BREAKING NEWS

राज्यपाल से मुलाकात के बाद बोले गहलोत- कुछ लोग 'आ बैल मुझे मार' रवैये के साथ कर रहे थे काम◾सचिन पायलट की अध्यक्ष पद से बर्खास्ती के बाद गोविंद सिंह डोटासरा को सौंपा गया कार्यभार◾कांग्रेस के एक्शन के बाद सचिन पायलट ने किया ट्वीट- सत्य को परेशान किया जा सकता है, पराजित नहीं ◾पूर्वी लद्दाख विवाद : भारत और चीन ने पैंगोग झील, देपसांग से सैनिकों को हटाने पर की वार्ता ◾कांग्रेस का सचिन पायलट पर बड़ा एक्शन, प्रदेश अध्यक्ष पद और उपमुख्यमंत्री के पद से किया बर्खास्त◾राजस्थान के मौजूदा संकट के लिए उमा भारती ने कांग्रेस और राहुल को बताया जिम्मेदार◾केजरीवाल ने प्लाज्मा बैंक का किया उद्धाटन, बोले- दिल्ली में कोरोना पीड़ित जरूरतमंदों को प्लाज्मा मिला ◾CBSE 10वीं का रिजल्ट कल होगा जारी, HRD मंत्री पोखरियाल ने की घोषणा ◾अमेरिका ने दक्षिण चीन सागर पर चीन के दावे को किया खारिज, कही ये बात◾पायलट का गहलोत के खिलाफ बगावती सुर बरकरार, मनाने में जुटा कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व◾कानपुर मुठभेड़ : एक और आरोपी शशिकांत गिरफ्तार, पुलिस को विकास दुबे के घर पर मिली AK-47◾भगवान राम को नेपाली बताने वाले बयान पर भड़के सिंघवी, बोले-ओली का बिगड़ गया है मानसिक संतुलन◾देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 9 लाख के पार, अब तक 24 हजार के करीब लोगों ने गंवाई जान ◾दुनियाभर में कोरोना का कहर, वैश्विक महामारी से संक्रमितों की संख्या 1 करोड़ 30 लाख से अधिक हुई ◾राहुल ने किया ट्वीट- इस हफ्ते हमारे देश में आंकड़ा 10,00,000 पार कर जाएगा◾आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में फार्मा कारखाने में लगी आग, एक घायल ◾राजस्थान : कांग्रेस विधायक दल की दूसरी बैठक आज, सचिन पायलट नहीं होंगे शामिल ◾पूर्वी लद्दाख विवाद : भारत और चीन के सैन्य कमांडरों के बीच आज होगी उच्च स्तरीय वार्ता ◾नेपाल के पीएम ओली का बेतुका बयान, कहा - भगवान राम नेपाली है और भारत की अयोध्या है नकली◾दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 1.13 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 1,246 नए केस◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

जानिए वजन कम करने के लिए एक दिन में कितनी रोटी खानी चाहिए

वैसे कुछ भी हो मगर भारतीय खाना रोटी के बिना बिल्कुल अधूरा है। यह भी एक कारण है कि सब्जी बेशक कोई भी क्यों न बनी हो लेकिन उसके साथ जब तक रोटी न हो तो खाना का अधूरा सा लगता है। हर एक व्यक्ति की रोटी खाने की क्षमता अलग-अलग होती है,लेकिन अगर आप भी वेट लॉस करने की सोच रहे हैं तो उस स्थिति में आपको कितनी रोटी का सेवन करना  चाहिए आज हम आपको इसके बारे में विस्तारपूर्वक बताएंगे।

1.एक रोटी से यह आहार मिलता है 

गेंहू के आटे से बनी रोटी मैक्रो-नूट्रीएन्ट रिच होती है। इसमें प्रोटीन और फाइबर की भी काफी अच्छी मात्रा पाई जाती है। यदि मनुष्य 1 रोटी 6 इंच की खाता है तो उसके शरीर को इससे करीब 15 ग्राम काब्र्स,3 ग्राम प्रोटीन और 0.4 फाइबर मिलता है। 

2.इतनी रोटी है जरूरी

कितनी रोटी का सेवन करना चाहिए इस बात का काफी हद तक इस बात पर निर्भर करता है कि आपके शरीर को कितने काब्र्स की जरूरत है। दूध,सोडा,चीनी,ऑइल जैसी चीजों से भी काब्र्स शरीर में चले जाते हैं। ऐसे में यदि आपकी डाइट में इन सभी चीजों की मात्रा अधिक है तो ज्यादा अच्छा है कि रोटी का इनटेक कम रखें। 

3.करना हो वेट लॉस 

यदि आप भी वजन कम करना चाहते हैं तो इसके लिए आप कितनी रोटी का सेवन करें यह जानना सबसे ज्यादा जरूरी है। क्योंकि रोटी की मात्रा महिलाओं और पुरुषों दोनों के लिए अलग-अलग होती है। 

ऐसी महिलाएं जिनका डाइट प्लान दिन में 1400 कैलरीज लेने का है उन्हें दो रोटी दोपहर के समय और दो रोटी रात के समय खानी चाहिए। वहीं अगर पुरुषों का डाइट प्लान 1700 कैलरीज का है तो उन्हें अपने लंच और डिनर में तीन रोटी का सेवन करना चाहिए। 

4.भोजन करना कब सही 

वैसे तो रोटी को लंच या डिनर में कभी भी खाया जा सकता है लेकिन एक्सपर्ट की मानें तो रोटी का सेवन दिन के समय करना सबसे अच्छा होता है। दरअसल रोटी में पाए जाने वाला फाइबर इसके पचने के प्रोसेस को धीरे कर देता है। 

रात के समय रोटी खाने पर सोने के बाद इसको पचने की क्रिया चलती रहती है जो बॉडी के लिए ठीक नहीं मानी जाती है। वहीं रोटी अगर दिन के समय खाई जाए तो पूरे दिनभर एक्टिविटी की वजह से यह आसानी से पच जाती है। 

5.चावल से अच्छी है रोटी


रोटी चावल से अच्छा विकल्प है। दरअसल रोटी का ग्लाइसेमिक इंडेक्स ज्यादा होता है जिससे की पेट ज्यादा देर तक भरा हुआ रहता है और पाचन क्रिया के वक्त ब्लड शुगर लेवल भी आराम-आराम से प्रभावित होता है।

वहीं चावल का ग्लाइसेमिक इंडेक्स ज्यादा होता है जिस वजह से यह जल्दी से पच जाता है जो लब्ड शुगर लेवल को तेजी से इफेक्ट करता है। कहीं न कहीं यही स्थिति डायबीटीज के पेशेंट्स के लिए हानिकारक सिद्ध हो सकती है।