेताओं ने जताया दुख◾दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का 81 साल की उम्र में निधन◾लाशों पर राजनीति करना कांग्रेस की पुरानी परंपरा : स्वतंत्र देव सिंह◾प्रियंका की हिरासत पर पंजाब के CM अमरिंदर सिंह ने जताया विरोध◾सोनभद्र हत्याकांड : पीड़ित परिवार से मुलाकात के बाद प्रियंका गांधी ने खत्म किया धरना ◾हम हथकंडों से डरने वाले नहीं, दलितों और आदिवासियों के लिए लड़ाई जारी रहेगी : राहुल◾कांग्रेस ने योगी सरकार पर साधा निशाना, कहा - उप्र में ''जंगल राज'' सोनभद्र में हुई संस्थागत हत्याएं◾IMA पोंजी घोटाला : ईडी को मिली मंसूर खान की ट्रांजिट रिमांड◾

दिलचस्प खबरें

इस महिला के जन्म से ही नहीं थे हाथ, ताइक्वांडो में है उस्ताद अब बनी 'पायलट'

अमेरिका की रहने वाली जेसिका कॉक्स आम महिलाओं जैसी बिल्कुल नहीं हैं। जेसिका कॉक्स के हाथ जन्म से ही नहीं थे इसके बावजूद भी उन्होंने ऐसी चीजों में कामयाबी हासिल की है जिसके बारे में आम इंसान भी नहीं सोच सकते हैं। जेसिका के हाथ नहीं है लेकिन वह अपने पैरों से विमान उड़ाती हैं। प्रोस्थेटिक हाथ लगवाने का जेसिका के पास बचपन से ही विकल्प था।

   

हाथ ना होने के बावजूद भी जेसिका ने अपनी कमी को अपनी कमजोरी नहीं बल्कि अपनी ताकत बनाया और अपने पैरों से अपने सपनों को पूरा किया। जेसिका की मां इनेज जंब प्रेग्नेट थी तो उनके साथ सबकुछ ही सामान्य था। लेकिन जब जेसिका का जन्म हुआ तो उसके हाथ नहीं थे।

 

इनेज हमेशा से ही बेटी की इस हालात पर परेशान रहती थीं लेकिन उन्होंने अपनी बेटी को कभी अपना दुख जाहिर नहीं किया था। जेसिका ने कहा कि जैसे-जैसे वह बड़ी हुई उनके परिवार ने उन्हें कभी सीमित रहने नहीं दिया। जेसिका अपने माता-पिता को अपनी हिम्मत और मजबूती का पूरा श्रेय देती हैं।

 

सारे सपने अपनी हिम्मत से पूरे किए

आम लोगों के लिए जो चीजें करना आसान होती थीं वहीं चीजें जेसिका के लिए करना बहुत मुश्किल होती थीं। जेसिका ने हमेशा प्रोस्थेटिक हाथों को लगाने से मना किया था और वह अपने पैरों से ही सारे काम करने की कला सीखने लगी थीं।

जेसिका ने कॉलेज के समय में टैप डांस, स्वीमिंग और मॉडलिंग सीखा था। इतना ही नहीं जेसिका ने ताइक्वांडो में थर्ड डिग्री ब्लैक बेल्ट जीती हुई है। जेसिका ने 20 से ज्यादा देशों में मोटिवेशनल स्पीकर के तौर पर दौरा किया हुआ है।

ट्रेन्ड पायलट के तौर पर प्लेन उड़ाना आसान नहीं था

जेसिका ने कहा है कि उन्हें एक पायलट से ही प्लेन उड़ाने की हिम्मत मिली थी। जेसिका के अनुसार, मैं जब बचपन में विमान में सवार होती थी तब भगवान से सही सलामत रहने की दुआ करती थी। लेकिन एक बार एक पायलट ने मुझे डरते देख कॉकपिट में बुला लिया। उसने मुझे साथ में बैठाया औै मुझे प्लेन उड़ाने के लिए कहा इस वाकये के बाद उन्हें पहली बार प्लेन उड़ाने का ख्याल आया।

जेसिका ने ग्रेजुएशन 2005 में यूनिवर्सिटी ऑफ एरिजोना से की थी। उसके बाद जेसिका ने प्लेन उड़ाने की ट्रेनिंग ली। लेकिन यह ट्रेनिंग बहुत मुश्किल थी। जेसिका को ट्रेनिंग देने में ट्रेनरों को बहुत परेशानी हुई थी। जेसिका 2008 में ट्रेन्ड पायलट बन गईं। लाइट स्पोट्र्स एयरक्राफ्ट उड़ाने की जेसिका को फेडरल एविएश्सप एडमिनिस्ट्रेशन ने अनुमति दी थी।