BREAKING NEWS

दिल्ली : आग की त्रासदी के बाद अस्पताल में भयावह दास्तां ◾दिल्ली अग्निकांड : दमकलकर्मी ने इमारत में फंसे 11 लोगों को बचाया ◾दिल्ली अग्निकांड : इमारत का पिछले हफ्ते हुआ था सर्वेक्षण, ऊपरी मंजिलों पर ताला लगा हुआ था - अधिकारिक सूत्र◾नागरिकता संशोधन विधेयक सोमवार को लोकसभा में पेश करेंगे शाह◾प्रियंका गांधी वाड्रा ने UP में त्वरित सुनवायी अदालत के गठन में देरी पर सवाल उठाया ◾भाजपा ने अपने सांसदों के लिए व्हिप किया जारी , 11 दिसंबर तक सदन में रहें मौजूद ◾तिरुवनंतपुरम टी-20 : शिवम के अर्धशतक पर भारी सिमंस की पारी, विंडीज ने की बराबरी◾मोदी ने पूर्वोत्तर राज्यों, जम्मू-कश्मीर व लद्दाख को सर्वोच्च प्राथमिकता दी : जितेंद्र सिंह ◾PM मोदी ने महिलाओं को सुरक्षित महसूस कराने में प्रभावी पुलिसिंग की भूमिका पर जोर दिया ◾भाजपा 2022 के मुंबई नगर निकाय चुनाव अकेले लड़ेगी ◾देश में आग की नौ बड़ी घटनाएं ◾भाजपा पर सवाल उठाने वाली कांग्रेस पहले 70 साल का हिसाब दे : स्मृति इरानी◾PM मोदी ने पुणे के अस्पताल में अरुण शौरी से मुलाकात की◾दिल्ली अनाज मंडी हादसा में फैक्ट्री मालिक हिरासत में◾TOP 20 NEWS 8 DEC : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾PM मोदी ने दक्षेस चार्टर दिवस पर सदस्य देशों के लोगों को दी बधाई ◾संसद में नागरिकता विधेयक का पारित होना गांधी के विचारों पर जिन्ना के विचारों की होगी जीत : शशि थरूर◾अनाज मंडी हादसे के लिए दिल्ली सरकार और MCD जिम्मेदार: सुभाष चोपड़ा◾दिल्ली आग: PM मोदी ने की मृतक के परिवारों के लिए 2 लाख रुपये मुआवजे की घोषणा◾दिल्ली आग: दिल्ली पुलिस ने फैक्ट्री मालिक के खिलाफ दर्ज किया मामला◾

दिलचस्प खबरें

जानिए किस प्रकार कान छिदवाना है सेहत के लिए फायदेमंद

 ear

कान छिदवाने की परंपरा कोई अभी नहीं बल्कि सदियों पुरानी है। पुरातन काल में तो केवल महिलाएं ही नहीं बलिक पुरुष भी कान छिदवाकर कानों में कुंडल पहना करते थे। इस परंपरा का हिंदू धर्म में सांस्कृतिक विरासत से जोड़कर देखा जाता है।

ऐसे में यदि आप ऐसा सोचते हैं कि कान केवल फैशन के लिए छिदवाया जाता है तो इस बात में शायद आप थोड़ा सा गलत हैं। जी हां क्योंकि कान छिदवाने के पीछे कई सारे वैज्ञानिक कारण भी हैं साथ ही कान छिदवाना सेहत के लिए भी फायदेमंद होता है। तो आइए आप भी एक बार जान लीजिए इसके बारे में कई सारे फायदे। 

1.मेन्स्ट्रुअल साइकल सही 

आयुर्वेद के  मुताबिक कान के बाहरी भाग में सेंटर का भाग सबसे ज्यादा अहम पॉइंट होता है। यह एक ऐसा हिस्सा होता है जो प्रजनन संबंधी सेहत के लिए सबसे जरूरी माना जाता है। बता दें कि कान छिदवाने से महिलों का मासिक धर्म सही और हेल्दी बना रहता है। 

2.ब्रेन का हेल्दी विकास

यदि किसी छोटी बच्ची के कान में छेद करवा दिया जाए तो ऐसे में उस उसके ब्रेन का विकास सही तरीके से होता है। ईयर लोब्स यानी कान के बाहर के हिस्से में मध्याह् पॉइंट होता है जो दिमाग के लेफ्ट हेमिस्फियर को राइट हेमिस्फियर से जोडऩे में सहायता करता है। कान में छेद कराने से ब्रेन के ये हिस्से ऐक्टिवेट हो जाते हैं। वहीं ऐक्युप्रेशर थेरपी का सिद्घांत भी यही कहता है कि जब इस मेरिडियन पॉइंट का उत्तेजित किया जाता है तो ब्रेन का सही तरह से हेल्दी विकास होना शुरू हो जाता है। 

3.आंखों की रोशनी बेहतर होना

क्या आप जानते हैं कि कान के सेंटर पॉइंट पर ही आंखों की रोशनी का सेंटर निर्भर करता है। यही वजह है कि इन पॉइंट्स पर छेद करवाने के बाद पडऩे वाले प्रेशर के कारण से आइसाइट यानी आंखों की रोशनी अच्छी होती है। 

4.सुनने की क्षमता मजबूत

ऐसा कहा जाता है कि कान में जिस जगह छेद करवाया जाता है वो सबसे अहम ऐक्युप्रेशर पॉइंट होता है,जो बच्चे के सुनने की क्षमता को सबसे अच्छे तरीके से मेनटेन करता है। वहीं एक्युप्रेशर एक्सपट्र्स की सलाह मानें तो कान में होने वाली झनझनाहट जैसी परेशानियों से राहत दिलाने में अहम रोल निभाता है कान में छेद वाला स्पॉट। 

5.तनाव और घबराहट में भी राहत

कान छिदवाने से ब्रेन तो हेल्दी होता है। इसके साथ ही कान छिदवाने से मिर्गी जैसी परेशानियों को भी रोकने में सहायता मिलती है।

 ऐक्युप्रेशर एक्सपर्ट की मानें तो यह हिस्सा ब्रेन के मास्टर सेरेब्रल का हिस्सा भी होता है जो ब्रेन के ज्यादातर फंक्शन्स की जिम्मेदारी लेता है। ऐसे में इस तरह के पॉइंट पर छेद करवाने से तनाव और घबराहट जैसी समस्याएं दूर होती हैं।