आज हम आपको बताने जा रहे है दीपक जलाने के बारे में , जिसका अपना ही महत्व ! जी हाँ , वैसे तो घर में पूजा करने की परंपरा सदियों से चली आ रही है वही , हिन्दू धर्म में पूजा के समय दीपक जलाने का बड़ा महत्व है। पूजा के समय दीपक जलाया जाता है क्योंकि यह शुभ माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि घर में दीया जलाने से वास्तु दोष दूर होता है। कहा जाता है कि इसके बिना पूजा अधूरी मानी जाती है। पुराणों की मानें तो पूजा में घी और तेल का दीपक जलाना चाहिए। दीपक जलाने का मतलब होता है कि अपने जीवन से अंधकार हटाकर प्रकाश फैलाना। प्रकाश प्रतीक होता है ज्ञान का। इसलिए कहा जाता है कि पूजा में दीपक जलाकर हम अंधकार को अपने जीवन से बाहर करते हैं।

lamp

आपको बता दें कि दीपक जलने के कुछ नियम भी बनाये गये हैं, जिसका पालन करने से चमत्कारिक लाभ मिलता है, लेकिन आजकल समय के अभाव की वजह से पूजा पाठ के लिए लोग ज्यादा टाइम नहीं दे पाते हैं, इतना ही नहीं कुछ लोगों को तो इसके नियम नहीं पता, जिसकी वजह से लाभ से वंचित रह जाते हैं। तो चलिए जानते है इन नियमों के बारे में : –

lamp puja

सबसे पहले आप दीपक जलाते समय बोलें ये मंत्र …

शुभम् करोति कल्याणं, आरोग्यं धन संपदाम्।

शत्रुबुद्धि विनाशाय, दीपं ज्योति नमोस्तुते।।

lamp mantr

दीपक को प्रणाम करते हुए इस मंत्र का जाप करने से घर में शुभ ही शुभ होता है, सभी का कल्याण होता है, अच्छा स्वास्थ्य मिलता है, धन-संपत्ति बढ़ती है, शत्रुओं की बुद्धि का विनाश होता है।

याद रहे कि दीपक जलाते समय इन खास बातों जरूर ध्यान रखें : –

> पूजा करते समय अगर घी का दीपक हो, तो इसे अपने बायें हाथ की ओर ही जलाएं। यदि दीपक तेल का है तो अपने दाएं हाथ की ओर जलाएं। पूजन के दौरान बीच में दीपक बुझना नहीं चाहिए। ऐसा होना अशुभ माना जाता है।

> पूजा में कभी भी खंडित दीपक नहीं जलाना चाहिए, वरना आपको फल की जगह परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

> वही , पूजा कर्म में इस बात का विशेष ध्यान रखें कि पूजा के बीच में दीपक बुझना नहीं चाहिए। ऐसा होने पर पूजा का पूर्ण फल प्राप्त नहीं हो पाता है।

lamp puja

> दीपक हमेशा भगवान की प्रतिमा के ठीक सामने लगाना चाहिए। कभी-कभी भगवान की प्रतिमा के सामने दीपक न लगाकर इधर-उधर लगा दिया जाता है, जबकि यह सही नहीं है।

> घी के दीपक के लिए सफेद रुई की बत्ती उपयोग किया जाना चाहिए। जबकि तेल के दीपक के लिए लाल धागे की बत्ती श्रेष्ठ बताई गई है।

White cotton wool

दीपक जलाने का लाभ

बिना दीपक के पूजा पूरी नहीं होती है। इसके साथ ही इसे लेकर कुछ मान्यताएं भी प्रचलित है। अक्सर हम धूप बत्ती वगैरा तो जला देते हैं, लेकिन दीपक जलाना भूल जाते हैं, जोकि ऐसा नहीं करना चाहिए। तो आइये अब जानते हैं कि आखिर दीपक जलाने के लिए क्या क्या फायदे होते हैं?

> दीपक जलाने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का वास होने के साथ ही घर का वातावरण संतुलित रहता है।

puja

> शाम को दीपक जलाने से लक्ष्मी माता प्रसन्न होती है, इसीलिए हर शाम को दीपक जलाना चाहिए।

> दीपक अंधकार को मिटाकर घर में रोशनी देता है, जिससे घर परिवार का माहौल खुशनुमा बना रहता है।