BREAKING NEWS

अभिनेता संजय दत्त की तबीयत अचानक बिगड़ी, मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती ◾केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल कोरोना पॉजिटिव पाए गए, एम्स के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती ◾गृह मंत्री अमित शाह ने की प्रधानमंत्री के ‘गंदगी भारत छोड़ो’ अभियान से जुड़ने की अपील ◾मोदी सरकार पर राहुल गांधी का हमला, बोले- जब-जब देश भावुक हुआ है, फाइलें गायब हुईं हैं◾पीएम मोदी के नए नारे पर राहुल का तंज: ‘असत्य की गंदगी’ भी साफ करनी है ◾राजस्थान का सियासी रण फिर गरमाया, दिल्ली में वसुंधरा ने डाला डेरा, नड्डा और राजनाथ से की मुलाकात◾पीएम मोदी ने दिया नया नारा - ‘देश को कमजोर बनाने वाली बुराइयां भारत छोड़ें, गंदगी भारत छोड़ो’◾4,000 टन ईंधन लदे जहाज में दरारे पड़ने से रिसाव, मॉरीशस की 13 लाख की आबादी पर मंडराया खतरा ◾दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 1.44 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 1,404 नए केस◾पीएम मोदी ने दिल्ली में राष्ट्रीय स्वच्छता केंद्र का उद्घाटन किया ◾भारतीय वायुसेना के पूर्व विंग कमांडर थे दुर्घटनाग्रस्त एयर एशिया एक्सप्रेस के विमान के पायलट कैप्टेन साठे◾कोझिकोड विमान हादसा : जान गंवाने वाला एक यात्री निकला कोरोना वायरस पॉजिटिव ◾केरल विमान हादसा : राज्य सरकार ने मृतकों के परिजन के लिए दस लाख रुपये मुआवजे का किया ऐलान◾DGCA ने जुलाई 2019 में सुरक्षा संबंधी त्रुटियों को लेकर कोझिकोड हवाईअड्डे को दिया था नोटिस◾भारत और चीन के बीच मेजर जनरल लेवल की बैठक जारी, देपसांग से सैनिकों को हटाने के बारे में होगी चर्चा ◾World Corona : विश्व में महामारी का कहर तेज, संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 94 लाख के करीब◾कोरोना वायरस : पिछले 24 घंटे में 61 हजार 537 नए मामलों की पुष्टि, 933 लोगों ने गंवाई जान ◾केरल विमान हादसा : एअर इंडिया एक्सप्रेस का एलान- कोझिकोड तक तीन राहत उड़ानों का किया गया प्रबंध ◾LAC के पास सेना और वायुसेना को उच्च स्तर की सतर्कता बरतने के दिए गए निर्देश◾चीनी अतिक्रमण का उल्लेख करने वाली रिपोर्ट से धूमिल हुई रक्षा मंत्री की छवि : कांग्रेस ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

सीक्रेट सेंटा कौन है? यहां जानें क्रिसमस के बारे में कुछ दिलचस्प बातें

साल के आखिरी महीने यानी दिसम्बर से ही जिंगल बेल जिंगल बेल की धुन सुनाई देने लगी है। इतना ही नहीं छोटे बच्चों को इस दिन का सबसे ज्यादा इंतजार है क्योंकि सेंटा क्रिसमस के दिन उनके लिए बेहद प्यारे-प्यारे तोहफे लेकर आएगा। तो आइए आज हम आपको क्रिसमस से पहले इस त्योहार से जुड़ी कुछ मुख्य बातें बताने वाले हैं। 

पहला क्रिसमस कब मना

रोम में 336 ई. पूव में पहली बार 25 दिसंबर के दिन क्रिसमस मनाया गया था। इसके कुछ सालों बाद पोप जुलियस ने ऑफिशियली जीसस क्राइस्ट का जन्मदिवस 25 दिसंबर के दिन मनाने का ऐलान कर दिया था। 

क्रिसमस क्यों मनाया जाता है?


बता दें कि क्रिसमस का त्योहार जीजस क्रिस्ट के जन्म की खुशी के रूप में मनाया जाता है। ईसाईयों के पवित्र ग्रंथ बाइबल में जीसस क्राइस्ट के जन्म की तारीख का कोई जिक्र नहीं किया गया है,लेकिन बावजूद इसके हर साल यह त्योहार 25 दिसंबर के दिन उनके जन्मदिन को क्रिसमस के रूप में मनाया जाता है। 

कैसे हुई क्रिसमस ट्री की शुरूआत


यूरोप में हजारों साल पहले क्रिसमस ट्री की शुरूआत हुई थी। उस समय पेड़ को सजाकर क्रिसमस का त्योहार मनाया जाता था। लेकिन अब आसानी से क्रिसमस ट्री मिल जाती है। वहीं हर कोर्ई व्यक्ति चॉकलेट्स,खिलौनों,लाइट्स और तहफों से क्रिसमस ट्री की सजावट करता है। 

क्रिसमस का त्योहार कैसे मनाया जाता है क्रिश्चन देशों में

क्रिश्चन देशों में क्रिसमस का त्योहार काफी ज्याद धूमधाम से मनाया जाता है। क्रिसमस से पहले ही स्कूलों कॉलेज और ऑफिस की छुट्टियां हो जाती है। घरों से लेकर सड़कें भी सजा दी जाती है। 

पहले 24 दिसंबर के दिन ईस्टर ईव मनाया जाता है और 25 दिसंबर के दिन पार्टी का आयोजन किया जाता है जो करीब 12 दिनों तक चलता है। 

क्रिसमस पर गिफ्ट देने के पीछे की कहानी

असली सैंटा संत निकोलस को माना जाता है। संत निकोलस का जन्म प्रभु इशु की मौत के  280 साल बाद मायरा में हुआ था। इसी वजह से संत निकोलस बचपन में ही अनाथ हो गए थे जिस वजह से उनकी प्रभु यीशु में गहरी आस्था थी। 

संत निकोलस बड़े होकर ईसाई धर्म के पादरी फिर बाद में बिशप बन गए। उन्हें बच्चों और जरूरतमंद लोगों को तोहफा देना बहुत पसंद था।

 जब भी संत निकोलस किसी को गिफ्ट देते थे तो वह आधी रात को ही देते थे क्योंकि उपहार देते हुए नजर आना निकोलस को पसंद नहीं था साथ ही वह अपनी पहचान किसी के आगे जाहिर नहीं करना चाहते थे।