BREAKING NEWS

जयशंकर ने भारत में अवसरों पर ध्यान देने के लिए इजराइली कारोबारियों को किया प्रोत्साहित ◾राहुल से मुलाकात कर भी नहीं माने सिद्धू, सोनिया को लिखा 13 सूत्री एजेंडा वाला खत◾आतंकवादी हमले में बिहार के दो लोगों की हत्या पर CM नीतीश ने की चिन्ता व्यक्त, उपराज्यपाल से फोन पर की बात ◾J&K: 'टारगेट किलिंग' के मद्देनजर इमरजेंसी एडवाइजरी जारी, पुलिस-आर्मी कैंप में लाए जाएंगे बाहरी मजदूर ◾सिंघु बॉर्डर लिंचिंग : कोर्ट ने तीन आरोपियों को पुलिस रिमांड पर भेजा, दो एसआईटी कर रही जांच◾ J-K: लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने किया गैर-कश्मीरियों पर हमला, कुलगाम में बिहार के दो मजदूरों की हत्या◾UP विधानसभा चुनाव : चंद्रशेखर आजाद बोले- सत्ता में आए तो किसानों को एमएसपी की देंगे गारंटी◾ J-K में आतंकी हमलो के बीच भारत-पाकिस्तान मैच को रद्द करने की मांग:केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह◾UP विधानसभा उपाध्यक्ष पद के लिए सपा के उम्मीदवारों ने दाखिल किया नामांकन पत्र, BJP ने नितिन अग्रवाल का किया समर्थन ◾ PM मोदी ने केरल के CM पिनराई विजयन से की बात, भारी बारिश और भूस्खलन पर हुई चर्चा◾गोवा के एक नेता ने मां दुर्गा से की ममता बनर्जी की तुलना, कहा- BJP की 'भस्मासुर' सरकार का करेंगी नाश ◾BJP राज में महंगाई की बोझ तले दबे हैं किसान, केवल मोदी मित्र हो रहे हैं धनवान : प्रियंका गांधी ◾किस वजह से अधिक खतरनाक बना डेल्टा कोविड वेरिएंट, रिसर्च में हुआ खुलासा ◾जम्मू-कश्मीर : पुंछ में फिर मुठभेड़, आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने घेरा, दोनों तरफ से हुई गोलीबारी ◾विपक्ष पर बरसे CM योगी- पिछली सरकारों की दंगा ही थी फितरत, प्रश्रय देकर दंगाइयों को बढ़ाते थे आगे ◾सिद्धू ने सोनिया गांधी को लिखा पत्र, 13 सूत्री एजेंडे के साथ मुलाकात का मांगा समय◾अखिलेश का तीखा हमला- 'UP को योगी सरकार नहीं, योग्य सरकार चाहिए', अंधेरे में है देश का भविष्य ◾ड्रैगन पर पाकिस्तान का सख्त एक्शन- फर्जी दस्तावेज जमा करने पर चीनी कंपनी को ब्लैक लिस्ट में डाला◾ उत्तराखंड में भारी बारिश होने की संभावना को लेकर जारी किया गया अलर्ट, SDRF की 29 टीमों ने संभाला मोर्चा◾बाढ़ प्रभावित केरल को गृहमंत्री शाह ने हर संभव मदद का दिया आश्वासन, भूस्खलन से मरने वालों की संख्या हुई 11◾

Chhath Puja 2020: खरना होता है छठ पूजा के दूसरे दिन, जानिए क्या है इसका महत्व और पूजा की विधि

छठ पूजा का पर्व बुधवार को शुरु हो चुका है। नहाय-खाय छठ पूजा का पहला दिन होता है। खरना दूसरे दिन होता है। हिंदू धर्म के मुताबिक, कार्तिक मास के शुुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को छठ पूजा का खरना मनाया जाता है। लोहंडा के नाम से भी खरना को जानते हैं। 

विशेष महत्व छठ पूजा में इसका होता है। छठ पूजा के लिए खरना वाले दिन विशेष प्रसाद बनाते हैं। पूरे दिन व्रत खरना पर होता है। उसके बाद खीर का प्रसाद रात को खाते हैं। चलिए आपको बताते हैं कि इस साल खरना कब है और इसका महत्व क्या बताया गया है। 20 नवंबर शुक्रवार को छठ पूजा है। 18 नवंबर बुधवार को नहाय-खाय था। 

छठ पूजा का दूसरा दिन- खरना या लोहंडा

छठ पूजा का मुख्य पड़ाव खना नहाय-खाय के बाद आता है। गुरुवार 19 नवंबर को इस साल खरना है। सूर्योदय सुबह 6 बजकर 47 मिनट पर खरना या लोहंडा शुरु होगा और सूर्यास्त शाम 5 बजकर 26 मिनट पर यह समाप्त होगा। 

खरना क्या है

खरना के पूरे दिन छठ पूजा का व्रत रखने वाले व्रती व्रत रखते हैं। फिर खीर प्रसाद के रूप में रात को खाते हैं। उसके बाद व्रत का पारण सूर्योदय को अर्घ्य देकर करते हैं और ध्यान रहे इस समय कुछ नहीं खाना और जल लेना होता है। मान्यता है कि शारीरिक और मानसिक शुद्धि की प्रक्रिया खरना एक प्रकार से होती है। इस दिन रात को भोजन के बाद कठिन व्रत अगले 36 घंटों तक रखते हैं। 


छठ पूजा का प्रसाद खरना के दिन 

छठ पूजा का प्रसाद खरना के दिन बनाते हैं। गुड़ और चावल का खीर इसमें मनाते हैं। इसके अलावा पूड़ियां, खजूर, ठेकुआ भी इस दिन बनाते हैं। मौसमी फल और कुछ सब्जियां का भी पूजा में इस्तेमाल किया जाता है। छठी मैया को इस प्रसाद को व्रत रखने वाला व्यक्ति अर्पित करता है। 

प्रसाद ग्रहण खरना के दिन करके वह अपना व्रत प्रारंभ करता है। इस बात का खास ध्यान छठ पूजा का प्रसाद बनाते समय रखना होता है। केवल आम की लकड़ियों का ही इस्तेमाल चूल्हे में आग के लिए होता है। संध्या का अर्घ्य खरना के बाद अगले दिन तथा उसके अगले दिन सूर्योदय का अर्घ्य देना बहुत जरूरी होता है।