नयी दिल्ली : जवाहर लाल नेहरू प्रवेश परीक्षा (जेएनयूईई) में एक लाख से ज्यादा उम्मीदवार बैठेंगे। यह परीक्षा 23 और 27 नवंबर को आयोजित की जाएगी।  विश्वविद्यालय की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार इस साल एम फिला पीएचडी के लिये कुल 720 सीटें हैं, जबकि स्नातक के लिये 459 और परास्नातक, एमएससी, एमटेक और एमपीएच पाठ्यक्रमों के लिये कुल 1,118 सीटें हैं।  विश्वविद्यालय प्रशासन ने मई में घोषणा की थी कि इस साल से सभी पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षा मई और जून के बजाय दिसंबर के बीच के सामान्य समय में करायी जाएगी।

जेएनयू के रेक्टर चिंतामणि महापात्रा ने एक बयान में कहा, विश्वविद्यालय ने देश के सभी राज्यों एवं केद्र शासित प्रदेशों के विभिन्न शहरों एवं कस्बों में कुल 81 परीक्षा केन्द, चिन्हित किये हैं, जबकि एक केद्र काठमांडो में भी बनाया गया है।  विश्वविद्यालय की प्रवेश शाखा इन सभी परीक्षा केन्द्रों में 200 से अधिक अध्यापक एवं गैर-अध्यापकों की नियुक्ति करेगा।  इसमें कहा गया है कि इसके अलावा परीक्षा केन्द्रों के औचक निरीक्षण के लिये उड़न दस्ता भी नियुक्त किया जाएगा।  परीक्षा परिणामों की घोषणा अगले साल अप्रैल में की जाएगी और परीक्षा में उत्तीर्ण छात्रों का पंजीकरण जुलाई से शुरू होगा।