BREAKING NEWS

प्रमोशन में भगवान पर बयान देकर फंसी श्वेता, नरोत्तम मिश्रा ने दिए जांच के निर्देश, जानें क्या है पूरा मामला ◾दिल्ली : गैंगरेप के बाद महिला के साथ अभद्रता, काटे बाल, चेहरा काला कर इलाके में घुमाया◾UP चुनाव: प्रचार अभियान में कांग्रेस को क्यों होगी बुलेट प्रूफ जैकेट की जरूरत? मदद के लिए उन्नाव भेजी टीम ◾राहुल ने ट्विटर के CEO को लिखा पत्र, कहा- सरकार के दबाव में कार्य कर रही कंपनी, फॉलोअर्स किए कम ◾'टीपू सुल्तान स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स' को लेकर विवाद, राउत बोले-नया इतिहास मत लिखो◾उत्तराखंड चुनाव से पूर्व कांग्रेस को एक और बड़ा झटका! BJP में शामिल हुए पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ◾Today's Corona Update : नए मरीजों की संख्या से ज्यादा रिकवरी रेट, एक्टिव केस में भी दर्ज हुई गिरावट◾World Corona Update : नहीं थम रहा कोरोना संक्रमण का कहर, वैश्विक स्तर पर 36.18 करोड़ हुआ आंकड़ा ◾पंजाब चुनाव : राहुल प्रचार अभियान का फूंकने बिगुल, 117 उम्मीदवारों संग स्वर्ण मंदिर में टेकेंगे मत्था ◾UP विधानसभा चुनाव : प्रचार के लिए आज मैदान में उतरेंगे BJP के दिग्गज, घर-घर देंगे दस्तक◾उत्तराखंड : कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय थाम सकते हैं BJP का दामन◾UP चुनाव : CM योगी आदित्यनाथ बृहस्पतिवार को बिजनौर में करेंगे जनसंपर्क◾उप्र चुनाव के लिए कांग्रेस ने तीसरी सूची में 89 और उम्मीदवार घोषित किए, महिलाओं को 40 प्रतिशत टिकट◾गृह मंत्री अमित शाह ने की पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जाट नेताओं के साथ बैठक, ये है भाजपा का प्लान ◾उम्मीदवारों के प्रदर्शन पर रेल मंत्री बोले : ‘अपनी संपत्ति’ को नष्ट न करें, शिकायतों का करेंगे समाधान ◾गोवा चुनाव 2022: BJP ने जारी की उम्मीदवारों की दूसरी सूची, जानें किसे कहा से मिला टिकट◾बिहार: गया में नाराज छात्रों ने ट्रेन की बोगी में लगाई आग, श्रमजीवी एक्सप्रेस पर किया पथराव◾गणतंत्र दिवस 2022: अग्रिम मोर्चे के कर्मी, मजदूर और ऑटो ड्राइवर बने स्पेशल गेस्ट, मिला बड़ा सम्मान◾गणतंत्र दिवस परेड: राजपथ पर 75 विमानों का शानदार फ्लाईपास्ट, वायुसेना की शक्ति देख दर्शक हुए दंग ◾गणतंत्र दिवस 2022: परेड में वायुसेना की झांकी का हिस्सा बनीं देश की पहली महिला राफेल विमान पायलट◾

इन नियमों का खास ध्यान साईं भगवान की पूजा करते समय जरूर रखें, कल्याण होगा

साईं बाबा की पूजा का दिन गुरुवार को माना गया है। सरल,सादगी और पवित्रता के साथ साईं बाबा की पूजा की जाती है। ऐसा कहा जाता है कि पूजन सामग्री ही भगवान की पूजा में पवित्र होना जरूरी नहीं होता इसके अलावा व्यक्ति का तन और मन भी शुद्ध होना बहुत जरूरी होता है। 

साईं बाबा की पूजा के दौरान व्यक्ति के मन और मस्तिषक की सोच को पवित्र और निर्मल बनाने में ज्यादा ध्यान देते हैं। ऐसी करने के बाद ही भगवान की पूजा का फल मिलता है। शास्‍त्रों में साईं भगवान की पूजा के दौरान सरल नियम बताए गए हैं लेकिन पालन करना इन नियमों का वह मुश्किल हो जाता है। चलिए आपको साईं बाबा की पूजा के खास नियमों के बारे में आज हम आपको बताते हैं। 

इन नियमों का पालन गुरुवार की साईं पूजा में जरूर पालन करें-

1. व्यक्ति को सच्चे मन और निर्मलता के साथ साईं की पूजा और व्रत का पालन करना चाहिए। अगर आपके मन में भ्रम हो या व्रत या पूजा आप किसी के कहने भर पर ना करें, जब तक आपके मन में साईं बाबा के लिए श्रद्धा न हो तब तक व्रत या पूजा न करें। 

2.साईं भक्तों का मन शांत और दूसरों से बैर लेने से मुक्त होना चाहिए। कभी भी साईं बाबा की पूजा किसी भी अप्रिय मनोकामना को लेकर न करें।

3. कोई भी कभी भी साईं बाबा का व्रत कर सकते हैं। स्‍त्री-पुरुष बच्चे भी साईं का व्रत और पूजा कर सकते हैं। 

4. अगर आप साईं बाबा के व्रत रखते हैं तो लगभग 5,7,11 या 21 गुरुवार जरूर रखें।

5.भूखा रहना साईं बाबा के व्रत में मना होता है। फलहार खाना उनके व्रत में जरूरी है। मीठा, नमकीन कैसा भी हो फलाहार खा सकते हैं। विशेष प्रसाद भगवान का खिचड़ी होता है। 

6. ऐसा जरूरी नहीं होता कि गुरुवार के दिन व्रत रखने के बाद मंदिर जाना जरूरी है आप साईं बाबा का ध्यान अपने घर पर करके व्रत रख सकते हैं। 

7.साईं बाबा की प्रतिमा या चित्र के समक्ष धूप या अगरबत्तरी दिखा कर किसी भी गुरुवार के व्रत को शुरु किया जा सकता है।

8.साईं बाबा के सामने अपनी मनोकामना जरूर रखें और अपने व्रत का प्रयोजन भी बताएं।

9. अगर आप किसी भी गुरुवार के दिन कहीं बाहर गए हैं या घर पर नहीं है तो उस दिन आप व्रत न रखें। आप व्रत को दोबारा से अगले गुरुवार प्रारंभ कर दें।

10. अगर किसी भी गुरुवार को आप व्रत कोई भी वजह से नहीं रख पाते हैं तो अगले गुुरुवार के व्रत से आप गिनती अपने व्रत की शुरु कर दें। मतलब कि जहां से व्रत का क्रम छूटा उसे वहीं से जोड़ दें।

11. आपकी मनोकामना पूर्ण हो जाए तो गुरुवार के दिन अपने व्रत का समापन करने और विधिवत उद्यापन करें। उद्यापन वाले दिन गरीबों को भोजन कराएं और पशु-पक्षियों को दाना जरूर खिलाएं।

इन 15 मनोकामना की पूर्ति के लिए किया जाता है साईं बाबा का व्रत


पुत्र प्राप्ति,कार्य सिद्धि,वर प्राप्ति ,वधू प्राप्ति ,खोया धन मिले, जमीन-जायदाद मिले, धन मिले, साईं दर्शन, शांति, शत्रु शांत हों, व्यापार में वृद्धि, परीक्षा में सफलता, निसंतान को भी संतान प्राप्ति, रोग निवारण, कार्य सिद्धि एवं मनोकामना पूर्ति इत्यादि लाभ होते हैं।