बीजेपी सांसद सतीश कुमार गौतम ने जिन्ना मुद्दे पर एएमयू के छात्रों का समर्थन करने के लिए पूर्व उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी की आलोचना की है। बीजेपी सांसद गौतम ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) से मुहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर हटाने की मांग कर विवाद को जन्म दे दिया था। अंसारी ने दो मई को विश्वविद्यालय के एक कार्यक्रम में हंगामा करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई की छात्रों की मांग का समर्थन किया था।

गौतम ने आज फोन पर कहा, ‘‘देश के उपराष्ट्रपति पद पर रह चुके अंसारी को छात्रों की मांग का समर्थन करने और ऐसे बयान जारी करने से परहेज करना चाहिए था।’’ गौतम अलीगढ़ से लोकसभा के सदस्य हैं। वह यहां एक निजी कार्यक्रम में भाग लेने के लिए आए थे। गौतम ने कहा कि उन्होंने विश्वविद्यालय के कुलपति तारिक मंसूर को पत्र लिख कर उनसे स्पष्ट करने को कहा है कि छात्र संघ कार्यालय में जिन्ना की तस्वीर क्यों लगी थी।

उन्होंने कहा कि उस क्षेत्र से निर्वाचित सांसद होने के नाते पत्र लिखना और तस्वीर हटाने की मांग करना उनका कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि उनके इस कदम के पीछे कोई राजनीति नहीं है। गौतम ने आश्चर्य व्यक्त किया कि पाकिस्तान में महात्मा गांधी या सरदार वल्ल्भभाई पटेल की कोई तस्वीर क्यों नहीं लगी है। उन्होंने कहा , ‘‘ मैं यह जानना चाहता हूं कि किस परिस्थिति में जिन्ना की तस्वीर अब भी विश्वविद्यालय में लगी हुई है। ’’

अधिक जानकारियों के लिए बने रहिये पंजाब केसरी के साथ।