भारतीय रेल नेटवर्क दुनिया के सबसे बड़े रेल नेटवर्क्स में एक है और प्रतिदिन भारतीय रेल में लगभग 23 करोड़ यात्री सफर करते है। ये आबादी ऑस्ट्रेलिया जैसे देश की आबादी से भी अधिक है। साथ ही भारतीय रेल से जुड़े कई रोचक तथ्य है जो बेहद मजेदार है।

नवापुर रेलवे स्टेशन

भारत के गुजरात-महाराष्ट्र की सीमा को छूता हुआ एक रेलवे स्टेशन ऐसा भी है, जिसके रेलवे स्टेशन का आधा भाग महाराष्ट्र और आधा भाग गुजरात में है। इस स्टेशन पर एक बेंच ऐसी भी रखी हुयी है, जिसका आधा भाग महाराष्ट्र और आधा भाग गुजरात में आता है।

नवापुर रेलवे स्टेशन

ट्रेन आने पर उसका एक हिस्सा महाराष्ट्र और दूसरा हिस्सा गुजरात में होता है। इस रेलवे स्टेशन पर टिकट खिड़की महाराष्ट्र में है तो वही स्टेशन मास्टर गुजरात में बैठते हैं। इस स्टेशन के दो राज्यों में स्थित होने के कारण यहा चार भाषाओं में ट्रेनों का एनाउंसमेँट किया जाता है।

नवापुर रेलवे स्टेशन

इस रेलवे स्टेशन में हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती और मराठी में एनाउंसमेंट होता है। सूचनाएं भी 4 भाषाओं में लिखी जाती है। इसके अलावा मोबाइल रोमिंग की समस्या भी अक्सर बनी रहती है

नवापुर रेलवे स्टेशन

नवापुर रेलवे स्टेशन की कुल लम्बाई 800 मीटर है जिसमे महाराष्ट्र में 300 मीटर और गुजरात में 500 मीटर भाग आता है। इस रेलवे स्टेशन पर नवापुर रेल्वे पुलिस स्टेशन, कैटरिंग, टिकट विंडो, महाराष्ट्र राज्य में आते हैं तो वही स्टेशन मास्टर कार्यालय, वेटिंग रूम, पानी की टंकी और शौचालय गुजरात राज्य में आते हैं।

नवापुर रेलवे स्टेशन

इसके अलावा इस स्टेशन पर एक और मजेदार बात देखने को मिलती है। गुजरात में शराब की बिक्री पर रोक है, तो महाराष्ट्र में पानमसाला और गुटखा पर।

नवापुर रेलवे स्टेशन

यहां गुजरात वाले भाग में गुटखे की बिक्री करें तो अपराध नहीं बनता, पर यदि बेचते-बेचते आप महाराष्ट्र की सीमा पर चले गए, तो अपराधी हो जाते हैं। इसी तरह महाराष्ट्र में शराब और बीयर की बिक्री की जा सकती है, पर गुजरात वाले भाग पर ऐसा करने पर आप अपराधी हो जाते हैं।

नवापुर रेलवे स्टेशन

इस रेलवे स्टेशन से रोजाना करीब 200 ट्रेनें गुजरती हैं जबकि करीब 20 ट्रेनों का यहाँ स्टॉपेज भी है। स्वच्छता के लिए भी इस रेलवे स्टेशन को कई बार इनाम मिला चुका है।

कलावंती दुर्ग : भारत का सबसे खतरनाक किला, जहाँ एक चूक बन सकती है जानलेवा