BREAKING NEWS

मतभेदों को सुलझाने के लिए कमलनाथ और सिंधिया इस हफ्ते कर सकते है मुलाकात◾अमेरिका राष्ट्रपति की अहमदाबाद यात्रा से पहले AIMC ने जारी किये ‘नमस्ते ट्रंप’ वाले पोस्टर ◾इस साल राज्यसभा में विपक्षी ताकत होगी कम ◾23 फरवरी से 23 मार्च तक उनका दल चलाएगा देशव्यापी अभियान - गोपाल राय◾पश्चिम बंगाल में निर्माणाधीन पुल का गर्डर ढहने से दो की मौत, सात जख्मी ◾कच्चे तेल पर कोरोना वायरस का असर, और घट सकते हैं पेट्रोल-डीजल के दाम◾बाबूलाल मरांडी सोमवार को BJP होंगे शामिल, कई वरिष्ठ भाजपा नेता समारोह में हो सकते हैं उपस्थित◾लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर भीषण हादसा , ट्रक और वैन में टक्कर के बाद लगी आग , 7 लोग जिंदा जले◾वित्त मंत्रालय ने व्यापार पर कोरोना वायरस के असर के आकलन के लिये मंगलवार को बुलायी बैठक ◾कोरोना वायरस मामले को लेकर भारतीय राजदूत ने कहा - चीन की हरसंभव मदद करेगा भारत◾NIA को मिली बड़ी कामयाबी : सीमा पार कारोबार के जरिए आतंकवाद के वित्तपोषण के मिले सबूत◾दिल्ली CM शपथ ग्रहण समारोह दिखे कई ‘‘लिटिल केजरीवाल’’◾TOP 20 NEWS 16 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾केजरीवाल के शपथ ग्रहण समारोह में समर्थकों ने कहा : देश की राजनीति में बदलाव का होना चाहिए◾PM मोदी ने काशी महाकाल एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखा कर रवाना, जानिये इस ट्रेन की खासियतें ◾PM मोदी ने वाराणसी में 'काशी एक रूप अनेक' कार्यक्रम का किया शुभारंभ◾CAA को लेकर प्रधानमंत्री का बड़ा बयान, बोले-दबावों के बावजूद हम कायम हैं और रहेंगे◾PM मोदी के काफिले को सपा कार्यकर्ता ने दिखाया काला झंडा◾प्रधानमंत्री मोदी ने वाराणसी में करीब 12 सौ करोड़ रुपये की 50 विभिन्न परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया◾केजरीवाल 3.0 - हरियाणा के हिसार से दिल्ली CM पद की हैट्रिक तक, कुछ ऐसा रहा ‘मफलरमैन’ का सफर ◾

शहीद का परिवार पिछले 27 सालों से रह रहा था झोपड़ी में,युवाओं ने तोहफे में दिया खूबसूरत घर

मध्यप्रदेश के पीर पीपलिया के हवलदार मोहन सिंह सुनेर बीएसएफ का हिस्सा थे। वह त्रिपुरा में आतंकियों से लड़ते हुए शहीद हो गए थे। लेकिन शहीद जवान के निधन होने के करीब 27 साल बाद तक भी उनका परिवार झोपड़ी में रह कर अपनी जिंदगी गुजार रहा था। 

वहीं सरकार ने भी शहीद के परिवार की कोई सुध नहीं ली। लेकिन गांव के कुछ युवाओं ने इस परिवार के लिए कुछ ऐसा कर दिखाया जो वाकई में काबिले तारीफ  है। जी हां गांव के कुछ युवाओं ने 11 लाख रुपए जोड़कर और शहीद की विधवा राजू बाई को स्वतंत्रता दिवस के खास अवसर पर एक बेहद आलीशान घर तोहफे में दिया है। जिसकी खूब प्रशंसा हो रही है। 

इस तरह से करवाया गृह प्रवेश

अगर बात सबसे शानदार पल की करी जाए तो वह कुछ और नहीं बल्कि गृह प्रवेश का मौका था। इसके लिए पहले सभी युवाओं ने उनसे राखी बंधवाई। जिसके बाद सभी युवाओं ने अपनी हथेलियां जमीन पर बिछा दी,जिसपर चलकर उन्होंने अपने नए घर में प्रवेश किया। मोहन सिंह का परिवार मजदूरी करके अपना पेट भर रहा था,क्योंकि मात्र 7000 रुपए में घर चला पाना बेहद मुश्किल काम है। 

शहीद की प्रतिमा बनाई 

मिली रिपोर्ट के अनुसार शहीद के इस परिवार को किसी तरह की कोई भी सरकारी योजना का लाभ नहीं मिला है। शहीद के परिवार की नाजुक हालत देखकर गांव के कुछ युवाओं ने वन चेक-वन साइन नाम से एक अभियान चालू किया। अभियान से जुड़े विशाल राठी ने जानकारी साझा करते हुए कहा कि 11 लाख रुपए इकट्ठा हुए थे,जिनमें से 10 लाख रुपए का घर तैयार करवाया गया है। 

वहीं जो बाकी के 1 लाख रुपए बच गए थे उसमें शहीद मोहन सिंह की प्रतिमा तैैयार करवाई गई,जिसे पीर पीपल्या मुख्य मार्ग पर स्थापित करवाया जाएगा। मोहन सिंह 31 दिसंबर 1992 में शहीद हुए थे। अब ये सभी युवा चाहते हैं कि जिस सरकारी स्कूल में शहीद मोहन सिंह ने पढ़ाई की है उसका नाम भी उनके नाम पर ही रखा जाए।