BREAKING NEWS

'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾Bihar Election : कृषि मंत्री ने कमल निशान वाला मास्क पहन वोट डालने पहुंचे, दर्ज होगा मामला ◾बिहार चुनाव : 11 बजे तक 18.48 फीसदी मतदान,जानिए कहां कितने प्रतिशत हुई वोटिंग◾दरभंगा रैली में बोले PM मोदी, पूर्व की सरकारों का मंत्र रहा, पैसा हज़म-परियोजना खत्म◾मुंगेर मामला : तेजस्वी ने कहा- पुलिस ने लोगों को ढूंढ-ढूंढ कर पीटा, कांग्रेस ने सरकार से बर्खास्तगी की मांग की ◾देश में पिछले 24 घंटो में कोरोना के 43,893 नए मामलों की पुष्टि और 508 मरीजों ने गंवाई जान◾JDU ने चिराग को बताया RJD की 'बी' टीम, कहा-रील लाइफ के साथ रियल लाइफ में भी असफल◾बिहार में कोरोना काल के बीच मतदान जारी, शुरुआती 2 घंटे में 6.74 प्रतिशत हुआ मतदान ◾Bihar Election : राहुल गांधी और जेपी नड्डा ने लोगों से वोट करने की अपील की, कही ये बात ◾जम्मू-कश्मीर के बडगाम में सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ के दौरान 2 आतंकवादियों को मार गिराया ◾बिहार चुनाव : कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच 71 सीटों के लिए मतदान जारी, पीएम मोदी ने लोगों से की ये अपील ◾बिहार चुनाव : पहले चरण में 16 जिलों की 71 सीटों पर मतदान आज, 1066 प्रत्याशियों के भविष्य का होगा फैसला◾बिहार विधानसभा चुनाव : दूसरे चरण के चुनाव प्रचार के लिए आज PM मोदी और राहुल की कई रैलियां◾आज का राशिफल ( 28 अक्टूबर 2020 )◾अर्थव्यवस्था में सुधार, पर 2020-21 में वृद्धि दर नकारात्मक या शून्य के करीब रहेगी : सीतारमण ◾SRH vs DC ( IPL 2020 ) : साहा, वॉर्नर और राशिद ने सनराइजर्स को दिलाई दिल्ली पर जीत◾पोम्पियो के दौरे से भड़का बीजिंग, कहा : 'भारत - चीन' के बीच कलह के बीज बोना बंद करें अमेरिका◾उमर अब्दुल्ला बोले- नया भूमि कानून स्वीकार नहीं, इस छल से जम्मू-कश्मीर बिकने के लिए तैयार◾अगर आरजेडी सत्ता में आयी तो विकास के कटोरे में छेद हो जायेगा, इनका चरित्र ही अराजक है : जेपी नड्डा ◾भ्रष्टाचार का वंशवाद बड़ी चुनौती, कई राज्यों में राजनीतिक परंपरा का हिस्सा बना: पीएम मोदी◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

इस अद्भुत मंदिर में लगा है मन्नत वाला पेड़, श्रद्धालुओं की होती है हर मुराद पूरी

वैसे तो भगवान श्री राम के कई सारे प्रसिद्घ मंदिर हैं । लेकिन आज तक हम लोगों ने जो भी राम मंदिर देखं हैं। वहां पर उनके माता सीता और लक्ष्मण साथ जरूर होते है। लेकिन भारत में भगवान राम का एक ऐसा मंदिर भी मौजूद है जहां पर उनके साथ माता सीता और लक्ष्मण नहीं बल्कि कौशल्या माता विराजमान है। जी हां देश में केवल एक ऐसा अनोखा मंदिर जहां श्री राम माता कौशल्या की गोद में बैठे हैं। 

बता दें कि मंदिर की मुख्य मूर्ति माता कौशल्या की है और ये मंदिर भी कौशल्या मंदिर के नाम से ही मशहूर है। ऐसा मंदिर देश भर में कहीं ओर नहीं है।  इस मंदिर के गर्भगृह में कौशल्या माता की गोद में बालरुप में रामजी की मूर्ति है। इसके अलावा मंदिर में भगवान शिव और नंदी की बड़ी प्रतिमाएं हैं। वहीं मंदिर के द्वार पर हनुमानजी की मूर्ति लगी हुई है। जो की वहां आने वाले भक्तों का मन मोह लेती है। बता दें कि सात तालाबों से घिरे जलसेना तालाब के बीच में एक द्वीप है और इसी द्वीप पर मां कौशल्या का मंदिर बना हुआ है। 

ये पेड़ करता है मन्नत पूरी 

आज हम जिस चमत्कारी मंदिर के बारे में बता रहे हैं वह मंदिर छत्तीसगढ़ के चंद्रखुरी में स्थित है। इस मंदिर में माता कौशल्या और श्री राम के साथ-साथ शिव जी और नंदी की भी मूर्तियां स्थापित हैं। वहीं मंदिर के मुख्य द्वारा पर हनुमान जी की भी प्रतिमा लगी हुई है। इस मंदिर को लेकर भक्तों की मान्यता है कि यहां पर सीताफल का एक खास पेड़ है। जिसे मन्नत का पेड़ नाम से जाना जाता है। लोगों का ऐसा मानना है कि इस पेड़ पर पर्ची में अपना नाम लिखकर उसे श्रीफल के साथ बांध देने से लोगों की सभी मनोकामानाएं पूर्ण हो जाती है। ऐसा माना जाता है जो भी भक्त इस मंदिर में आकार पूरी श्रद्घा से श्रीफल बांधता है उसकी सारी मुरादें जल्दी ही पूरी हो जाती है। 

इस मंदिर को लेकर कुछ पौराणिक मान्यताएं

पौराणिक कथाओं के मुताबिक यहां पर एक पेड़ के नीचे सुषेण वैध की समाधि है। रामायण के अनुसार सुषेण लंका के राजा रावण का राजवैद्य था। जब रावण के बेटे के मेघनाद के साथ हुई लड़ाई में लक्ष्मण मूर्छित हो गए,तब सुषेण ने ही संजीवनी बूटी मंगवाकर लक्ष्मण की जान की बचाई थी। जब श्री राम रावण को मारकर वापस अयोध्या आए तब सुषेण वैध भी उनके साथ ही आ गए थे और यहीं पर उन्होंने अपने प्राणों का त्याग भी किया था इसलिए यहीं उनकी समाधि बन गई।