आजकल कम उम्र में शादी करने वाले युवाओं की संख्या लगातार कम होती जा रही है। हर युवा चाहे वो लड़की हो या फिर लड़का यही चाहता है की पहले वो सेटल हो जाए उसके बाद ही शादी के बारे में सोचेगा। आज की महंगाई के दौर में अपना खर्चा निकलना ही बड़ा मुश्किल काम हो चला है इसके ऊपर अगर परिवार की जिम्मेदारी भी आ जाए तो मुश्किलें कड़ी हो ही जाती है।

30 साल की उम्र तक कर लें शादी

ऐसे में अधिकतर युवा 30 साल की उम्र हो जाने के बाद भी अपने लिए जीवन साथी नहीं ढूंढ पाते। शोध के मुताबिक ऐसा भी माना गया है की 30 साल की उम्र के बाद युवाओं के शादी को लेकर भी रुझान बदलने लगते है। आज हम ऐसे ही कुछ प्रभावों के बारे में बता रहे है जो 30 की उम्र के बाद लोगों में देखे गए है और जानिये की उम्र बढ़ने के साथ साथ शादी को लेकर क्या सोचती है आजकल की पीढ़ी।

30 साल की उम्र तक कर लें शादी

1. 30 साल तक यदि इंसान को सिंगल रहने की आदत पड़ जाती है तो उसे नॉर्मल लाइफस्टाइल काफी उबाऊ लगने लगती है साथ ही अपने साथियों की मैरिड लाइफ की प्रॉब्लम्स को देखकर उनका शादी के प्रति मन खराब हो जाता है।

30 साल की उम्र तक कर लें शादी

2: सिंगल रहने के दौरान कोई बंदिशें नहीं होती और रिश्ता बनने पर कुछ लिमिटेशंस भी आती हैं। ऐसे में यदि कोई व्यक्ति 30 साल तक इस तरह की किसी भी लिमिटेशंस के बिना जी लेता है तो फिर वो एकदम से इन लिमिटेशंस के लिए खुद को तैयार नहीं कर पाता। उसके मन में डाउट होता है।

30 साल की उम्र तक कर लें शादी

3. शादी होने के साथ जहाँ एक तरफ जिंदगी में खुशियाँ आती है वहीँ जिम्मेदारी ,स्ट्रेस, बर्डन और अप्स-डाउन्स भी आते हैं। लम्बे समय तक सिंगल रहने के बाद लोग इन सब चीजों को सहजता से नहीं स्वीकार पाते।

30 साल की उम्र तक कर लें शादी

4: जब तक इंसान सिंगल होता है उसे कोई भी फैसला लेते वक्त ज्यादा सोचना नहीं पड़ता और लाइफ काफी फ्लेक्सिबल होती है। शादी के बाद यूज़ लगता है की वो कोई भी फैसला लेगा तो उसके पार्टनर के बारे में भी सोचना पड़ेगा। ये चीजें भी काफी परेशान करती है।

30 साल की उम्र तक कर लें शादी

5: यदि आप सिंगल रहते हैं तो आप पैशन को ज्यादा अच्छे से फॉलो कर पाते हैं। ज्यादा फोकस्ड होते हैं।

दुनिया की 5 सबसे आलिशान शादियाँ जिसमे खर्च की गयी बेशुमार दौलत