साफ और सुंदर नाखून लड़कियों की सुन्दरता में चार चाँद लगाते है लेकिन शायद आप नहीं जानते होंगे की नाखून हमे हमारी सेहत से जुड़े कई अहम् संकेत देते है। आपको बता दें नाखूनों का निर्माण मृत कोशिकाओं से होता हैं। नई कोशिका के बनने से मृत कोशिका हटती जाती है और नाखून बढ़ते जाते हैं।

nails

आपको अगर अपने नाखूनों में कोई असामान्यता नजर आये तो सचेत हो जाईये . नाखूनों के रंग और आकार के माध्यम से आप अपनी सेहत से जुडी कई अहम् बातें जान सकते है।

nails

1. नाखून और त्वचा का संबंध – नाखून उंगलियों के जिस छोर पर जाकर खत्म होता हैं उस हिस्से को क्यूटिकल्स कहते है। नाखूनों के आस-पास की त्वचा लाल हो तो यह संक्रमण के कारण भी संभव हैं। कटे-फटे नाखून सोरायसिस या एक्जिमा, फेफडों का कैंसर, दिल की बीमारी व थायरॉइड की ओर इशारा करते हैं।

nails

2. आधा चाँद क्या कहता है – चाँद जैसी आकृति नाखूनों के निचले हिस्से में बनी होती हैं। इस चाँद जैसे सफेद निशान को लैटिन में लुनला कहते हैं. अगर यह सफेद निशान बहुत बड़ा दिख रहा है तो शरीर में खून की कमी का संकेत हो सकता हैं। यह आयरन की कमी के साथ-साथ थायरॉइड और विटामिन बी-12 की कमी का भी इशारा देते हैं।

nails

3. नाखूनों का रंग भी इशारा करते हैं – नाखूनों का जरूरत से ज्यादा सफेद दिखने का मतलब खून की कमी, आयरन की कमी, लीवर से संबंधित, हृदय संबंधी समस्या, हेपेटाइटिस आदि समस्या की तरफ इशारा हैं। पीले नाखून फंगल इंफेक्शन, पीलिया की ओर संकेत देते हैं। नाखूनों में पर्याप्त रक्त ना पहुँचने से थायराइड की समस्या हो सकती है।

nails

4. मोटे व मुरझाए नाखून क्या इशारा करते है – इस तरह के नाखूनों में कई बार एक लाइन सी नजर आती है जो किसी पुरानी बीमारी या रक्त में प्रोटीन की कमी की ओर इशारा करती है। नाखूनों की ऐसी स्थिति फंगल इंफेक्शन, मधुमेह, लीवर की समस्या, सांस संबंधी समस्या, आर्थ्राराइटिस, एग्जिमा, तनाव आदि बीमारी की तरफ संकेत देती है।

nails

नाखूनों में होने वाले छोटे-मोटे बदलावों पर ध्यान दे क्योंकि यह बदलाव सेहत की सच्ची गवाही देने में सक्षम है। उचित सलाह से नाखूनों की देखभाल भी अच्छी होगी। सावधानी बरतने से गंभीर समस्या से बचा जा सकता है। नेल पोलिश में केमिकल्स होता है इसलिए इसका इस्तेमाल कम से कम करे।

सांप के काटने पर रखें इन बातों का विशेष ध्यान , नहीं तो पड़ सकते है लेने के देने !